ताज़ा खबर
 

साथी के साथ जा रही थी गर्भवती लड़की, तलवार से हमला कर किया गैंगरेप, गर्भ में मर गया बच्चा, लड़के ने पेड़ से झूल कर दे दे जान

इस मामले में पुलिस ने गैंगरेप, अपहरण, आत्महत्या के लिए उकसाने और एससी/एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है।

Author August 13, 2019 11:33 AM
पीड़िता ने इस मामले में थाने में केस दर्ज नहीं कराया था। प्रतीकात्मक तस्वीर।

राजस्थान में एक गर्भवती युवती से गैंगरेप किये जाने का मामला सामने आया है। बड़ी हैरानी की बात है कि पीड़िता ने इस बारे में पुलिस के पास शिकायत भी नहीं दर्ज कराई थी। दरअसल पुलिस पीड़िता युवती के प्रेमी की मौत की जांच करते-करते इस मामले की तह तक पहुंची और तब जाकर सामूहिक दुष्कर्म के मामले का खुलासा हुआ।

प्रेमी ने कर लिया था सुसाइड: कुछ दिनों पहले राजस्थान के एक गांव में एक युवक की लाश पेड़ से लटकी हुई मिली। युवक की लाश मिलने के बाद इलाके में लोग कई तरह के कयास लगाने लगे। इसके बाद पुलिस ने इस आत्महत्या की जांच के दौरान सुनील नाम के एक शख्स को पकड़ा। जब पुलिस ने सुनील से सख्ती से पूछताछ की तो यह पता चला कि जिस युवक ने सुसाइड किया है उसकी 19 साल की गर्लफ्रेंड के साथ सुनील और उसके 4 साथियों ने गैंगरेप किया था।

13 जुलाई को हुआ गैंगरेप: पुलिस के मुताबिक यह लड़की अपने बॉयफ्रेंड के साथ 13 जुलाई को रात करीब 10 बजे मोटरसाइकिल से जा रही थी। इस दौरान तीन लड़कों- सुनील, विकास और जीतेंद्र ने इन्हें रोका और लड़की के बॉयफ्रेंड के साथ मारपीट शुरू कर दी। तीनों ने मिलकर उसका मोबाइल छिन लिया और उसे वहां से भगा दिया। इसके बाद इन तीनों ने मिलकर लड़की के साथ गैंगरेप किया।

लड़की के गर्भ में पल रहे बच्चे की हुई मौत: बताया जा रहा है कि नशे की हालत में इन तीनों ने लड़की के साथ सामूहिक बलात्कार किया था। इसके बाद वो उसे लेकर सुनील के गांव गए और यहां इन लोगों ने अपने दो और दोस्तों को बुलाया। इन दोनों ने भी लड़की के साथ दुष्कर्म किया। इस दौरान लड़की के गर्भ में पल रहे 8 हफ्ते के बच्चे की मौत भी हो गई।

लज्जित होकर प्रेमी ने कर लिया सुसाइड: इधर लड़की का प्रेमी इन सभी बदमाशों के डर से लौट कर अपने गांव आ गया। इस युवक को बदमाशों ने काफी प्रताड़ित किया था और वो इस बात से काफी लज्जित महसूस कर रहा था कि वो अपनी गर्लफ्रेंड को बदमाशों ने नहीं बचा पाया। डिप्रेशन में आकर आखिरकार उसने पेड़ पर फंदा लगाकर आत्महत्या कर ली।

लड़की ने दर्ज नहीं कराई शिकायत: 14 जुलाई की सुबह करीब 4 बजे यह पांचों लड़की को बदहवास हालत में सड़क पर छोड़ कर फरार हो गए। लेकिन लड़की ने इस घटना के खिलाफ कोई शिकायत दर्ज नहीं कराई। लड़की चुपचाप अपना उपचार करा रही थी और उसने यह बात किसी को नहीं बताई थी।

पीड़िता तक यूं पहुंची पुलिस: गैंगरेप के एक आरोपी जीतेंद्र ने चुराया हुआ मोबाइल अपनी पत्नी को दिया था और जब उसकी पत्नी ने यह मोबाइल फोन ऑन किया तो पुलिस ने उसके लोकेशन का पता लगा लिया। जांच में यह भी पता चला है कि पीड़िता ने 13 जुलाई को अपने प्रेमी को फोन किया था। इसके बाद पुलिस पीड़ित लड़की तक पहुंच गई। पूछताछ में आखिरकार पीड़िता ने पुलिस के सामने सारी सच्चाई बयां कर दी।

सभी आरोपी गिरफ्तार: इस मामले में पुलिस ने गैंगरेप, अपहरण, आत्महत्या के लिए उकसाने और एससी/एसटी एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। पुलिस ने पहले जीतेंद्र को पकड़ा था और फिर बाद में रविवार को बाकी सभी 4 आरोपियों को भी गिरफ्तार कर लिया। (और…CRIME NEWS)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 ‘शारीरीक छेड़छाड़ नहीं पर करते थे खराब कमेंट’, एक्ट्रेस श्वेता तिवारी की बेटी ने इंस्टाग्राम पर बताई पूरी सच्चाई
2 Haryana: लोगों से मिल रही थीं BJP की महिला विधायक, एक शख्स ने पहले समस्या बताई फिर जड़ दिया थप्पड़
3 रेप करने में नाकाम रहा तो महिला को जिंदा जला डाला