ताज़ा खबर
 

बेटी ने सुनाई खौफनाक कहानी- बाप ने दस लड़कियों को बगीचे में दफनाया, मां करती थी मदद!

मे वेस्ट की मां रोज वेस्ट को 1995 में 10 हत्याओं का दोषी पाया गया था जबकि उनके पिता फ्रेड वेस्ट ने जेल भेजे जाने से पहले 12 हत्याएं करने का गुनाह कबूल किया था। पुलिस ने उस वक्त खुलासा किया था कि यह कपल अक्सर बस स्टैंड या अन्य जगहों से लड़कियों को किडनैप करता था और उनकी हत्या करने से पहले उन्हें कई दिनों तक काफी टॉर्चर भी करता था।

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

इंग्लैंड के ग्लूसेस्टर की रहने वाली मे वेस्ट ने अपने सीरियल किलर पैरेंट्स को लेकर अब कई खुलासे किये हैं। मे वेस्ट ने अपनी किताब ‘Love as always, Mum’ में अपने क्रॉमवेल स्ट्रीट स्थित घर की जिन हॉरर कहानियों को उजागर किया है उसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे। अपनी किताब में मे वेस्ट ने बतलाया है कि उनके घर में उनके माता-पिता ने जो कुछ भी किया उसे वो देखकर मानसिक तौर से काफी परेशान हो गई थीं। मे वेस्ट ने बतलाया कि कई बार उन्होंने अपनी मां से हत्याओं में उनके रोल को लेकर सवाल पूछा लेकिन मां उनके सवालों का सीधा-सीधा जवाब नहीं देती थीं जिसकी वजह से उन्होंने अपनी मां से बातचीत करना बंद कर दिया था।

मे वेस्ट की मां रोज वेस्ट को 1995 में 10 हत्याओं का दोषी पाया गया था जबकि उनके पिता फ्रेड वेस्ट ने जेल भेजे जाने से पहले 12 हत्याएं करने का गुनाह कबूल किया था। पुलिस ने उस वक्त खुलासा किया था कि यह कपल अक्सर बस स्टैंड या अन्य जगहों से लड़कियों को किडनैप करता था और उनकी हत्या करने से पहले उन्हें कई दिनों तक काफी टॉर्चर भी करता था। हालांकि इस मामले में सजा मिलने के बाद फ्रेड वेस्ट ने जेल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली थी।

HOT DEALS
  • Apple iPhone 7 Plus 128 GB Rose Gold
    ₹ 61000 MRP ₹ 76200 -20%
    ₹6500 Cashback
  • Moto C Plus 16 GB 2 GB Starry Black
    ₹ 7095 MRP ₹ 7999 -11%
    ₹0 Cashback

मे वेस्ट ने बतलया है कि उनकी बड़ी बहन अपने 16वें जन्मदिन के मौके पर अचानक लापता हो गईं। उस वक्त उन्हें इस बात का जरा भी अंदाजा नहीं था कि उनकी बहन के साथ क्या हुआ। फ्रेड और रोज मे की करतूतों का सबसे पहले उस वक्त पता चला था जब सन् 1992 में फ्रेड पर अपनी 13 साल की बेटी के साथ दुष्कर्म करने और उसकी मां रोज पर बच्चों के साथ क्रूरता करने का आरोप लगा। मे वेस्ट ने बतलाया है कि साल 1994 में जब एक दिन पुलिस ने उनके घर के बगीचे को खोदना शुरू किया तो वहां से कई सारी लाशें निकलने लगीं जिन्हें देख कर मैं दंग रह गई। इसमें मेरी बड़ी बहन हीथर का शव भी था।

बगीचे से पुलिस ने ना सिर्फ मेरी बड़ी बहन का शव बरामद किया बल्कि 10 महिलाओं और एक बच्चे का शव भी बरामद किया गया। मे वेस्ट ने बतलाया कि उसके पिता लड़कियों को मार कर बागीचे में दफ्न कर देते थें और मां इस काम में उनकी मदद करती थीं। मे वेस्ट के मुताबिक उनके क्रॉमवेल स्ट्रीट स्थित घर में कई दूसरे अन्य लोगों को उनके माता-पिता ने जलाया भी था।

मे वेस्ट ने अपनी किताब में यह भी बतलाया है कि जब वो पांच साल की थीं तो उनके चाचा ने उनकी मां के सामने उनके साथ दुष्कर्म किया था। मां उस वक्त भी खामोश थी और उनके पिता ने भी उनकी बात नहीं सुनी थी। मे ने डेली मेल से बातचीत करते हुए बतलाया है कि जब उनकी मां जेल में थीं तो वो हर हफ्ते उन्हें खत लिखती थीं। मे वेस्ट ने बतलाया कि उनकी मां यह दिखाने की कोशिश करती थीं कि वो उनका बहुत ख्याल रखती हैं, इसलिए मैंने तय किया की मैं अपनी मां से अपनी बहन हीथर के बारे में पुछूंगी। हालांकि मुझे उनसे सही जवाब मिलने की उम्मीद नहीं थी।

जैसा मैंने सोचा था वैसा ही हुआ। मेरी मां ने इस सवाल का जवाब नहीं दिया। उन्होंने मुझे खत लिखना भी बंद कर दिया। अब मैं उनके विजिटर लिस्ट में भी शामिल नहीं हूं। अच्छा हुआ कि उनके साथ कॉन्टैक्ट खत्म हो गया क्योंकि यह किसी बोझ की तरह हो गया था। वो 64 साल की हैं और मुझे उम्मीद है कि वो अपने मरने के वक्त अपनी गुनाहों के लिए माफी जरूर मांगेंगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App