scorecardresearch

Auraiya Student Death: औरैया में दलित छात्र की मौत के बाद बवाल, बीस दिन पहले शिक्षक ने की थी पिटाई, प्रदर्शनकारियों ने पुलिस वाहनों में लगाई आग, पथराव

Ruckus in Auraiya, Auraiya Dalit Student Death News: घटना के बाद पुलिस शिक्षक की तलाश में स्कूल गई थी, लेकिन वह फरार है। उसकी गिरफ्तारी के लिए टीम बनाई गई है।

Auraiya Student Death: औरैया में दलित छात्र की मौत के बाद बवाल, बीस दिन पहले शिक्षक ने की थी पिटाई, प्रदर्शनकारियों ने पुलिस वाहनों में लगाई आग, पथराव
औरैया दलित छात्र की मौत, Auraiya Dalit Student Death: पुलिस शिक्षक की तलाश कर रही है, लड़के का किडनी की बीमारी का इलाज चल रहा था। (फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

Auraiya Dalit Student Dead Protest: उत्तर प्रदेश के औरैया जिले के अछल्दा में 15 वर्षीय एक दलित छात्र की सोमवार की सुबह मौत हो गई। करीब बीस दिन पहले उसे कथित तौर पर एक शिक्षक ने पिटाई कर दी थी। शिक्षक फरार है। उस पर जिस पर आईपीसी की धारा 308 (गैर इरादतन हत्या का प्रयास), 323 (स्वेच्छा से चोट पहुंचाना) और 504 (शांति भंग करने के इरादे से जानबूझकर अपमान), साथ ही साथ अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति (प्रिवेंशन ऑफ एट्रोसिटीज एक्ट) लगाया गया है।

छात्र की मौत के बाद औरैया में हिंसक विरोध प्रदर्शन शुरू हो गया था। आक्रोशित लोगों ने पुलिस की दो गाड़ियों में आग लगा दी और दो निजी वाहनों को क्षतिग्रस्त कर दिया। छात्र के शव को पोस्टमार्टम के बाद जब लाया गया तो प्रदर्शनकारी उसे स्कूल के बाहर रखकर नारेबाजी शुरू कर दी। उन्होंने कथित तौर पर इलाके में मौजूद पुलिस वालों पर पथराव भी किया। बाद में अतिरिक्त पुलिस बल को मौके पर भेजा गया। प्रदर्शनकारियों का नेतृत्व ‘भीम आर्मी’ के कार्यकर्ता कर रहे थे। उन लोगों ने जिलाधिकारी की गाड़ी पर भी पथराव किया।

परिजन शव को अंतिम संस्कार के लिए गांव ले गये

पुलिस सूत्रों के अनुसार, मामले के उपद्रवियों पर कार्रवाई की तैयारी भी शुरू हो गयी है। कानपुर जोन के अतिरिक्त महानिदेशक भानु भास्कर ने कहा कि स्थिति का जायजा लेने के लिए वरिष्ठ पुलिस और जिला स्तरीय अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। उन्होंने कहा कि स्थिति नियंत्रण में है। पुलिस ने कहा कि लड़के के परिवार अंतिम संस्कार के लिए उसके शव को अपने गांव ले गए हैं।

औरैया सीओ महेंद्र प्रताप सिंह ने कहा कि शुरुआती जांच में पाया गया कि घटना से पहले छात्र किडनी की समस्या से पीड़ित था। लखनऊ के एक अस्पताल में उसका इलाज भी चल रहा था। कहा कि उन्हें अस्पताल और छात्र के परिवार के साथ बीमारी और इलाज के डिटेल की पुष्टि की जरूरत है।

इस मामले को लेकर मंगलवार को समाजवादी पार्टी (सपा) के अध्‍यक्ष और उप्र के पूर्व मुख्‍यमंत्री अखिलेश यादव तथा बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्‍यक्ष और पूर्व मुख्‍यमंत्री मायावती ने अलग-अलग ट्वीट में गंभीर आरोप लगाते हुए सरकार को कठघरे में खड़ा किया है।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 27-09-2022 at 07:41:00 am
अपडेट