scorecardresearch

28 साल का एक कुख्यात गैंगस्टर जिसे दोस्तों ने ही उतार दिया था मौत के घाट

गैंगस्टर सुक्खा काहलवां पर साल 2000 से 2015 के बीच गैंगस्टर एक्ट के अलावा 60 से अधिक संगीन जुर्मों के केस दर्ज थे।

gangster sukha kahlon, punjab, sharp shooter
सुक्खा काहलवां को पंजाब का सबसे खतरनाक शार्प शूटर माना जाता था।। (Photo Credit – Social Media)

पंजाब के एक कम उम्र के गैंगस्टर सुक्खा काहलवां का आतंक प्रदेश के बाहर हरियाणा, राजस्थान, दिल्ली से पश्चिम बंगाल तक फैला हुआ था। 15 साल के आपराधिक इतिहास में इस गैंगस्टर के ऊपर 60 से अधिक संगीन जुर्मों के मामले दर्ज थे। सुक्खा का पूरा नाम सुखविंदर सिंह काहलवां था और उसे पंजाब का सबसे खतरनाक शार्प शूटर माना जाता था।

पंजाब के कपूरथला के काहलवां गांव में 21 जून 1987 को जन्मे सुखविंदर के माता-पिता चाहते थे कि वह ठीक से पढ़-लिख ले, ताकि उसे अमेरिका ले जा सके। बताया जाता है कि सुखविंदर के पिता काफी दिनों से अमेरिका में रह रहे थे। लेकिन पढ़ाई के दौरान छोटे-मोटे झगड़ों से कब वह अपराध की दुनिया में दाखिल हुआ, परिवार को भनक तक नहीं लगी। 17 साल का हुआ तो उसके ऊपर पहला आपराधिक मामला दर्ज हो गया।

सुखविंदर के पिता को पता चला तो उनका सपना टूट गया और वह सुखविंदर को भाई सोनू के साथ उसकी मौसी के यहां छोड़कर परिवार के साथ विदेश चले गए। यही वह समय था जब सुखविंदर के संपर्क इलाके के बदमाशों से स्थापित हो गए। थोड़े ही दिनों में उसने पंजाब से लेकर राजस्थान तक ताबड़तोड़ वारदातों को अंजाम दिया। साल 2005-2006 तक उसके ऊपर एक दर्जन से ज्यादा हत्याओं के केस दर्ज थे। लोग अब सुखविंदर को सुक्खा नाम से जानने लगे थे और अब वह अपनी गैंग के साथ काम करता था।

सुक्खा ने साल 2008 में अपनी प्रेमिका से शादी कर ली। शादी के कुछ दिनों बाद ही कई आपराधिक मामलों में घिरे होने के बाद भी वह ऑस्ट्रेलिया चला गया। हालांकि, सुक्खा को विदेश ज्यादा रास नहीं आया और थोड़े दिनों बाद ही वापस लौट आया। देश वापस लौटा तो उसने जालंधर के स्पीड फंड एकेडमी में कोच और दोस्त रहे लवली बाबा की साल 2010 में किन्ही कारणों से हत्या कर दी, इसके बाद वह जेल चला गया। जेल जाने के बाद सुक्खा की निजी जिंदगी भी प्रभावित हुई और वह 2014 में अपनी पत्नी से अलग हो गया।

लवली बाबा की मौत के बाद उसके दोस्त विक्की गौंडर और प्रेम लाहोरिया ने सुक्खा को मारने का प्रण कर लिया था। ये वही विक्की और प्रेम लाहोरिया थे, जो कभी लवली बाबा और सुक्खा के दोस्त थे और हाईवे पर लूट को अंजाम देते थे। ऐसे में जब साल 2015 के जनवरी महीने में सुक्खा को जालंधर कोर्ट में पेशी के लिए ले जाया जा रहा था, तभी विक्की और प्रेम ने सुक्खा की गाड़ी पर भीषण गोलीबारी की, जिसमें सुक्खा की मौत हो गई।

पंजाब का कुख्यात गैंगस्टर सुक्खा काहलवां साल 2000 से 2015 तक हत्या, लूटपाट, डकैती, फिरौती, हत्या की साजिश और गैंगवार जैसे कई आपराधिक कृत्यों में शामिल रहा था। सुक्खा पर गैंगस्टर एक्ट के अलावा 60 से अधिक संगीन जुर्मों के केस दर्ज थे। इनमें से कुछ मामले ऐसे भी थे, जिनमें किसी ने गवाही ही नहीं दी थी।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट