scorecardresearch

महिलाओं की सुरक्षा में नाकाम दिल्ली! अनलॉक होते ही बढ़े रेप केस, छेड़छाड़ के मामले भी 20 फीसदी ज्यादा

दिल्ली में पिछले साल की तुलना में रेप और छेड़छाड़ के मामले में वृद्धि हुई है। यह वृद्धि कोरोना काल के बाद हुए अनलॉक के बाद देखी गई है।

महिलाओं की सुरक्षा में नाकाम दिल्ली! अनलॉक होते ही बढ़े रेप केस, छेड़छाड़ के मामले भी 20 फीसदी ज्यादा
दिल्ली में रेप और छेड़छाड़ के मामले बढ़े (प्रतीकात्मक फोटो- इंडियन एक्सप्रेस)

कोरोना के बाद अनलॉक होते ही राजधानी में एक बार फिर से महिलाओं के खिलाफ अपराध बढ़ने लगा है। कई मामलों में 6-20 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। दिल्ली पुलिस के आंकड़ों के अनुसार अनलॉक होने के बाद छेड़छाड़ और रेप के मामले में 20 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

टीओआई के अनुसार दिल्ली पुलिस ने 31 अक्टूबर 2020 तक दुष्कर्म के 1,429 मामले दर्ज किए थे, जबकि इस साल अक्टूबर तक ही 1725 केस दर्ज हो चुके हैं। छेड़छाड़ के मामले में 20.44 प्रतिशत की वृद्धि हुई है। इस साल अक्टूबर तक 2157 छेड़छाड़ के केस दर्ज किए गए हैं, जबकि पिछले साल 1791 मामले दर्ज हुए थे।

पुलिस सूत्रों की माने तो आंकड़ों में यह वृद्धि कोरोना के बाद शहर के अनलॉक होने के बाद हुई है। पिछले साल कोरोना के कारण लगे लॉकडाउन में 2019 की तुलना में रेप के मामले में 28 प्रतिशत की गिरावट हुई थी। इसी तरह छेड़छाड़ के मामलों में भी 32.19 प्रतिशत की गिरावट हुई थी।

2019 में जनवरी और दिसम्बर के बीच 2168 रेप के केस दर्ज किए गए थे। जो पिछले साल 21 प्रतिशत गिरकर 1699 रहा। 2020 में, महिलाओं के अपहरण और घर से भाग जाने के 2344 संयुक्त मामले दिल्ली में दर्ज किए गए थे। इस साल ऐसे 3,342 मामले दर्ज किए गए हैं। शील भंग के तहत दर्ज मामलों में भी 6.5 फीसदी की वृद्धि हुई है। पिछले साल 350 मामलों के मुकाबले, इस साल 373 मामले दर्ज किए गए हैं।

आंकड़ों के अनुसार, 97 प्रतिशत से अधिक मामलों में आरोपी पीड़ितों के परिचित थे, जबकि अजनबियों द्वारा बलात्कार के लगभग 2 प्रतिशत मामले सामने आए हैं। दिल्ली पुलिस कमिश्नर राकेश अस्थाना ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों से महिलाओं के खिलाफ अपराधों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति अपनाने को कहा है।

उनकी तरफ से सभी जिला डीसीपी को कहा गया है कि वे बलात्कार के मामलों में सीधे तौर पर जांच की निगरानी करें और उन मामलों पर अतिरिक्त ध्यान दें जहां पीड़ित नाबालिग हैं। अधिकारियों ने कहा कि उन क्षेत्रों का नक्शा बनाने के लिए एक अध्ययन किया गया है जहां महिलाओं के खिलाफ अधिक अपराध की सूचना मिली है और कार्रवाई की जा रही है।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 09-11-2021 at 09:55:08 am
अपडेट