ताज़ा खबर
 

Delhi: बिजनेसमैन के बेटे ने मर्सिडीज से कार को मारी टक्कर, CRPF जवान की मौत, 2 घायल

लाल बत्ती पार करते हुए मर्सिडीज सवार सीआरपीएफ जवानों की कार को टक्कर मार दी जिससे एक कॉन्स्टेबल की मौत हो गई जबकि दो अन्य घायल हो गए।

Author दिल्ली | July 20, 2019 1:10 PM
दिल्ली में मर्सिडीज की टक्कर से सीआरपीएफ जवान की मौत फोटो सोर्स- ANI

दक्षिण दिल्ली के ग्रेटर कैलाश-1 में लाल बत्ती पार करते हुए मर्सिडीज में सवार एक कॉलेज छात्र ने शुक्रवार को सीआरपीएफ जवानों की कार को टक्कर मार दी जिससे बल के एक कॉन्स्टेबल की मौत हो गई जबकि दो अन्य घायल हो गए। पुलिस ने शुक्रवार को बताया कि नरेंद्र बस्वाल (32) की अस्पताल में मौत हो गई जबकि विनोद कुमार (36) और बाबूलाल यादव (38) को इलाज के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी गई।

बता दें कि नरेंद्र 15 साल पहले सीआरपीएफ में भर्ती हुए थे और दो साल पहले उनका विवाह हुआ था। उनके दो बच्चे हैं। सीआरपीएफ के एक अधिकारी ने बताया कि विभाग उनके परिवार की देखरेख करेगा। पुलिस ने बताया कि यह हादसा गुरूवार रात करीब 11 बजे जीके-1 में अर्चना क्रासिंग पर हुआ। सिरी फोर्ट रोड से आ रही सानिध्य गर्ग की मर्सिडीज ने लाल बत्ती पार कर एक वैगन आर कार को टक्कर मार दी। पुलिस उपायुक्त (दक्षिण) विजय कुमार ने बताया कि वैगन-आर कार को विनोद कुमार चला रहा था। यह मूलचंद की ओर से चिराग दिल्ली की तरफ जा रही थी। अधिकारी ने बताया कि घटनास्थल पर पहुंचने पर पीसीआर कर्मी घायलों को ट्रोमा सेंटर लेकर गए। उन्होंने बताया कि विनोद की शिकायत पर मामला दर्ज कर लिया गया है।

अधिकारी ने आगे बताया कि सानिध्य गर्ग लंदन में वाणिज्य में स्रातक की पढ़ाई कर रहा है और अभी छुट्टियों में आया हुआ है। उसके पिता का नोएडा सेक्टर-2 में लोहे का कारोबार है। पुलिस के मुताबिक, मेडिकल जांच में पुष्टि हो गई है कि घटना के समय किसी ने शराब नहीं पी रखी थी। मामले की छानबीन की जा रही है। गर्ग ने घटना से भागने की कोशिश नहीं की। उसे घटनास्थल पर गिरफ्तार कर लिया गया। एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि गर्ग के खिलाफ पहले आईपीसी की धाराओं 279 (लापरवाही से गाड़ी चलाना) और 337 (अपनी हरकत से अन्य के जीवन को नुकसान पहुंचाना) के तहत मामला दर्ज किया गया था लेकिन बस्वाल की मौत के बाद प्राथमिकी में धारा 304 ए (लापरवाही के कारण मौत) भी दर्ज की गई। गर्ग को जमानत पर रिहा किया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App