ताज़ा खबर
 

हत्या के आरोपी सुशील कुमार को खानी होगी जेल की रोटी, नहीं मिलेगा प्रोटीन शेक और स्पेशल डाइट, कोर्ट ने खारिज की याचिका

सुशील कुमार ने कोर्ट में याचिका दाखिल कर स्पेशल डाइट और प्रोटीन शेक समेत अन्य सप्लीमेंट लेने की मांग की थी। सुशील कुमार की इस याचिका पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने उसकी मांगों खारिज कर दिया है।

ओलंपिक में दो बार पदक विजेता सुशील कुमार (एक्सप्रेस आर्काइव फोटो)

साथी पहलवान सागर धनखड़ की हत्या के आरोप में जेल में बंद सुशील कुमार की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। सुशील दिल्ली के मंडोली जेल में बंद है और यहां का खाना उसे बिल्कुल पसंद नहीं आ रहा है। सुशील कुमार ने कोर्ट में याचिका दाखिल कर स्पेशल डाइट और प्रोटीन शेक समेत अन्य सप्लीमेंट लेने की मांग की थी। सुशील कुमार की इस याचिका पर सुनवाई के बाद कोर्ट ने उसकी मांगों खारिज कर दिया है। अब ऐसे में उसके पास जेल की रोटी खाने के अलावा कोई दूसरा ऑप्शन नहीं बचा है।

सुशील कुमार को जेल में काफी परेशानियों का सामना भी करना पड़ा रहा है। सुशील रोज़ाना सुबह उठकर वर्कआउट करता था, लेकिन जेल में उसे ऐसा कुछ करने को नहीं मिल रहा है। जेल में जिम का कोई सामान भी उपलब्ध नहीं है जिससे वर्कआउट किया जा सके। ऐसे में सुशील ने टेंपरेरी डंबल बनाए हैं। हिंदुस्तान में छपी एक रिपोर्ट के मुताबिक, सुशील कुमार ने पानी की बोतलों को भरकर उससे डंबल बना लिए थे।

दरअसल सुशील ने जेल वार्डर से दो पानी की बोतलें मांगी थीं। इसके बाद उसने उन बोतलों में पानी भर लिया था। पानी की बोतलों को उसने एक डंडे के दोनों तरफ बांध लिया था जिससे उसने डंबल बनाए थे। अब वह इन्हीं डंबल से वर्कआउट भी कर रहा है, लेकिन जेल का खाना तो सभी कैदियों के लिए एक जैसा होता है जिसे खाने में वह काफी नखरे भी दिखा रहा था। अब उसके ये नखरे ज्यादा दिनों तक नहीं चल पाएंगे क्योंकि उसे कोर्ट के आदेश का इंतजार था जो कोर्ट ने खारिज कर दिया है।

सुशील कुमार ने सागर धनखड़ के साथ दिल्ली के छत्रसाल स्टेडियम में मारपट की थी। इसका वीडियो भी दिल्ली पुलिस के हाथ लग चुका है। वीडियो में सुशील को साफ देखा जा सकता है। घायल अवस्था में सागर धनखड़ को अस्पताल ले जाया गया था जहां उसकी मौत हो गई थी। इसके अलावा दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच की टीम लगातार सबूत जुटाने का भी प्रयास कर रही है। सुशील के साथ कुख्यात गैंगस्टर काला जठेड़ी और नीरज बवाना के लोग भी नजर आए थे।

दिल्ली पुलिस को दिए अपने बयान में सुशील कुमार ने बताया था कि उसका उद्देश्य सागर के साथ मारपीट करके डराने का था, वह उसे मारना बिल्कुल नहीं चाहता था। सागर की मौत के बाद सुशील कुमार फरार हो गया था। जिसके बाद उसे दबिश के बाद पकड़ा गया था।

Next Stories
1 मेडिकल ऑफिसर की नौकरी छोड़कर गोपाल कृष्ण ने शुरू की थी UPSC की तैयारी, तीन असफलता के बाद भी नहीं मानी हार, आज हैं IAS अधिकारी
2 10 साल की बच्ची से सात लड़कों ने किया गैंगरेप, वीडियो भी किया वायरल; छह आरोपी 10-12 साल के
3 बिना कोचिंग IAS अधिकारी बने अक्षय अग्रवाल, पहले ही प्रयास में क्लियर किया UPSC एग्जाम, जानिए कैसे मिली कामयाबी
ये पढ़ा क्या?
X