scorecardresearch

Shrikant Tyagi- 9 FIR and Many Notices: बीजेपी ने 2018 में अपॉइंटमेंट लेटर देकर श्रीकांत त्‍यागी को बनाया था सह संयोजक, डेढ़ साल तक मिली थी सुरक्षा

Shrikant Tyagi- 9 FIR and Many Notices: 27 अगस्त, 2018 को जारी एक नियुक्ति पत्र में कहा गया है कि त्यागी, भाजपा किसान मोर्चा की युवा किसान समिति का राष्ट्रीय समन्वयक (सह-संयोजक) है।

Shrikant Tyagi- 9 FIR and Many Notices: बीजेपी ने 2018 में अपॉइंटमेंट लेटर देकर श्रीकांत त्‍यागी को बनाया था सह संयोजक, डेढ़ साल तक मिली थी सुरक्षा
नोएडा की ग्रैंड ओमेक्स सोसायटी में बवाल के बाद से श्रीकांत त्यागी (Photo Credit – Shrikant Tyagi/Instagram)

Shrikant Tyagi- Noida society row: उत्तर प्रदेश में आज कल श्रीकांत त्यागी का नाम काफी चर्चा में है। नोएडा के सेक्टर 93-बी में ग्रैंड ओमेक्स सोसायटी में एक महिला को धक्का और गाली देने के मामले में श्रीकांत त्यागी फरार है। पुलिस ने अब त्यागी पर 25 हजार का इनाम घोषित किया। जहां भाजपा ने त्यागी से अपने किसी भी संबंध से इनकार किया है, वहीं दूसरी तरफ साल 2018 का एक लेटर यह बताता है कि श्री कांत त्यागी भाजपा से जुड़ा हुआ था।

BJP नेता की पुष्टि- त्यागी था पार्टी का हिस्सा

श्रीकांत त्यागी के संबंध में 27 अगस्त, 2018 के अपॉइंटमेंट लेटर में कहा गया है कि वह भाजपा किसान मोर्चा की युवा किसान समिति के राष्ट्रीय समन्वयक (सह-संयोजक) हैं। द इंडियन एक्सप्रेस से एक भाजपा नेता ने पुष्टि करते हुए कहा यह लेटर सही था और श्रीकांत त्यागी अगस्त 2018 से अप्रैल 2021 तक टीम का हिस्सा थे। यह भाजपा नेता वही थे जिनका कार्यकाल त्यागी के साथ का ही था।

बीजेपी नेता के मुताबिक, “किसान मोर्चा में अधिक से अधिक युवाओं की भागीदारी की जरूरत थी, जिसके तहत यह विंग बनाया गया था। उस वक्त मीडिया सलाहकार, सोशल मीडिया सलाहकार और सचिव जैसे पदों पर 20 अन्य नियुक्तियां की गईं। हालांकि, भाजपा नेता ने यह भी बताया कि जब एक नई टीम का गठन किया गया, तो त्यागी को मोर्चा में जगह नहीं मिली थी।

Shrikant Tyagi को डेढ़ साल तक मिली थी सुरक्षा

गाजियाबाद के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक मुनिराज जी ने द इंडियन एक्सप्रेस को बताया, खतरे को देखते हुए जिला समिति की रिपोर्ट के आधार पर त्यागी को अक्टूबर 2018 और फरवरी 2020 के बीच सुरक्षा दी गई क्योंकि वह किसी ‘एडमिनिस्ट्रेशन’ का हिस्सा था। हालांकि, फरवरी 2020 के बाद सुरक्षा हटा दी गई थी। एसएसपी मुनिराज ने बताया कि इस संबंध में सरकार को रिकॉर्ड पहले ही उपलब्ध करा दिए गए हैं।

BJP का दावा- त्यागी हमारी पार्टी का नेता नहीं

ग्रैंड ओमेक्स की घटना के बाद से ही भाजपा ने त्यागी के साथ किसी भी तरह के संबंध से इनकार किया है। नोएडा से भाजपा सांसद डॉ. महेश शर्मा ने भी यह कहा कि यह व्यक्ति हमारी पार्टी से जुड़ा नहीं है। हालांकि, साल 2019 में इंस्टाग्राम पर शेयर की गई तस्वीरों में त्यागी बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा, यूपी के पूर्व डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के साथ दिखता है। इसके अलावा, वह मंच से एक विजय संकल्प रैली को संबोधित करते नजर आ रहा है। त्यागी की कई पोस्ट में Elections2019, BJPIndia और BJPMission4UP जैसे हैशटैग हैं।

Shrikant Tyagi पर दर्ज हैं 9 FIR

यूपी पुलिस के मुताबिक, श्रीकांत त्यागी के खिलाफ अब तक कुल नौ मामले दर्ज किए गए हैं। साल 2007 में त्यागी पर जबरन वसूली और गुंडा एक्ट की धाराओं के तहत दो मामले दर्ज किए गए थे। फिर 2008 में, नोएडा के सेक्टर 39 पुलिस स्टेशन में त्यागी पर मारपीट, आपराधिक धमकी देने और गैर इरादतन हत्या करने के प्रयास में एक केस दर्ज किया गया था। इसके बाद, 2009 में उसके खिलाफ फेज-2 थाने में दंगा और हिंसा के दो मामले दर्ज किए गए थे।

कई FIR-शिकायतें पर कोई कार्रवाई नहीं

साल 2015 में, श्रीकांत त्यागी पर फिर से नोएडा पुलिस द्वारा दंगा और आपराधिक धमकी के लिए केस दर्ज किया गया था। 10 अक्टूबर, 2019 में नोएडा में त्यागी के खिलाफ एक मामला दर्ज किया गया था, जिसमें सोसायटी में अवैध निर्माण की बात कही गई थी। इसके बाद साल 2020 में, उस पर हत्या के प्रयास और आपराधिक धमकी के मामले में फेज 2 थाने में मामला दर्ज किया गया है। वहीं, सोसायटी में हुई घटना के बाद त्यागी के खिलाफ दो और प्राथमिकी (FIR) दर्ज की गई है। इनमें आपराधिक धमकी, महिला के साथ गाली-गलौज, चोट पहुंचाने, धोखाधड़ी से संबंधित धाराओं के तहत मामले शामिल हैं।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट