scorecardresearch

इंस्टाग्राम पर अमीरी दिखाना युवक को पड़ा भारी, अपहरण के बाद मांगी गई एक करोड़ की फिरौती; मास्टरमाइंड गिरफ्तार

Rajasthan: अनमोल नाम का युवक अक्सर इंस्टाग्राम पर अपनी अमीरी का दिखावा करता रहता था। ऐसे में अपहरणकर्ताओं ने उसे अमीर व्यापारी का बेटा समझ अगवा कर लिया था। हालांकि, अपहरण के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर लिया गया है।

Rajasthan | anmol arora kidnapping case | Man flaunts wealth on Instagram | Dausa | kidnapped due to Instagram post
प्रतीकात्मक तस्वीर। (Photo Credit – Indian Express)

राजस्थान में एक युवक को सोशल मीडिया पर अमीरी दिखाना भारी पड़ गया। मामला बीते महीने का है जिसमें एक युवक का अपहरण कर लिया गया था। फिर परिजनों से 1 करोड़ की फिरौती मांगी गई थी। इस मामले में अब पुलिस ने अपहरण के मास्टरमाइंड को गिरफ्तार कर कई खुलासे किए हैं। वहीं, दिनदहाड़े अपहरण करने के आरोप में पांच लोगों के खिलाफ मामला भी दर्ज किया है।

राजस्थान के बांदीकुई में बीते महीने एक युवक के दिनदहाड़े अपहरण करने के मामले में पुलिस ने खुलासा किया है। दौसा पुलिस ने बताया कि अनमोल अरोड़ा नाम के युवक को बांदीकुई से अगवा कर लिया गया था, जिसे बाद में पुलिस ने सीकर जिले से बचाया था। इस मामले में अनमोल के परिजनों से एक करोड़ की फिरौती मांगी गई थी। हालांकि, पुलिस ने अपहरण की जो वजह बताई वह हैरान करने वाली रही।

पुलिस के मुताबिक, अनमोल अक्सर सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म इंस्टाग्राम पर अपनी दौलत का दिखावा करता था, जिससे अपहरणकर्ताओं को लगता था कि पीड़िता एक अमीर व्यापारी का बेटा है। हाथ में आईफोन पकड़े हुए तस्वीरें पोस्ट करने से लेकर कैश का वीडियो शेयर करने तक, अनमोल ने फोटो शेयरिंग एप्लिकेशन इंस्टाग्राम पर कई तस्वीरें पोस्ट की थीं।

यहां तक कि अनमोल ने एक कथित फर्जी स्क्रीनशॉट भी सोशल मीडिया पर साझा किया था, जिसमें कहा गया था कि उसके बैंक खाते में करीब छह लाख रुपये हैं। लेकिन अनमोल ने कभी नहीं सोचा था कि उसकी इन पोस्ट की वजह से किसी दिन उसका खुद का अपहरण हो जाएगा। पुलिस ने बताया है कि वारदात के मास्टरमाइंड की पहचान विवेक चतुर्वेदी के रूप में हुई है और उसे गिरफ्तार कर लिया गया है।

पुलिस के अनुसार, इस मामले में अभी चार और लोगों की गिरफ्तारी होनी बाकी है। मामले की जांच में पुलिस को यह भी पता चला कि गिरोह के एक अन्य सदस्य सिद्धार्थ सैनी ने एक कार किराये पर लेकर नंबर प्लेट बदल दी थी। उस समय वह किसी दूसरे व्यापारी के बेटे का अपहरण करने की योजना बना रहा था। किसी कारण के चलते जब वह अपनी योजना में असफल हो गया तो उसने अपने इंस्टाग्राम पर अनमोल की पोस्ट देखी।

इसी के बाद उसने अनमोल का अपहरण करने का फैसला किया और फिर घटना को अंजाम देकर उसके परिवार से 1 करोड़ रुपये की फिरौती भी मांगी। दौसा पुलिस अधिकारी राजकुमार गुप्ता ने कहा कि, अनमोल अरोड़ा के अपहरण मामले में सरगना विवेक चतुर्वेदी को गिरफ्तार कर लिया है। अन्य आरोपियों को गिरफ्तारी के प्रयास जारी हैं। उन्होंने बताया कि सरगना विवेक आईपीएल सट्टेबाजी में भी शामिल था।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X