ताज़ा खबर
 

वो ‘मम्मी’ जो सुपारी लेकर कराती थी कत्ल, बेटों और पोतों के इस गैंग पर दर्ज हैं 117 मामले

'मम्मी' का गैंग हत्या के लिए 60 हजार, हाथ-पैर तुड़वाने के लिए 40 हजार और धमकी देने के लिए दस हजार रुपया लेता था। 'मम्मी' की आतंक का आलम यह था कि दिल्ली में उसके एक इशारे पर नाबालिग बच्चे कुछ भी कर गुजरने के लिए हमेशा तैयार रहते थे।

13 साल से पुलिस इस ‘लेडी डॉन’ की तलाश में खाक छान रही थी। प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो सोर्स – Indian Express

जुर्म की दुनिया में वो ‘मम्मी’ के नाम से कुख्यात है। हत्या, चोरी, लूट और झगड़ा जुर्म की किताब में दर्ज बड़े-बड़े अपराधों को चुटकी में अंजाम दिलवाना इस महिला के बाएं हाथ का खेल था। सुपारी लेकर किसी की हत्या करवाने में माहिर इस महिला का नाम दिल्ली के खतरनाक अपराधियों की फेहरिस्त में शामिल है। उत्तर प्रदेश के आगरा में जन्मीं बशीरन उर्फ ‘मम्मी’ की 17 साल में शादी धौलपुर के रहने वाले मलखान सिंह के साथ हुई थी। 90 के दशक में काम की तलाश में मलखान सिंह अपनी पत्नी के साथ दिल्ली के गोविंदपुर इलाके में रहने आया और फिर वो यहां से संगम विहार इलाके में रहने चला गया। मलखान इलेक्ट्रॉनिक सामान बनाने का छोटा-मोटा काम करता था जिससे परिवार का भरण पोषण-बेहद गरीबी में होता था। लेकिन उसकी पत्नी बशीरन को गरीबी की जिदंगी ज्यादा रास नहीं आई। उसपर धुन सवार था बेशुमार दौलत कमाने और रईसों की तरह जिंदगी गुजारने का। कहा जाता है कि दौलत कमाने की तमन्ना लिए बशीरन ने अपराध की दुनिया में कदम रखा और शुरुआत की अवैध शराब का धंधे से।

बशीरन ने इस धंधे में अपने 8 बेटों को भी शामिल कर लिया। इतना ही नहीं उसने इलाके के 8-12 साल के बच्चों को भी चरस और गांजे का लालच देकर उन्हें अपने गिरोह में मिला लिया। छोटे बच्चों का यह गैंग देखते ही देखते अवैध वसूली, शराब तस्करी, लूट, झपटमारी और सुपारी कीलिंग जैसी बड़ी वारदातों को अंजाम देने लगा। जल्दी ही बशीरन उर्फ ‘मम्मी’ ने इस धंधे में अपने 8 पोतों को भी शामिल कर लिया। कहा जाता है कि एक वक्त ‘मम्मी’ की गैंग में सैकड़ों नाबालिग बच्चे थे और उसने अपने हिसाब से हर जुर्म का रेट फिक्स कर दिया था। ‘मम्मी’ का गैंग हत्या के लिए 60 हजार, हाथ-पैर तुड़वाने के लिए 40 हजार और धमकी देने के लिए दस हजार रुपया लेता था। ‘मम्मी’ की आतंक का आलम यह था कि दिल्ली में उसके एक इशारे पर नाबालिग बच्चे कुछ भी कर गुजरने के लिए हमेशा तैयार रहते थे।

crime news, crime, delhi, police, basiran, lady don बशीरन उर्फ ‘मम्मी’। फोटो सोर्स – एएनआई।

जानकारी के मुताबिक बशीरन और उसके पूरे परिवार पर कुल 117 गंभीर अपराधों के मामले दर्ज हैं और पुलिस को इस लेडी डॉन की 13 सालों से तलाश थी। साल 2017 में संगम विहार इलाके में मिराज नाम के एक शख्स की हत्या हुई थी। मिराज मूल रुप से अमेठी के रहने वाले थे। इस हत्या की गुत्थी सुलझाने में लगी पुलिस जब एक नाबालिग बच्चे तक पहुंची तो उसने पुलिस के सामने ‘मम्मी’ के सारे राज बेपर्दा कर दिए।

कई मामलों में ‘मम्मी’ को तलाश रही पुलिस को बड़ी सफलता साल 2018 में उस वक्त मिली जब फरारी के दौरान वो संगम विहार इलाके में अपने घर पहुंची थी। ‘मम्मी’ की दिल्ली में मौजूदगी की खबर पुलिस वालों को मुखबिरों ने दी और फिर उसी रात करीब 12 बजे पुलिस ने बशीरन को गिरफ्तार कर लिया। 62 साल की इस महिला की कुल 12 संताने थीं जिनमें 8 बेटे थे। इन्हीं बेटों और अन्य रिश्तेदारों के दम पर उसने अपना बड़ा साम्राज्य खड़ा किया था। आज ‘मम्मी’ की परिवार का शायद ही कोई सदस्य ऐसा हो जिसपर थाने में केस दर्ज ना हो और जो जेल ना गया हो। (और…CRIME NEWS)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 12 साल का नाबालिग 10 साल की बच्ची को 4 महीने तक बनाता रहा हवस का शिकार, प्रेग्नेट हुई तब हुआ खुलासा
2 पति के टुकड़े-टुकड़े कर घर में ही दफना दिया, हड्डियां मिलीं तो सामने आई अवैध संबंधों की कहानी
3 हत्या कर लाश से संबंध बनाता और फिर खा जाता था आंत, टैक्सी ड्राइवर की हैरान करने वाली दास्तान
ये पढ़ा क्या?
X