ताज़ा खबर
 

टीचर पर रेप का आरोप लगाने वाली छात्रा को स्कूल से निकाला, मदद के लिए दर-दर भटकने के बाद परेशान मां ने SP Office में खाया जहर

जहर खाने के बाद महिला पुलिस अधीक्षक (एसपी) के कार्यालय और जिला आयुक्त के कार्यालय पहुंची। इसके बाद एसपी कार्यालय में कार्यरत कर्मचारियों द्वारा महिला को अस्पताल ले जाया गया।

Author भिवानी | Updated: August 24, 2019 5:49 PM
प्रतीकात्मक तस्वीर फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

हरियाणा के भिवानी में एक महिला ने बेटी के साथ रेप की शिकायत के बाद उसे निष्कासित किए जाने और फिर एडमिशन न दिए जाने के चलते जहर खा लिया। प्राप्त जानकारी के मुताबिक महिला की बेटी का एक शिक्षक ने यौन उत्पीड़न किया गया था और उसी के बारे में शिकायत करने के बाद स्कूल से उसे निष्कासित कर दिया गया था। जिले में अधिकारियों और नौकरशाहों से कोई मदद न मिल पाने पर निराश महिला ने जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) के कार्यालय में जहर खा लिया था। यह घटना गुरुवार (22 अगस्त) को हुई।

महिला ने जिला शिक्षा अधिकारी पर लगाया आरोपः जहर खाने के बाद महिला पुलिस अधीक्षक (एसपी) के कार्यालय और जिला आयुक्त के कार्यालय पहुंची। इसके बाद एसपी कार्यालय में कार्यरत कर्मचारियों द्वारा महिला को अस्पताल ले जाया गया। अस्पताल में महिला का इलाज किया गया और अब उसकी हालत पहले से बेहतर बताई जा रही है। महिला ने जिला शिक्षा अधिकारी (डीईओ) पर एक्शन न लेने का आरोप लगाया है।

क्या है मामलाः करीब दो महीने पहले 12वीं कक्षा की छात्रा ने आरोप लगाया था कि उसके शिक्षक ने उसका यौन उत्पीड़न किया था। छात्रा ने यह भी कहा कि शिक्षक उसके साथ फोन पर अनुचित बात करता था। शिक्षक के खिलाफ आरोपों के सामने आने के बाद स्कूल के हेडमास्टर ने आरोपी को बचाने की कोशिश की। इसके बाद आरोपी के खिलाफ महिला पुलिस स्टेशन में शिकायत दर्ज करवाई जिसके बाद उसे गिरफ्तार किया गया था। जांच के मुताबिक स्कूल का डायरेक्टर घटना में शामिल नहीं था। शिकायत दर्ज होने के बाद स्कूल के अधिकारियों ने शिकायतकर्ता के माता-पिता को भी निकाल दिया, जो उसी स्कूल में काम करते थे।

आरोप के मुताबिक स्कूल के डायरेक्टर ने यह कहते हुए छात्रा को निष्कासित कर दिया कि अगर वह वहां पढ़ती रही तो इससे स्कूल का माहौल प्रभावित होगा। यही नहीं कक्षा 4 में पढ़ने वाले शिकायतकर्ता के भाई को भी इन्हीं कारणों का हवाला देते हुए स्कूल से निकाल दिया गया था।शिकायतकर्ता के माता-पिता ने कहा कि उन्होंने राजनेताओं और नौकरशाहों से संपर्क किया था, लेकिन उन्होंने कुछ नहीं किया। अपनी बेटी को न्याय दिलाने की कोशिश में माता-पिता शिक्षा अधिकारी के घर गए। इस दौरान अधिकारी वादा करते रहे कि वे सख्त कार्रवाई करेंगे, लेकिन शिकायतकर्ता और उसके परिवार की मदद के लिए कुछ नहीं किया गया।

Weather Forecast for States Today Live Updates: मौसम से जुड़ीं खबरों के लिए यहां क्लिक करें

सीडब्ल्यूसी के निर्देशों के बावजूद नहीं प्रवेशः महिला द्वारा जहर खाने के बाद पुलिस हरकत में आई और उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। जांच के दौरान पता चला कि बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) ने स्कूल को शिकायतकर्ता को प्रवेश देने का निर्देश दिया था। सीडब्ल्यूसी के एक सदस्य और जिला शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने स्कूल का दौरा भी किया था। इसके बावजूद स्कूल ने छात्रा को प्रवेश देने से इनकार कर दिया। इस मामले में शिक्षा अधिकारी ने आश्वासन दिया है कि घटना के संबंध में आवश्यक कार्रवाई की जाएगी।

National Hindi News, 24 August 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 थाने में युवक से मारपीट करने के मामले में कई और पुलिसकर्मियों पर हो सकती है कार्रवाई
2 ‘जादू-टोना, ब्लैक मैजिक कर परिवार को यातना दे रही है’, एक्टर करण ओबेरॉय की पूर्व प्रेमिका पर लगा आरोप
3 महाराष्ट्र: खाना खिलाकर डॉगी को फुसलाया, फिर बनाया हवस का शिकार, ओरल सेक्स की भी कोशिश