ताज़ा खबर
 

IAS प्रतिभा पाल: प्रसव से 12 घंटे पहले तक करती रहीं काम, केंद्रीय मंत्री भी महिला अफसर की कर चुके हैं तारीफ

एक साक्षात्कार में इस महिला आईएएस अफसर ने कहा था कि 'कम्युनिटी के लिये सोचना और बढ़ावा देना किसी संस्था और अधिकारी का प्राथमिक कर्तव्य होना चाहिए

crime, crime newsIAS प्रतिभा पाल। फोटो सोर्स- सोशल मीडिया

आज बात एक ऐसी महिला अफसर की जो अपनी कर्त्व्यनिष्ठा के लिए काफी मशहूर रही हैं। साल 2012 बैच की आईएएएस अफसर प्रतिभा पाल की खासियत यह रही है कि किसी भी परिस्थिति में वो अपने फर्ज से पीछे नहीं हटती हैं। इसी साल प्रतिभा पाल की लगन ने कइयों को चौंका कर रख दिया। दरअसल बतौर इंदौर नगर निगम आयुक्त प्रतिभा पाल ने जनवरी के महीने में दिन-रात एक कार काम किया था। वो भी तब जब वो गर्भवती थीं। इतना ही नहीं अपने प्रसव से 12 घंटे पहले तक उन्होंने स्वच्छता सर्वे से जुड़े कामों की समीक्षा बैठक की थी। अफसरों को जरुरी काम पूरा करने के दिशा निर्देश दिये थे और फिर अगले ही दिन सुबह अस्पताल में बच्चे को जन्म दिया था।

बताया जाता है कि इंदौर नगर निगम आयुक्त बनने के बाद से ही आईएएस प्रतिभा पाल लगातार शहर की सफाई व्यवस्था को और अधिक बेहतर करने में लगी हुई थीं। स्वच्छता के प्रति जनता में जागरूकता के लिए भी वे निगम की ओर से लगातार कार्यक्रम करवा रहीं थी। वे गर्भवती होने के बाद भी स्वच्छता कार्यक्रम की वजह से लगातार बगैर छुट्टी काम कर रही थीं। इस महिला अफसर ने प्रसव के 11 दिन बाद फिर से ड्यूटी जॉइन कर ली थी।

इंदौर में स्वच्छता के प्रति प्रतिभा पाल के कामकाज की तारीफ आम जनता तो करती हैं साथ ही एक बार केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावडेकर जब इंदौर दौरे पर पहुंचे थे तब उन्होंने ने भी इंदौर की सफाई-व्यवस्था की जमकर तारीफ की थी। प्रतिभा पाल के बारे में बताया जाता है कि इस अफसर को कुकिंग और कविता लिखने का शौक है। जानकारी के मुताबिक प्रतिभा पाल अब तक कई कविताएं लिख चुकी हैं। दुष्यंत उनके पसंदीदा कवि माने जाते हैं।

एक साक्षात्कार में इस महिला आईएएस अफसर ने कहा था कि ‘कम्युनिटी के लिये सोचना और बढ़ावा देना किसी संस्था और अधिकारी का प्राथमिक कर्तव्य होना चाहिए। सोशल स्ट्रक्चर हमेशा सफल होता है। सबको साथ लेकर चलने वाले को ही इतिहास पूछता है और दोबारा पढ़ा जाता है। कम्युनिटी बेस मॉडल ही हमेशा सफल रहता है। प्रतिभा ने कहा कि फीडबैक सभी तरह के और सभी ओर से आने देना चाहिए, इनमें से मतलब की चीजें चयन करनी चाहिए।’

Next Stories
1 आतंकी सैफुल्लाह का एनकाउंटर कर आए चर्चा में, मनमोहन सिंह को सुरक्षा देने वाले IPS असीम अरुण की कहानी..
2 लेडी अफसर ने विधायक को जड़ा था जोरदार थप्पड़!, अपराधियों से पंगा लेने वाली IPS सौम्या सांबशिवन की कहानी…
3 वेटर बन जुटाते थे पॉकेट मनी, पिता रोकना चाहते थे पढ़ाई; IAS अंसार अहमद शेख की कहानी
ये पढ़ा क्या?
X