ताज़ा खबर
 

हमारे 4 अधिकारी तो छिप कर बैठे हैं कैसे जांच करें? DGP गुप्तेश्वर पांडे बोले- रिया मुंबई पुलिस के संपर्क में हो सकती है हम नहीं जानते

उन्होंने कहा है कि 'हमलोगों ने बीएमसी से आग्रह किया कि विनय तिवारी को क्वारन्टीन से बाहर निकाला जाए...हमने उनसे कहा कि कम से कम उन्हें वापस भेज दीजिए वो एक आईपीएस अधिकारी हैं'

sushant singhr rajput, rhea chakrabortyगुप्तेश्वर पांडे ने कहा कि वो यहां तक कि हमें रिया चक्रवर्ती की तलाश है।

‘रिया मुंबई पुलिस के संपर्क में हो सकती है, हमारे 4 अधिकारी तो छिपे हुए हैं कैसे जांच करें?’..सुशांत सिंह राजपूत की मौत के मामले में पटना में एफआईआर दर्ज होने के बाद यहां के डीजीपी गुप्तेश्वर पांडेय इस मामले की जांच को लेकर काफी सक्रिय हो गए हैं। न्यूज एजेंसी ‘ANI’ की रिपोर्ट के मुताबिक आज उन्होंने कहा कि ‘रिया चक्रवर्ती हमारे संपर्क में नहीं हैं…वो फरार हैं…वो सामने नहीं आ रही हैं…वो मुंबई पुलिस के संपर्क में हो सकती हैं लेकिन हमें इसके बारे में भी पता नहीं है।

इस मामले की जांच के लिए मुंबई गए पटना सिटी एसपी विनय तिवारी को जांच शुरू करने से पहले मुंबई में क्वारन्टीन किये जाने के मसले पर डीजीपी गुप्तेश्वर पांडे पहले भी कड़ी प्रतिक्रिया दे चुके हैं। अब उन्होंने कहा है कि ‘हमलोगों ने बीएमसी से आग्रह किया कि विनय तिवारी को क्वारन्टीन से बाहर निकाला जाए…हमने उनसे कहा कि कम से कम उन्हें वापस भेज दीजिए वो एक आईपीएस अधिकारी हैं…यह कोई प्रोफेशनल व्यवहार नहीं है…इस अधिकारी को ऐसे रखा गया है जैसे कि उन्हें गिरफ्तार किया गया हो…

‘आज तक’ की रिपोर्ट के मुताबिक डीजीपी ने आगे यह भी कहा कि पटना पुलिस मुंबई में कैसे आगे जांच करेगी क्योंकि हमारे 4 अधिकारी तो छुप कर बैठे हुए हैं क्वरानटीन हो जाने के डर से। रिया चक्रवर्ती मुंबई पुलिस के संपर्क में हो सकती हैं मगर पटना पुलिस के संपर्क में नहीं है…हम उनकी तलाश कर रहे हैं।’

सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में केस को पटना में दर्ज केस को मुंबई ट्रांसफर करने की मांग वाली रिया चक्रवर्ती की याचिका पर बुधवार (05-08-2020) को सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई हुई। सुनवाई के दौरान सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि सीबीआई जांच की बिहार सरकार की सिफारिश को केंद्र सरकार ने स्वीकार कर लिया है। न्यायमूर्ति ऋषिकेश रॉय की पीठ ने कहा कि अभिनेता की मौत के मामले में सच्चाई सामने आनी चाहिए।

रिया चक्रवर्ती की याचिका पर सुनवाई के दौरान महाराष्ट्र सरकार ने अपना पक्ष रखते हुए सुप्रीम कोर्ट से कहा कि इस केस में एफआईआर दर्ज करना और जांच करना बिहार पुलिस के क्षेत्राधिकार में नहीं आता है। इसे राजनीतिक केस बना दिया गया है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा इसके बावजूद कि मुंबई पुलिस की पेशेवर प्रतिष्ठा अच्छी है, बिहार पुलिस ऑफिसर को क्वारंटाइन करने से अच्छा संदेश नहीं गया है।

सुप्रीम कोर्ट ने मुंबई पुलिस से 3 दिन में जवाब मांगा है। सुप्रीम कोर्ट ने कहा कि मुंबई पुलिस बताए कि उसने सुशांत राजपूत की मौत की जांच में अब तक क्या किया है। कोर्ट ने केंद्र सरकार, बिहार सरकार और सुशांत के पिता को भी मामले में अपनी रिपोर्ट देने का आदेश दिया। अदालत ने याचिकाकर्ता रिया चक्रवर्ती की गिरफ्तारी पर रोक के मुद्दे पर कुछ नहीं कहा। इसके साथ ही कोर्ट ने मामले की सुनवाई अगले सप्ताह तक के लिए स्थगित कर दी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिहार: पंचायत समिति के सदस्य के पति को गैर महिला के साथ रंगेहाथ पकड़ा, दोनों को रस्सी से बांध सिर मुंडा फिर जमकर पीटा; वीडियो वायरल
2 बिहार में डबल मर्डर के बाद बवाल! लोगों ने आरोपी के घर और वाहन में लगाई आग, भारी पुलिस बल तैनात
3 जम्मू कश्मीर: 370 हटने की पहली बरसी! आतंकियों ने BJP से जुड़े पंच को मारी गोली, पुलिस पोस्ट पर फेंका ग्रेनेड
IPL 2020 LIVE
X