ताज़ा खबर
 

वो समलैंगिक सीरियल किलर जिसने हवस की आग में जला दी ना जाने कितनी जिंदगियां

यह 'सीरियल किलर' ज्यादातर वैसे युवाओं को अपना शिकार बनाता था जो समलैंगिक और बेघर होते थे। डेनिस निल्सन का घर उत्तरी इंग्लैंड में था और उसने यह खूनी खेल इसी घर के अंदर खेला।

डेनिस निल्सन फोटो सोर्स – फेसबुक

सीरियल किलर‘! यानी सिलसिलेवार क़त्ल करने वाला वो शख्स जिसके अंदर ना तो कानून का ख़ौफ़ होता है और ना ही उसके सीने में होता है मरने वाले के लिए रत्ति भर भी रहम। आज हम जिस ‘सीरियल किलर’ की दास्तान आपको बताने जा रहे हैं उसकी क्रूरता आपको अंदर से झकझोर कर रख देगी। ऐसा कहा जाता है कि उसने वर्ष 1970-80 के बीच एक के बाद एक 15 लोगों को मौत के घाट उतार दिया। इंग्लैंड के इस सबसे चर्चित ‘सीरियल किलर’ का नाम है डेनिस निल्सन। देखने में साधारण कद-काठी के इस बेहद खौफनाक ‘सीरियल किलर’ ने जिस बर्बरता से हत्याएं की हैं उसकी चर्चा कर यहां लोग आज भी थर्रा उठते हैं।

यह ‘सीरियल किलर’ ज्यादातर वैसे युवाओं को अपना शिकार बनाता था जो समलैंगिक और बेघर होते थे। डेनिस निल्सन का घर उत्तरी इंग्लैंड में था और उसने यह खूनी खेल इसी घर के अंदर खेला। यह बेरहम कातिल अपने शिकार को बेरहमी से दम घोंटकर, या फिर डूबा कर मार देता था। लेकिन हत्या के बाद भी निल्सन इन मृतकों के साथ बर्बरता की सारी सीमाएं लांघता था। कहा जाता है कि डेनिस निल्सन इन शवों को ठिकाने लगाने से पहले उनके साथ शरीरीक संबंध बनाता था। इतना ही नहीं यह किलर लाशों को स्नान करवाता, उनके मृत शरीर को कपड़े पहनाता, और फिर कुछ दिन कभी-कभी तो कुछ हफ्तों तक वो इन लाशों के साथ बैठा रहता था।

जब हत्या करने के बाद एक मरे हुए इंसान से उसके हवस की आग बूझ जाती उसके बाद वो इन लाशों के निजी अंगों (प्राइवेट पार्ट) के टुकड़े-टुकड़े कर उन्हें नाले या फिर बाथरुम के फ्लश में बहा देता। दरिंदगी की सारी हदें पार कर जाने के बाद निल्सन सबूत मिटाने के लिए इंसान के क्षत-विक्षत मृत शरीर को आग में झोंक देता था। इस ‘सीरियल किलर’ के कानून के शिकंजे में आने की कहानी भी बेहद दिलचस्प है। एक हत्या के बाद अंगों के टुकड़े नाले में बहाते वक्त अचानक नाला जाम हो गया। उस वक्त निल्सन ने इन अंगों को फ्लश के रास्ते बाहर निकाल देने की पूरी कोशिश की लेकिन वो नाकाम रहा और इस तरह उसकी पोल-पट्टी खुल गई। साल 1983 में 6 लोगों की हत्या करने के जुर्म में उसे उम्रकैद की सजा सुनाई गई। 72 साल की उम्र में बीते शनिवार (28 जुलाई) को इंग्लैंड के पूर्वी यॉर्कशायर के एक जेल में बंद इस हत्यारे की मौत हो गई।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 साइनाइड मल्लिका: भारत की पहली लेडी सीरियल किलर जो आज भी लोगों के लिए रहस्य है
2 रवांडा: 100 दिनों तक चला था नरसंहार, मार दिये गए थे 8 लाख लोग
3 52 वीडियो डाउनलोड कर सीखा मर्डर का तरीका, पत्नी को उतार दिया मौत के घाट
IPL 2020 LIVE
X