ताज़ा खबर
 

बाबा के आश्रम में बंधक थीं छह नाबालिग लड़कियां, रिहा कराने गई पुलिस टीम पर चेलों ने किया हमला

यूपी के भदोही जिले के एक आश्रम में बंधक बनीं छह लड़कियों को रिहा कराया गया। बाबा की दबंगई का आलम यह था कि उसने लड़कियों को रिहा कराने गई पुलिस टीम पर समर्थकों से हमला भी करा दिया।

Author नई दिल्ली | February 7, 2018 1:56 PM
प्रतीकात्मक फोटो

फर्जी बाबा बनकर अय्याशी करने वाले लोगों की पोल खुलने लगी है। इस बार उत्तर प्रदेश के भदोही जिले से एक फर्जी बाबा गिरफ्तार हुआ है। उसके आश्रम से छह नाबालिग लड़कियां भी बरामद हुई हैं, जिन्हें गोपीगंज के नारी निकेतन भेजा गया है। बाबा ग्राम समाज की जमीन पर कब्जा कर तंबू में आश्रम चलाता था। राजेंद्र प्रसाद के चार चेलों के साथ गिरफ्तार कर पुलिस पूछताछ कर रही है। उधर डीएम और एसपी के निर्देश पर पुलिस ने ग्राम समाज की जमीन पर बने आश्रम को जमींदोज कर दिया।

मामला औराई थाना क्षेत्र के नटवां औरंगाबाद का है। यहां ग्राम समाज की जमीन पर राजेंद्र प्रसाद नामक दबंग व्यक्ति कब्जा कर आश्रम खोल दिया। खुद को बाबा बताकर भोले-भाले लोगो को झांसा देने लगा। आश्रम से संदिग्ध गतिविधियों का संचालन करने लगा। बाबा के कथित आश्रम में कई लड़कियों की भी मौजूदगी रही। इस बीच एक लड़की के परिवारवालों ने पुलिस को प्रार्थनापत्र देकर बाबा पर लड़की को बंधक बनाने का आरोप लगाया। पुलिस ने लड़की को मुक्त कराया तो बाबा और उनके समर्थकों के बीच टकराव हो गया। सोमवार को बाबा और उसके समर्थकों ने कुछ महिलाओं के साथ सड़क जाम कर दिया। जाम हटाने के लिए पहुंचे पुलिसकर्मियों पर चेलों ने हमला किया तो पुलिसकर्मियों को चोट पहुंची। जिसके बाद पुलिस ने सख्त कार्रवाई करते हुए आश्रम पर धावा बोला तो पता चला कि यहां आधे दर्जन की संख्या में लड़कियां बंधक बनीं हैं। सभी को मुक्त कराने के साथ नारी निकेतन भेज दिया गया। लड़कियों को मुक्त कराने की टीम में अपर जिलाधिकारी राम सिंह, अपर पुत्र अधीक्षक डॉ. संजय कुमार, एसडीएम केशवनाथ गुप्त, सीओ पवन कुमार, जेई विद्युत, समाज कल्याण अधिकारी, लेबर अधिकारी, बाल कल्याण समिति (सीडब्ल्यूसी) के अधिकारी शामिल रहे। गांववालों के मुताबिक बाबा आश्रम से संदिग्ध गतिविधियों के जरिए माहौल बिगाड़ने का काम कर रहा था। पुलिस ने बाबा राजेंद्र सिंह पर सरकारी जमीन कब्जा करने और कटिया लगाकर बिजली चोरी करने के मामले में भी मुकदमा दर्ज किया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App