ताज़ा खबर
 

राजबल्लभ यादव: ड्राइवर का नाखून नोचा, नाबालिग से लगा दुष्कर्म का आरोप तो RJD ने निकाल दिया, राबड़ी देवी पत्नी को जिताने लिए मांगने लगीं वोट

यहां आपको बता दें कि राजबल्लभ बिहार के पहले ऐसे विधायक हैं, जिन्हें पद पर रहते हुए दोषी करार दिया गया है।

rabri devi, bihar election, bihar election 2020राजबल्लभ यादव राबड़ी राज में मंत्री पद पर थे।

बिहार में यूं तो बाहुबलियों की कोई कमी नहीं है। लेकिन आज हम जिस खास शख्सियत की बात कर रहे हैं उनके बारे में कहा जाता है कि जब वो लालू-राबड़ी राज में मंत्री थे तब ही उन्हें बाहुबली का उपनाम मिला था। जी हां, आज हम बात कर रहे हैं राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के पूर्व विधायक राजबल्लभ यादव की। लालू प्रसाद यादव की पार्टी में राजबल्लभ यादव की अपनी एक अलग पहचान शुरू से ही रही है। दंबग, बाहुबली यह सभी शब्द राजबल्लभ यादव के नाम के आगे तब जुड़े जब वो लालू-राबड़ी राज में मंत्री पद की शोभा बढ़ा रहे थे।

राबड़ी देवी जब बिहार की मुख्यमंत्री थीं तब राजबल्लभ यादव कैबिनेट में थे और उनपर आरोप लगा था कि उन्होंने अपने ड्राइवर का नाखून नोंचा और उसे एक दर्दनाक मौत दी है। लेकिन कहा जाता है कि उस वक्त राजबल्लभ यादव के रसूख के आगे यह आरोप कहीं मायने नहीं रखते थे और यहीं वजह थी कि इस मामले को पुलिस ने बड़ी ही खामोशी से रफा-दफा कर दिया। इस मामले में राजबल्लभ यादव का बाल भी बांका ना हो सका लेकिन उनकी छवि बाहुबली की जरुर बन गई।

लेकिन साल 2016 राजबल्लभ यादव की राजनीति करियर का शायद सबसे बुरा साल साबित हुआ। इसी साल 9 फरवरी को 15 साल की एक लड़की ने राजद विधायक राजबल्लभ यादव पर उसके साथ दुष्कर्म करने का आऱोप लगाया। लड़की ने बताया कि सुलेखा नाम की एक महिला जन्मदिन की पार्टी में ले जाने का बहाना बनाकर उसे राजबल्लभ के घर ले गई थी और वहां दबंग राजबल्लभ ने रात भर जबरन गंदी फिल्में दिखाकर उनके साथ दुष्कर्म किया।

इस मामले के सामने आने के बाद हंगामा मच गया। 15 फरवरी, 2016 को व्यवहार न्यायालय ने विधायक राजबल्लभ प्रसाद के खिलाफ सर्च वारंट जारी कर दिया। राजबल्लभ यादव फरार हो गए। 23 दिनों तक फरार रहने के बाद 10 मार्च, 2016 को राजबल्लभ यादव ने कोर्ट में सरेंडर कर दिया।

हंगामा मचने के बाद राजद ने राजबल्लभ यादव को पार्टी से निकाल दिया। इधर रेप के इस मामले में राजबल्लभ को अदालत ने दोषी करार दे दिया। उन्हें आजीवन कारावास की सजा हुई। यहां आपको बता दें कि राजबल्लभ बिहार के पहले ऐसे विधायक हैं, जिन्हें पद पर रहते हुए दोषी करार दिया गया है। इससे पहले 90 के दशक में विधायक रहते हुए योगेंद्र सरकार पर रेप का आरोप लगा था…लेकिन जब तक सजा सुनाई जाती, वो विधायक से पूर्व विधायक हो गए थे। इस तरह से राजबल्लभ पहले ऐसे विधायक हो गए, जिन्हें पद पर रहते हुए दोषी करार दिया गया है।

राजबल्लभ यादव से नजदीकी की वजह से राजद के बड़े नेताओं की काफी किरकिरी भी हुई। हालांकि साल 2019 में लोकसभा चुनाव के दौरान जब विधानसभा के उपचुनाव हो रहे थे तब राबड़ी देवी राजबल्लभ यादव की पत्नी विभा के लिए वोट मांगती नजर आईं। राजद ने विभा को प्रत्याशी बनाया था।

नवादा में उस वक्त एक मंच पर राबड़ी देवी ने कहा था कि ‘सभी लोगों से मेरी अपील रहेगी, जिस तरह राज बल्लभ जी को ये लोग फंसाने का काम किए, जेल भेजने का काम किए और यादवों को बदनाम करने का काम किया गया। विभा देवी राजद की प्रत्याशी हैं, आप विभा देवी को जिताने का काम करिएगा और इन लोगों को जवाब दीजिएगा।’

Next Stories
1 हाथरस केस: योगी सरकार का आदेश- पीड़िता के परिजनों और पुलिस अधिकारियों का होगा नारको टेस्ट, SP, DSP हो चुके हैं सस्पेंड
2 मध्य प्रदेश: दलित गैंगरेप पीड़िता ने की सुसाइड, परिजनों का आरोप- थाने में नहीं लिखी शिकायत, पैसे भी मांगे
3 यूपी: ‘ऐसा दंड मिलेगा जो उदाहरण प्रस्तुत करेगा’, हाथरस पर हंगामे के बीच CM योगी आदित्यनाथ ने किया ट्वीट; DM, SP पर भी गिर सकती है गाज
ये पढ़ा क्या?
X