ताज़ा खबर
 

बिहार: अंडरग्राउंड कातिल का बियाह कराने अगुवा बनकर आती रही पुलिस, 12 दिन बाद यूं दबोच लिया

हत्या के आरोपी को पकड़ने के लिए अगुआ बनी पुलिस ने उसके गांव में जाकर उसके रिश्तेदारों से संपर्क साधा और पवन की शादी की बात चलाई।

हत्या के आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस उसके शादी का प्रस्ताव लेकर पहुंची। प्रतीकात्मक तस्वीर।

5 लोगों को गोली मारने के बाद यह शख्स अंडरग्राउंड हो गया था। उसे दबोचने की तमाम पुलिसिया कोशिशें नाकाम हो रही थीं। लिहाजा पुलिस ने उसे बाहर निकालने के लिए अनोखा प्लान बनाया। पुलिस ने एसआईटी की एक टीम को अगुवा बनाया और हत्यारे की शादी का प्रस्ताव उसके घर पर भेज दिया। एसआईटी की टीम अपनी पहचान बदलकर इस हत्यारे के घर यानी बिहार के आरा जिले के करथ पहुंच गई। हत्यारे के बियाह के सिलसिले में पुलिस को कई बार उसके घर जाना पड़ा लेकिन अंत तक पुलिस का यह भेद नहीं खुला।

कैसे रेल एसआईटी की टीम ने इस हत्यारे को दबोचा? इसकी पूरी कहानी हम आपको आगे बताएंगे लेकिन सबसे पहले आपको बता दें कि आरोपी पवन ने साल 2014 में आरपीएफ ज्वायन किया था। साल 2015 में उसकी पहली पोस्टिंग धनबाद मंडल के बरकाकाना में हुई थी। नौकरी के दौरान ही वो रेलवे के एक कर्मचारी के संपर्क में आया। इस दौरान उसने इस रेलकर्मी की बेटी को अपने प्रेम जाल में फंसा लिया।

आरोप है कि 17 अगस्त 2019 को पवन ने अपने सर्विस रिवॉल्वर से रेलकर्मी के घर में घुसकर पांच लोगों को गोली मार दी। घटना में रेलकर्मी अशोक राम, पत्नी लीलावती देवी और गर्भवती बड़ी बेटी वर्षा देवी की मौत हो गयी थी। रेलकर्मी का बेटे और उसकी बहन को भी उसने गोली मारी थी लेकिन वो दोनों गंभीर रूप से जख्मी हुए थे। घटना के बाद पुलिस ने सर्विस रिवॉल्वर और खून से सने कपड़े मौका-ए-वारदात से बरामद कर लिए गए थे।

इस घटना के बाद से ही पवन कानून की नजरों से बचकर छिपता फिर रहा था। लिहाजा पवन को पकड़ने के लिए इस बार पुलिस ने एक अनूठी प्लानिंग तैयार की। रेल एसपी और भोजपुर जिले के एसपी ने रेल एसआईटी की टीम को अगुआ बनाया और पवन की शादी का प्रस्ताव उसके घर भेज दिया। दिलचस्प बात यह भी है कि पुलिस की इस प्लानिंग के बारे में स्थानीय थाने को भी सूचना नहीं थी।

हत्या के आरोपी को पकड़ने के लिए अगुआ बनी पुलिस ने उसके गांव में जाकर उसके रिश्तेदारों से संपर्क साधा और पवन की शादी की बात चलाई। 12 दिनों तक पुलिस की टीम शादी के सिलसिले में पवन के पिता और अन्य रिश्तेदारों से मिलती रही। शादी की बात सुनकर पवन के घरवालों को जरा भी शक नहीं हुआ। इधर पवन भी अपनी शादी होने की बात से खुश था और एक दिन पुलिस की यह कोशिश रंग लाई।

अपनी शादी होने की बात सुनकर पवन खुद-ब-खुद ही अगुआ बनकर आई पुलिस की टीम के सामने आ गया। उसके ठिकाने का पता चला चलते ही 20 मार्च की देर रात पुलिस ने उसे उसके गांव से ही दबोच लिया। अब पुलिस पवन के खिलाफ आगे की कानूनी कार्रवाई कर रही है।

Coronavirus से जुड़ी जानकारी के लिए यहां क्लिक करें: कोरोना वायरस से बचना है तो इन 5 फूड्स से तुरंत कर लें तौबा | जानिये- किसे मास्क लगाने की जरूरत नहीं और किसे लगाना ही चाहिए |इन तरीकों से संक्रमण से बचाएं | क्या गर्मी बढ़ते ही खत्म हो जाएगा कोरोना वायरस?

Next Stories
1 कोरोना संक्रमित के साथ ले रहे थे सेल्फी, 6 अधिकारी निलंबित
2 VIDEO: अस्पताल से कोराना वायरस टेस्ट किट चुरा ले गया चोर, CCTV कैमरे में कैद वारदात
3 यूपी: छात्रा से गैंगरेप के बाद डाला लोहे का रिंच, पुलिस की कई टीमें जांच में जुटीं
यह पढ़ा क्या?
X