ताज़ा खबर
 
title-bar

चॉकलेट का लालच देकर सुनसान जगह पर बच्चियों से करता था रेप, स्कूटी की वजह से ऐसे पकड़ा गया सीरियल रेपिस्ट

उसने पुलिस के सामने खुलासा किया कि वो मासूम बच्चियों को चॉकलेट का लालच देकर उन्हें बहलाता था। उसके निशाने पर ज्यादातर 8-12 साल की बच्चियां होती थीं।

प्रतीकात्मक तस्वीर । (एक्सप्रेस फाइल फोटो)

वो अक्सर अपने साथ चॉकलेट या टॉफी रखा करता था। सभी लोग यही समझते थे कि शायद उसे खुद यह चॉकलेट खाना पसंद है। लेकिन लोगों की यह सोच उनकी भूल साबित हुई। दरअसल वो इन चॉकलेट्स का इस्तेमाल मासूम बच्चियों को फुसलाने के लिए किया करता था। बच्चियों को चॉकलेट का लालच देकर उन्हें अपनी दरिंदगी का शिकार बनाने वाला यह सीरियल रेपिस्ट अब पुलिस के शिकंजे में है। यह कहानी है मनीष चड्ढा नाम के एक सीरियल रेपिस्ट की। जिसे दिल्ली पुलिस ने बीते 30 जनवरी, 2019 को पकड़ा है।

मनीष चड्ढा दिल्ली के मधु विहार इलाके में एक मासूम बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाने की फिराक में था। इस शख्स ने मासूम बच्ची को चॉकलेट का लालच दिया और फिर उसे एक मकान की छत पर लेकर गया। यहां मनीष ने मासूम के साथ घिनौनी हरकत शुरू कर दी। लेकिन बच्ची के शोर मचाने पर मनीष वहां से भाग खड़ा हुआ। लेकिन भागते वक्त मनीष ने एक बड़ी गलती कर दी और इसी चूक की वजह से यह दरिंदा कानून के शिकंजे में आ गया। दरअसल वारदात के बाद मनीष अपनी स्कूटी वहां से ले जाना भूल गया।

घटना के वक्त बच्ची की शोर सुनकर घटनास्थल पर पहुंचे लोगों ने ही पुलिस को इस बारे में इत्तिला किया और गली में पार्क की गई मनीष की स्कूटी के बारे में भी पुलिस को बताया। इस स्कूटी के बदौलत पुलिस ने मनीष का सुराग लगाना शुरू किया। जल्दी ही पुलिस ने उसे धर दबोचा। पकड़े जाने के बाद मनीष चड्ढा ने पुलिस के सामने हैरान करने वाले राज उगले। उसने बताया कि उसने अब तक पूर्वी दिल्ली के गाजीपुर, कल्याणपुरी, पांडव नगर और मधु विहार इलाके में कई बच्चियों को अपनी हवस का शिकार बनाया है। जानकारी के मुताबिक हर वारदात से पहले मनीष इसी स्कूटी से इलाके की रेकी करता था। उसने पुलिस के सामने खुलासा किया कि वो मासूम बच्चियों को चॉकलेट का लालच देकर उन्हें बहलाता था। उसके निशाने पर ज्यादातर 8-12 साल की बच्चियां होती थीं। बहरहाल अब यह सीरियल साइको रेपिस्ट पुलिस के कब्जे में है और पुलिस उसके गुनाहों का हिसाब-किताब कर रही है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App