ताज़ा खबर
 

एक पंच से तोड़ देता रीढ़ की हड्डी, 90 लड़कियों का रेप कर जान ले चुका है ये दरिंदा

मई में टेक्सास के एक रेंजर ने जेम्स हॉलैंड जब कैलिफोर्निया गए थे तो वो सैमुअल लिटल से मिले थे उस वक्त साल सैमुअल साल 1980 में तीन महिलाओं की हत्या के जुर्म तीन उम्रकैद की सजा काट रहा था।

इस हत्यारे ने 90 लोगों की हत्या करने की बात खुद स्वीकार की है। प्रतीकात्मक तस्वीर।

चेहरे पर पड़ी झुर्रियां और सफेद पड़ चुके बाल। यकीनन अब यह इंसान बूढ़ा हो चुका है। लेकिन एक बूढ़ा इंसान अब अपना ज्यादातर समय जेल की चहारदीवारियों के अंदर ही बिताता है लेकिन जब आप उसके जवानी में किए गए हैवानियत की कहानी को जानेंगे तो आप शायद इसे इंसान नहीं बल्कि हैवान कहने लगेंगे। 78 साल के सैमुअल लिटल ने पुलिस से पूछताछ में सिलसिलेवार तरीके से अपने गुनाहों को स्वीकार किया है। जानकारी के मुताबिक उसने 14 अलग-अलग राज्यों में 90 मर्डर करने का अपराध पुलिस के सामने कबूला है। न्यूयॉर्क टाइम्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक जांचकर्ताओं ने 30 हत्याओं के मामलों में उसके खिलाफ पुख्ता सबूत जुटा लिए हैं। जांचकर्ता अन्य मामलों में भी उसके खिलाफ सबूत जुटाने में जुटे हैं।

अमेरिका के टेक्सास जेल में अब सैमुअल लिटल से लगभग हर दिन पुलिस पूछताछ करती है और उसके पिछले जुर्म का हिसाब पूछती है। दरअसल सैमुअल लिटर एक ऐसा सीरियल किलर है जिसने अब से करीब 50 साल पहले कई सिलसिलेवार हत्याओं को अंजाम दिया है। जवानी के दिनों में बॉक्सर रह चुका सैमुअल लिटल महिलाओं के साथ रेप, हत्या और लूट की वारदात को अंजाम दिया करता था। जांचकर्ताओं का मानना है कि वो ज्यादातर गरीब और कमजोर महिलाओं को अपना निशाना बनाता था। वो ड्रग्स या शराब की आदी महिलाओं को अपना निशाना बनाता था ताकि उनके लापता हो जाने के बाद घरवाले भी उनकी गुमशुदगी का रिपोर्ट दर्ज ना कराएं।

ऐसी महिलाओं का वो पहले अपहरण करता फिर उनके साथ मारपीट करता और फिर एक जोरदार पंच मारकर उनकी रीढ़ की हड्डी तोड़ देता था। महिलाओं के साथ बलात्कार करने के बाद वो अपनी कार की पिछली सीट पर उनकी गला घोंटकर हत्या कर देता था। कई महिलाओं की ऑटोप्सी रिपोर्ट में उनकी रीढ़ की हड्डी चूर होने का खुलासा हुआ है।

हालांकि इस किलर को बीते 50 सालों में करीब 100 से ज्यादा बार गिरफ्तार किया गया था लेकिन उस वक्त उसपर सिर्फ अपहरण, रेप और लूट के आरोप ही साबित हो पाते थे। सैमुअल के डीएनए सैंपल से उसपर कई हत्याओं के आरोप साबित होने की कहानी भी काफी दिलचस्प है। दरअसल साल 2012 में डिटेक्टिव मार्सिया और उनके पार्टनर मिट्सी रॉबर्ट्स ने लॉस ऐंजिलिस में 2 महिलाओं की हत्या के मामले में डीएनए सबूत जुटाए जो लिटल के डीएनए से मैच कर गए। इसके बाद कई मृत महिलाओं के डीएनए का मिलान जब सैमुअल के डीएनए से किए गए तो नतीजे देख पुलिस भी हक्का-बक्का रह गई।

मई में टेक्सास के एक रेंजर ने जेम्स हॉलैंड जब कैलिफोर्निया गए थे तो वो सैमुअल लिटल से मिले थे उस वक्त साल सैमुअल साल 1980 में तीन महिलाओं की हत्या के जुर्म तीन उम्रकैद की सजा काट रहा था। पुलिस अब सैमुअल लिटल के हर गुनाह का हिसाब-किताब कर रही है और पुलिस को उम्मीद है कि उसके द्वारा किए गए 90 हत्याओं के मामले में वो जरूर सबूत जुटाने में कामयाब हो जाएगी। अगर यह सबूत सही साबित होते हैं तो लिटिल सैमुअल अमेरिका के इतिहास का सबसे क्रूर सीरियल किलर साबित हो जाएगा। बता दें कि अमेरिका में गैरी रिड्गवे को 1980-1990 के बीच 49 हत्याओं के लिए अमेरिका का सबसे खूंखार सीरियल किलर के तौर पर जाना जाता है।

सैमुअल लिटल के पारिवारिक बैकग्राउंड के बारे में भी पुलिस को ज्यादा जानकारी नहीं है। कहा जाता है कि इसकी मां भी आपराधिक बैकग्राउंड से ही थीं। कहा तो यह भी जाता है कि सैमुअल का जन्म जेल में ही हुआ था। हैरानी की बात यह भी है कि सैमुअल जब कभी पुलिसिया पूछताछ में अपने जुर्म की कहानी बताता है तो उसे इस उम्र में भी 50 साल पुरानी हर बात ठीक-ठीक याद रहती है।

 

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App