ताज़ा खबर
 

जयंत चौधरी और सपा नेताओं पर लाठी चार्ज के बाद आए थे सुर्खियों में, जानिए कौन हैं IPS विनीत जायसवाल

यह वहीं आईपीएस अफसर हैं जिन्होंने उत्तर प्रदेश में होम गार्ड सैलरी स्कैम की जांच की थी। इस स्कैम के खुलासे के बाद होमगार्ड के 5 जवानों को गिरफ्तार भी किया गया था।

crime, crime newsIPS विनीत जायसवाल। फोटो सोर्स – फेसबुक, @Vineet jaiswal ips

आज बात एक ऐसे आईपीएस अफसर की जिनके बारे में कहा जाता है कि वो कानून-व्यवस्था संभालने को लेकर काफी सक्रिय रहते हैं। साल 2014 बैच के आईपीएस अधिकारी विनीत जायसवाल के बारे में बताया जाता है कि वो पुलिस सेवा में आने से पहले इन्फोसिस कंपनी में जॉब कर चुके हैं। नोएडा के जेएसएस कॉलेज से कम्प्यूटर साइंस में बी टेक करने वाले विनीत जायसवाल ने इंफोसिस में कम्प्यूटर साइंस के बैचलर टेक्नीशियन के रूप में ज्वाइन किया था।

विनीत जायसवाल सिविल सर्विल ज्वायन करना चाहते थे। हालांकि पहली बार में उन्हें सफलता हाथ नहीं लगी थी। साल 2011 में उन्होंने इस परीक्षा की तैयारी शुरू की थी लेकिन तीसरे प्रयास में साल 2013 में उन्होंने यह परीक्षा पास की थी। विनीत जायसवाल के पिता राधेश्याम जायसवाल जेल अधीक्षक रहे हैं। विनीत के जीवन पर उनके पिता का काफी असर रहा है। विनीत जायसावल ने एक बार अपने एक इंटरव्यू में कहा था कि ‘पुलिस सर्विस भी एक मैनेजमेंट है, इसमें अपराधियों पर लॉ एंड ऑर्डर का फॉर्मूला एप्लाई होता है। भयमुक्त समाज के लिए प्रबंधन ही गुड पुलिसिंग हैं।’

विनीत जायसवाल अपनी अलग कार्यशैली को लेकर काफी मशहूर रहे हैं। यह वहीं आईपीएस अफसर हैं जिन्होंने उत्तर प्रदेश में होम गार्ड सैलरी स्कैम की जांच की थी। इस स्कैम के खुलासे के बाद होमगार्ड के 5 जवानों को गिरफ्तार भी किया गया था। इसके बाद उनका गौतम बुद्ध नगर से ट्रांसफर हुआ था। उस वक्त वो एएसपी के पद पर थे और इसके बाद वो शामली जिले के एसपी बनाए गए थे।

इसके अलावा Bike Bot taxi फ्रॉड के उद्भेदन का श्रेय भी इस आईपीएस अधिकारी को जाता है। इसके खुलासे के बाद पता चला था कि Bike Bot के मालिक ने 2 लाख इन्वेस्टर्स से विभिन्न राज्यों में करीब 3000 करोड़ रुपए फर्जीगिरी के जरिए ऐंठ लिए थे। इस तेज-तर्रार आईपीएस अफसर ने नोएडा और ग्रेटर नोएडा दोनों ही जगहों पर पुलिस अधीक्षक के तौर पर काम किया है।

चर्चित हाथरस कांड के वक्त विनीत जायसवाल को जिले में कानून व्यवस्था संभालने की जिम्मेदारी दी गई थी। इस मामले में पीड़‍िता के परिवार से मिलने पहुंचे रालोद अध्यक्ष जयंत चौधरी और समाजवादी पार्टी के नेताओं पर लाठी चार्ज के बाद से विनीत जायसवाल काफी चर्चा में रहे थे।

Next Stories
1 योगी के करीबी मंत्री ने सरेआम महिला IPS से की बदसलूकी तो छलक गए थे आंसू, शायराना अंदाज में दिया था जवाब…
2 ‘मैं सरकार हूं’, विधायक के रौब दिखाने पर ADC ने डांट कर कहा- बाहर निकलिए
3 अलबेनियन माफिया: लड़कियों को देह व्यापार में धकेलने के लिए हैं कुख्यात, नौजवानों के नसों में ड्रग्स घोलने वाले गिरोह की कहानी
ये पढ़ा क्या?
X