ताज़ा खबर
 

सरकारी डॉक्टर के Login-Password से लगाया फर्जी आयुष्मान कैंप, फ्री वाले कार्ड के वसूल रहे थे 700 रुपए, यूं पकड़े गए

राजकोट में फर्जी आयुष्मान कार्ड को जारी करने के आरोप में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। वहीं छापे के बाद तीन लोगों के फरार होने की भी खबर सामने आई है।

Author राजकोट | Published on: November 26, 2019 2:36 PM
प्रतीकात्मक फोटो (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

गुजरात के राजकोट में आयुष्मान भारत प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजना के तहत फर्जी स्वास्थ्य कार्ड जारी करने के आरोप में छह लोगों को गिरफ्तार किया गया है। पुलिस ने सोमवार (25 नवंबर) को यह जानकारी दी है। मामले में एक अधिकारी ने बताया कि आरोपी ने राजकोट के एक सरकारी स्कूल में एक शिविर का आयोजन किया था। इसके बाद लोगों को फर्जी कार्ड जारी किए गए और उनसे 700 रुपए शुल्क के तौर वसूला गया। मामले के सामने आते ही पुलिस मौके पर पहुंची लेकिन तब तक आरोपी फरार हो चुके थे। बता दें कि आयुष्मान भारत योजना एक हेल्थ स्कीम है जिसके तहत देश के गरीब लोग बड़े अस्पतालों में भी इलाज कराने की सुविधा पाएंगे। मामले की जांच चल रही है।

क्या है पूरा मामलाः मामले में एक अधिकारी ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर राजकोट नगर निगम के स्वास्थ्य समिति के अध्यक्ष जैमीन ठकर ने संबंधित स्थल पर छापा मारा और पुलिस को फोन किया। राजकोट के पुलिस आयुक्त मनोज अग्रवाल ने कहा, ‘आरोपी प्रत्येक व्यक्ति से इस कार्ड के लिए 700 रुपए ले रहे थे और भरूच के एक सरकारी डॉक्टर केशव कुमार के लॉगइन और पासवर्ड का इस्तेमाल कर रहे थे।’ उन्होंने कहा कि छापे के बाद से तीनों आरोपी फरार हैं और इसकी जांच के लिए विशेष ऑपरेशन ग्रुप टीम का गठन किया गया है।

Hindi News Today, 26 November 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

कई अन्य मामलेः ऐसा ही एक मामला सामने आया है जहां उत्तर प्रदेश के गाजीपुर में आयुष्मान भारत योजना के तहत जिला अस्पताल की आइडी से कई इलाकों में हजारों अपात्रों का आयुष्मान कार्ड बनाया गया है। बता दें कि इसका खुलासा होने के बाद पीएमएएम आइडी को ब्लाक कर जांच शुरू हो किया गया है। इसके साथ कानपुर में भी लाला लाजपत राय अस्पताल में उचें दर पर इंजेक्शन को खरीदने का मामला सामने आया है। 135 रुपये में उपलब्ध इंजेक्शन को बाहर से 1456 रुपये में खरीदा गया और इसका भुगतान किया गया। मामले की जांच पुलिस कर रही है।

आयुष्मान भारत प्रधान मंत्री जन आरोग्य योजनाः बात दें यह योजना केंद्र सरकार द्वारा एक हेल्थ स्कीम है जो गरीबों के लिए लागू किया गया है। इस योजना के तहत गरीब बड़े अस्पतालों में भी अपना इलाज करवा सकते हैं। इस योजना के कई फायदें हैं। इस योजना के तहत आने वाले लोगों को इलाज के दौरान पैसे नहीं देने होते हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 फर्जी लॉटरी से भारतीयों को ठग पाकिस्तान भेजते थे पैसा, टेरर फंडिंग के शक में UP STF ने दो बदमाशों को धर दबोचा
2 म्यूजियम में फिल्म ‘धूम 2’ स्टाइल में हुई सबसे बड़ी चोरी, प्रबंधन ने कहा – बेशकीमती गहनों को बेचना नामुमकिन
3 श्रीलंका: कभी राष्ट्रपति के खिलाफ अपनी जांच से इस जासूस ने फैलाई थी सनसनी, नई सरकार बनने के बाद मिली धमकी, देश छोड़ कर भागा
ये पढ़ा क्या?
X