ताज़ा खबर
 

दिल्ली: लुटेरों से बचने के लिए भाग रहा था युवक, लोगों ने समझा बच्चा चोर और पीट-पीटकर मार डाला

दिल्ली के अशोक नगर में शनिवार सुबह शौच के लिए निकले युवक को पहले बदमाशों ने लूटने की कोशिश की। उनसे बचने के लिए भागा तो झुग्गी-झोपड़ी वालों ने समझा कि बच्चा चोर है और पीट-पीटकर मार डाला।

Author नई दिल्ली | Updated: September 22, 2019 8:03 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर (फोटो – सोर्स -इंडियन एक्सप्रेस)

इन दिनों बच्चा चोरी की अफवाहें बहुत तेजी से फैल रही हैं। इसके शिकार कई ऐसे लोग बन जा रहे हैं, जिनका उससे कोई संबंध नहीं है। दिल्ली के अशोक नगर इलाके में शनिवार को गोपाल नाम के एक युवक की इतनी पिटाई की गई कि उसकी मौत हो गई। वह शौच के लिए रेलवे पटरी की तरफ गया था। वहां पर लुटेरे चाकू लेकर बैठे थे। गोपाल को देखा तो उसको पकड़ने के लिए दौड़े। उनसे बचने के लिए गोपाल पास की झुग्गी-झोपड़ी की तरफ भागा। झुग्गी के लोगों ने समझा कि वह बच्चा चोरी करने वाला है और उसको पकड़कर पिटाई कर दी।

पुलिस के आने पर हकीकत का पता चला : आसपास के लोगों ने उसे किसी तरह छुड़ाकर सफदरजंग हास्पिटल ले गए। वहां उसकी मौत हो गई। पड़ोसियों से सूचना पाकर मौके पर पहुंची पुलिस ने जांच की तो लोगों को हकीकत का पता चला। स्थानीय झुग्गी-झोपड़ी वालों ने बताया कि कई दिन से यहां अफवाह फैली है कि बच्चा चोरी करने वाले घूम रहे हैं।

पुलिस ने तीन लोगों को गिरफ्तार किया : पुलिस ने बताया कि गोविंद नाम के एक युवक की शिकायत पर केस दर्ज कर लिया है और घटना की जांच-पड़ताल की जा रही है। इस मामले में मोंटू, संत राज और भोला नाम के तीन आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। पिटाई करने वाले और लोगों की पहचान कर उनको पकड़ने के लिए कई जगह दबिश भी दी जा रही है।

अमेठी और लखनऊ में भी हुई हैं ऐसी घटनाएं : कुछ दिन पहले ही उत्तर प्रदेश के अमेठी में बच्चा चोर समझकर नौ मजदूरों की पिटाई कर दी गई थी जिनमें से एक की मौत हो गई थी। इसके अलावा लखनऊ के कनौसी इलाके में सिटी मांटेसरी स्कूल (सीएमएस) के संस्थापक जगदीश गांधी के निजी सचिव वरुण अवस्थी को भी चोर समझकर पीट दिया गया था। वह एक बच्चे के दाखिले के संबंध में जांच करने के लिए इलाके में गए थे। अवस्थी ने एक स्कूल में घुसकर किसी तरह अपनी जान बचाई थी।

National Hindi News, 21 September 2019 LIVE Updates: देश की खबरों के लिए यहां क्लिक करें

सोशल मीडिया से भी फैल रहीं अफवाहें : देश भर में इन दिनों बच्चा चोरी की अफवाहें फैलाने में सोशल मीडिया भी मददगार बन रहा है। राजधानी दिल्ली समेत देश कई शहरों में इस तरह की मौतों के पीछे सोशल मीडिया बड़ी वजह है। लोग बिना किसी सबूत और आधार के सुनी-सुनाई बातों को एक-दूसरे को शेयर करते रहते हैं। यही अफवाहें कई बार लोगों के लिए जानलेवा बनती जा रही हैं।

यूपी के संभल में मंदबुद्धि युवक की ले ली थी जान : पिछले दिनों यूपी के संभल जिले में 40 वर्षीय एक मंदबुद्धि को गांव वालों ने बच्चा चोर समझकर ही पीट-पीट कर जान ले ली थी। उसमें भी सोशल मीडिया की वजह से उसकी जान गई थी। इसके अलावा भी कई घटनाएं हुई हैं।

 

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Maharashtra: 15 किमी घुमाकर ऑटो ड्राइवर ने ठगे 4300 रुपए, विरोध जताया तो ‘Night Charge’ का दिया हवाला
2 Varanasi में डबल मर्डर, घर में घुस दंपती पर बरसाईं गोलियां, पिशाचमोचन की गद्दी को लेकर था विवाद
3 दिल्ली का रंगदारी परिवार: बाप, बेटा और बेटी करते थे अवैध वसूली, लोगों से ऐसे ऐंठते थे रुपए