राजस्थान: सैलरी मांगने पर दलित युवक को जिंदा जला कर डेड बॉडी फ्रिजर में डाला, BJP अध्यक्ष बोले – ऐसा लगता है हम सोमालिया में रहते हैं कोई लॉ एंड ऑर्डर नहीं है

इस मामले में कमल किशोर के भाई रूप सिंह ने कैराथल पुलिस स्टेशन में जाकर केस दर्ज कराया था। उन्होंने अपने भाई को जिंदा जला देने की बात अपनी एफआईआर में कही है।

FIRE, ALWAR, RAJASTHAN
इस मामले के 2 आरोपी अभी पुलिस की पकड़ से बाहर हैं। प्रतीकात्मक तस्वीर।

राजस्थान में दलित युवक को जिंदा जलाने के मामले में अब भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने राज्य की अशोक गहलोत सरकार पर जुबानी हमले तेज कर दिये हैं। बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने सोमवार (26-10-2020) को इस मामले पर ट्वीट कर लिखा कि ‘ऐसा लगता है जैसे हम अफ्रीका के सोमालिया में रहते हैं,,,कोई लॉ एंड ऑर्डर है ही नहीं। क्या मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पद पर बने रहने का कोई अधिकार है।’ बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष ने अपने ट्वीट में #CrimeCapitalRajasthan का भी इस्तेमाल किया।

दलित युवक की हत्या के मामले में अब तक जो जानकारी सामने आई है उसके मुताबिक यह युवक शराब की दुकान में बतौर सेल्समैन काम करता था। बताया जा रहा है कि उसे 5 महीने से सैलरी नहीं मिली थी और सैलरी मांगने पर उसे जिंदा जला दिया गया। मृतक कमल किशोर की डेड बॉडी बाद में शराब दुकान के अंदर रखे फ्रीजर से बरामद की गई थी।

इस मामले में कमल किशोर के भाई रूप सिंह ने कैराथल पुलिस स्टेशन में जाकर केस दर्ज कराया है। उन्होंने अपने भाई को जिंदा जला देने की बात अपनी एफआईआर में कही है। इस मामले में शराब के कॉनट्रैक्टर सुभाष औऱ राकेश यादव को आरोपी बनाया गया है जो अभी फरार बताए जा रहे हैं।

पुलिस ने जानकारी दी है कि 22 साल के कमल किशोर अलवर के झडका गांव के रहने वाले थे। शनिवार रात को जलने की वजह से उनकी मौत हुई है। पुलिस ने बताया है कि फॉरेंसिक टीम ने घटनास्थल का मुआयना कर जरुरी सबूत भी जुटाए हैं। मृतक के भाई के मुताबिक कमलकिशोर को 5 महीने से सैलरी नहीं मिली थी। शनिवार की शाम घर लौटने के बाद कॉन्ट्रैक्टर और उसके कुछ सहयोगी घर आए थे और उन्हें अपने साथ लेकर गए थे।

उनका आरोप है कि देर रात पेट्रोल डाल कर शराब की दुकान ममें आग लगा दी गई और उनके भाई इसी दुकान के अंदर थे। रविवार की सुबह दुकान का शटर तोड़ा गया जिसके बाद फ्रिजर के अंदर से उनकी लाश मिली। इस मामले में मृतक के परिजनों ने आरोपियों पर कार्रवाई को लेकर हंगामा भी किया। बहरहाल अब पुलिस मामले में आगे की छानबीन कर रही है।

अपडेट