ताज़ा खबर
 

बिहार: 55 करोड़ के सोने की चोरी के खुलासे के लिए बनी सबसे बड़ी SIT, 5 आईपीएस और 4 डीएसपी रैंक के अधिकारी शामिल

लिहाजा पुलिस के पास सुराग के तौर पर सबसे बड़ा सबूत है वो सीसीटीवी फुटेज जिसमें 6 से 7 हथियारबंद अपराधी नजर आए हैं।

crime, crime news, thiefइस सबसे बड़ी सोने की चोरी ने पुलिस की नींद उड़ा दी है। प्रतीकात्मक तस्वीर। फोटो सोर्स – Indian Express

बिहार में चोरों ने पुलिस की नींद उड़ा रखी है। बीते शनिवार (23-11-2019) को चोरों ने वैशाली जिले से करीब 55 किलो सोना चुरा लिया। चोरी किये गये सोने की कीमत 22 करोड़ रुपए बताई जा रही है। इस चोरी ने यहां पुलिस के कान खड़े कर दिये हैं लिहाजा महकमे के लिए इस चोरी का पर्दाफाश करना और चोरों को दबोचना नाक का सवाल बन गया है।

शायद यहीं वजह है कि इस चोरी के खुलासे के लिए यहां सबसे बड़ी SIT (Special Investigation Team) बनाई गई है। कहा जा रहा है कि बिहार में अब तक हुए किसी भी कांड के उद्भेदन के लिए इतनी बड़ी एसआईटी नहीं बनाई गई है।

SIT में अफसर की लंबी फेहरिस्त: कुछ मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस एसआईटी में 5 आईपीएस और 4 डीएसपी रैंक के अधिकारियों को शामिल किया गया है। टीम में एसपी एसपी मानवजीत सिंह ढिल्लो के अलावा मुजफ्फरपुर के एसएसपी जयकांत, वैशाली के प्रभारी एसपी मृत्युंजय कुमार चौधरी, शिवहर के एसपी संतोष कुमार और सीआईडी के एसपी शैलेश कुमार शामिल हैं।

पुलिस के पास हैं कुछ सुराग: ऐसी उम्मीद है कि बड़े अफसरों की यह फौज अब जल्दी ही इस चोरी का उद्भेदन कर देगी। शनिवार को दिनदहाड़े चोरी की इस वारदात को अंजाम दिया गया था। लिहाजा पुलिस के पास सुराग के तौर पर सबसे बड़ा सबूत है वो सीसीटीवी फुटेज जिसमें 6 से 7 हथियारबंद अपराधी नजर आए हैं। इसके अलावा पुलिस के पास यह भी जानकारी है कि इस अपराध को 18-25 वर्ष के अपराधियों ने अंजाम दिया है। कहा जा रहा है कि इस चोरी में नए अपराधियों के अलावा कुछ पुराने शातिर अपराधी भी शामिल हैं।

3 आरोपियों की हो चुकी है पहचान: पुलिस को घटनास्थल के पास से जो सीसीटीवी फुटेज मिले हैं उसमें कई अपराधियों के चेहरे ठीक से पहचान में नहीं आ रहे हैं। लेकिन कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा जा रहा है कि इनमें से 3 अपराधियों के चेहरे को पुलिस ने काफी हद तक पहचान लिया है। कहा यह भी जा रहा है कि बिहार में यह सोने की सबसे बड़ी चोरी है और इसके तार हाजीपुर जेल से जुड़े हो सकते हैं।

आपको बता दें कि इस मामले में अब तक किसी भी अपराधी को पकड़ने में पुलिस को सफलता हाथ नहीं लगी है। लेकिन चूकि मामले के तार जेल में बंद कुछ अपराधियों से जुड़ते नजर आ रहे हैं लिहाजा पुलिस इस सबसे बड़े कांड की बारिकी से जांच करना चाहती है। इससे पहले इसी साल बिहार के ही मुजफ्फरपुर में 32 किलो सोने की लूट हुई थी। इस मामले में पुलिस ने कार्रवाई करते हुए 7 अपराधियों को पकड़ा था। (और…CRIME NEWS)

Next Stories
1 सरकारी डॉक्टर के Login-Password से लगाया फर्जी आयुष्मान कैंप, फ्री वाले कार्ड के वसूल रहे थे 700 रुपए, यूं पकड़े गए
2 फर्जी लॉटरी से भारतीयों को ठग पाकिस्तान भेजते थे पैसा, टेरर फंडिंग के शक में UP STF ने दो बदमाशों को धर दबोचा
3 म्यूजियम में फिल्म ‘धूम 2’ स्टाइल में हुई सबसे बड़ी चोरी, प्रबंधन ने कहा – बेशकीमती गहनों को बेचना नामुमकिन
यह पढ़ा क्या?
X