ताज़ा खबर
 

तकिए के कवर में लाश के टुकड़े डाल कई जगहों पर फेंका, यूं सुलझा ब्लाइंड मर्डर केस

तीमारपुर इलाके में कई टुकड़ों में एक युवक की लाश मिलने के बाद यहां लोग सन्न रह गए। इलाके के लोग अपनी-अपनी तरह से इस लाश को लेकर कयास लगा रहे थे।

इस केस को सुलझाने के लिए पुलिस के पास कोई सुराग नहीं था। प्रतीकात्मक तस्वीर।

दिल्ली के तीमारपुर इलाके में एक दिन इंसानी जिस्म के टुकड़े मिलने शुरू हुए। कई प्लास्टिक के बैग और तकिए के कवर में यह टुकड़े सड़क पर जहां-तहां फेंके गए थे। जब पुलिस को इन टुकड़ों के मिलने की जानकारी मिली तो उसके भी होश उड़ गए। आज बात एक ऐसे खौफनाक मर्डर केस की जिसके बारे में सुनकर आपके रोंगटे खड़े हो जाएंगे। घटना साल 2017 के मार्च के महीने की है। तीमारपुर इलाके में कई टुकड़ों में एक युवक की लाश मिलने के बाद यहां लोग सन्न रह गए। इलाके के लोग अपनी-अपनी तरह से इस लाश को लेकर कयास लगा रहे थे। इस बीच मामले की तफ्तीश करने पहुंची पुलिस को लाश की शिनाख्त कराने में काफी मशक्कत करनी पड़ी क्योंकि लाश कई टुकड़ों में था। उस वक्त स्थानीय अखबारों और मीडिया में भी इस हत्यकांड की खूब चर्चा हुई थी।

पुलिस के लिए यह केस किसी ‘ब्लाइंड मर्डर केस’ की तरह था। इस हत्याकांड को सुलझाने के लिए पुलिस के पास कोई भी सुराग नहीं था जाहिर है चुनौती काफी बड़ी थी। पुलिस ने इस युवक की पहचान नितिन के तौर पर की थी। इसके बाद पुलिस ने नितिन के दोस्तों के बारे में पता लगाने की कोशिश की तो कई बातों का खुलासा हुआ। पता चला कि नितिन दिल्ली में ही एक मल्टीनेशनल फर्म में काम करता था। पुलिस को जांच के दौरान यह भी पता चला कि नितिन का एक खास दोस्त था जिसका नाम था हैप्पी। यह भी जानकारी मिली की हैप्पी का भाई कई दिनों से लापता है और हैप्पी उसे लेकर काफी परेशान भी रहता है।

पुलिस ने इसके बाद हैप्पी की तलाश की तो पता चला कि नितिन की हत्या के बाद से उसका दोस्त हैप्पी गायब है। इसके बाद पुलिस ने हैप्पी के खास दोस्त पवन को ढूंढ निकाला। पुलिस ने जब शक के आधार पर पवन से पूछताछ की तो शुरुआत में पवन ने पुलिस को बरगलाने की कोशिश की थी लेकिन पुलिसिया सख्ती के आगे वो टूट गया। इसके बाद पवन ने पुलिस के सामने उस वक्त एक खौफनाक कहानी बयां की थी। पवन ने बताया कि हैप्पी का भाई साल 2015 से ही लापता है। हैप्पी इसके लिए नितिन को दोषी मानता था और किसी तरह उससे बदला लेना चाहता था। एक दिन हैप्पी ने पवन के साथ मिलकर प्लान बनाया। 30 मार्च 2017 को हैप्पी ने नितिन को पार्टी के लिए पवन के घर पर बुलाया। यहां इन दोनों ने मिलकर नितिन की बेरहमी से हत्या कर दी और उसके लाश के टुकड़े कर उसे प्लास्टिक के बैग और तकिये के खोल में भरकर इधर-उधर फेंक दिया ताकि पुलिस मरने वाले की पहचान ना कर सके। लेकिन कहते हैं कि जुर्म कभी छिपता नहीं और अपराधी कभी बचता नहीं। पुलिस ने इस ‘ब्लाइंड मर्डर केस’ को सुलझा ही लिया। (और…CRIME NEWS)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App