ताज़ा खबर
 

Delhi: शादी कराने के लिए तैयार नहीं हुए प्रेमिका के नेत्रहीन माता-पिता, MBA युवक ने चाकू से गोद-गोदकर मार डाला

पुलिस का दावा है कि पीड़ित नेत्रहीन दंपती ने अपनी बेटी की शादी आरोपी विशाल सिंह से करने से इनकार किया तो वह नाराज हो गया। कथित तौर पर आरोपी ने उनकी हत्या कर दी।

Author दिल्ली | June 24, 2019 2:10 PM
प्रतीकात्मक फोटो (फोटो सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

दिल्ली के मोहन गार्डन इलाके में नेत्रहीन दंपती की हत्या के मामले में पुलिस ने एक एमबीए ग्रैजुएट युवक को गिरफ्तार किया है। पुलिस का दावा है कि वह मृतक दंपती की बेटी का प्रेमी है और दंपती के शादी से इनकार करने पर उसने इस वारदात को अंजाम दे दिया। फिलहाल आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है और उससे पूछताछ की जा रही है।

आरोपी की पहचान विशाल सिंह (30) के रूप में हुई है। वह एमबीए ग्रैजुएट है। पुलिस का दावा है कि नेत्रहीन दंपती की बेटी से विशाल प्यार करता था, लेकिन दंपती अपनी बेटी की शादी उससे करने के लिए तैयार नहीं हुए। ऐसे में उसने गुस्से में आकर उनका कत्ल कर दिया। पुलिस ने आरोपी के कपड़ों से खून के निशान मिटाने वाले शख्स को भी गिरफ्तार कर लिया है।

National Hindi News, 24 June 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

पुलिस के मुताबिक, आरोपी विशाल हरिबल्लाह और शांति की बेटी से शादी करना चाहता था, लेकिन दंपती ने इससे इनकार कर दिया। उन्हें शक था कि विशाल पहले से शादीशुदा है। डीसीपी द्वारका एंटो अल्फोंसे के मुताबिक, दंपती ने अपनी बेटी की शादी कहीं और तय करने की तैयारी शुरू कर दी थी, जिससे विशाल भड़क गया। ऐसे में उसने प्रेमिका के माता-पिता को ठिकाने लगाने की योजना बनाई, जिसके बाद वह लड़की से शादी कर सके।

शनिवार (22 जून) को जब दंपती की बेटी व नाबालिग बेटा घर से चले गए, तब विशाल वहां पहुंचा और उसने नेत्रहीन दंपती पर हमला कर दिया। वह किचन से चाकू निकालकर लाया और उन्हें गोद-गोदकर मार डाला। इसके बाद उसने घर में रखे 1.4 लाख रुपए उठा लिए और फरार हो गया। वारदात को अंजाम देने के बाद उसने खून से सने अपने कपड़े साफ करने के लिए संतोष राय (40) को दे दिए।

Bihar News Today, 24 June 2019: बिहार से जुड़ी हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

पुलिस के मुताबिक, विशाल मूलरूप से ग्वालियर का रहने वाला है। वह करीब 3 साल पहले नौकरी की तलाश में दिल्ली आया था और बतौर कैब ड्राइवर व प्रॉपर्टी डीलर काम करने लगा। इसके बाद उसे एक ई-कॉमर्स कंपनी में नौकरी मिल गई। पुलिस के मुताबिक, वह पीड़ित दंपती की बेटी से करीब एक साल पहले मिला था। कुछ समय बाद दोनों ने साथ रहना शुरू कर दिया था। डीसीपी ने बताया कि वह पुलिस की जांच पर नजर रखे हुए था। विशाल का कहना था कि वारदात के वक्त वह घर में नहीं था, लेकिन क्राइम सीन देखकर अंदाजा लग रहा था कि आरोपी घर की हर चीज से काफी अच्छी तरह वाकिफ था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App