ताज़ा खबर
 

दुर्दांतों को एनकाउंटर में किया ढेर तो लोगों ने घोड़ा बग्गी में बैठाकर घुमाया था, निडर IPS अजय पाल शर्मा की कहानी

एनकाउंटर स्पेशलिस्ट, सिंघम और दबंग जैसे नामों से फेमस रहे अजय पाल शर्मा विवाद में भी फंसे।

IPS अजय पाल शर्मा। फोटो सोर्स- सोशल मीडिया

कई दबंग अफसरों की कहानी अब तक हमने आपको बताई है। आज बात एक ऐसे आईपीएस अफसर की जो अपनी दबंग छवि की वजह से इतना लोकप्रिय हो गया कि लोग उसे घोड़ा-बग्गी में बैठाकर घुमाने लगे। हम बात कर रहे हैं पंजाब के लुधियाना जिले के रहने वाले अजय पाल शर्मा की। यहां आपको बता दें के आईपीएस बनने से पहले अजय पाल शर्मा ने डेंटिस्ट की डिग्री भी ली थी।

अजय पाल शर्मा यूपी काडर के 2011 बैच के आईपीएस अफसर हैं। आईपीएस बनने के बाद उनकी पहली पोस्टिंग सहारनपुर फिर मथुरा हुई थी। अजय पाल शर्मा जब शामली के एसपी थे तो भी उन्होंने कई एनकाउंटर किए। योगी आदित्यनाथ की सरकार में उनके एनकाउंटरों की तारीफ भी हुई। उसके बाद उन्हें नोएडा जैसे शहर का एसएसपी बनाया गया था। अजय पाल शर्मा ने जून 2019 में रामपुर में एक छह साल की बच्ची से बलात्कार और हत्या के आरोपी नाजिल को एनकाउंटर में गिरफ्तार किया था। एनकाउंटर में नाजिल को तीन गोलियां मारी गईं। इस एनकाउंटर के लिए अजय पाल की खूब तारीफ हुई। लोग ने उन्हें ‘सिंघम’ जैसे नामों से नवाजने लगे थे।

[ie_dailtioymon id=x7zvtyg]

अजय पाल शर्मा के बारे में कहा जाता है कि उन्होंने 100 से ज्यादा एनकाउंटर किये हैं। उनके नेतृत्व में 60 हजार रुपये के इनामी बदमाश नौशाद उर्फ डैनी और 12 हजार के इनामी बदमाश सरवर को मार गिराया गया था। इस एनकाउंटर के बाद लोगों ने उनको घोड़ा बग्गी में बैठाकर बैंड बाजों के साथ घुमाया था और उनका स्वागत किया था। कैराना में पलायन के लिए जिम्मेदार मुकीम काला गैंग की कमर भी अजय ने ही तोड़ी थी। इस गैंग के 50 हजार रुपये के इनामी अपराधी फुरकान को अजय ने ही गिरफ्तार कर जेल भेजा था।

इस बहादुर आईपीएस अफसर के बारे में कहा जाता है कि वो जहां भी पदस्थापित होते हैं वहां से अपराधी खुद-ब-खुद गायब हो जाते हैं। एनकाउंटर स्पेशलिस्ट, सिंघम और दबंग जैसे नामों से फेमस रहे अजय पाल शर्मा विवाद में भी फंसे। मार्च 2020 में अजय पाल शर्मा के खिलाफ लखनऊ की हजरतगंज कोतवाली में एफआईआर दर्ज की गई थी। गाजियाबाद के साहिबाबाद में रहने वाली दीप्ति शर्मा ने खुद को अजय पाल की पत्नी बताते हुए दावा किया कि अजय पाल वर्ष 2016 में गाजियाबाद में एसपी सिटी के पद पर तैनात थे।

[ie_dailtioymon id=x7zy3ai]

महिला ने दावा किया था कि इस दौरान उसकी शादी अजय पाल से हुई थी। शादी गाजियाबाद में रजिस्टर्ड भी हुई थी। दीप्ति का कहना था कि अजय पाल से उनके रिश्ते कुछ बातों को लेकर खराब हो गए थे। इस संबंध में उन्होंने महिला आयोग, पुलिस विभाग, हाई कोर्ट और सुप्रीम कोर्ट में शिकायत भी की थी।

Next Stories
1 गंदे काम के बाद हत्या कर चुरा लेता था लड़कियों के अंडरगार्मेंट्स, कॉन्स्टेबल के शैतान बनने की कहानी…
2 पिता के मुजरिमों को सजा दिलाने के लिए बनीं IAS, किंजल सिंह की कहानी किसी फिल्मी स्क्रिप्ट से कम नहीं…
3 घर पर संदिग्ध हालत में मिला था अभिनेत्री का शव, बिग बॉस की पूर्व कंटेस्टेंट की मौत पर उठे थे कई सवाल…
ये पढ़ा क्या ?
X