ताज़ा खबर
 

मसाज पार्लर की आड़ में चल रहा था सेक्स रैकेट, वापस भेजी गईं थाइलैंड की 8 लड़कियां

ओडिशा के भुवनेश्वर में मसाज पार्लर की आड़ में देह व्यापार का धंधा चल रहा था। थाईलैंड की 8 लड़कियों पर भी देह व्यापार का धंधा करने का आरोप लगा है। पुलिस के मुताबिक लड़कियां हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट में लिप्त थीं। पुलिस ने छापेमारी कर जिस्मफरोशी में लिप्त आरोपी लड़कियों को दबोचा और 'भारत छोड़ो' का नोटिस थमा दिया।

तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है।

ओडिशा के भुवनेश्वर में मसाज पार्लर की आड़ में देह व्यापार का धंधा चल रहा था। थाईलैंड की 8 लड़कियों पर भी देह व्यापार का धंधा करने का आरोप लगा है। पुलिस के मुताबिक लड़कियां हाईप्रोफाइल सेक्स रैकेट में लिप्त थीं। पुलिस ने छापेमारी कर जिस्मफरोशी में लिप्त आरोपी लड़कियों को दबोचा और ‘भारत छोड़ो’ का नोटिस थमा दिया। आदेश का पालन करते हुए गुरुवार (31 मई) को आठों आरोपी लड़कियों को भारत छोड़कर भागना पड़ा। स्थानीय मीडिया की खबर के मुताबिक बीती 20 मई को पुलिस ने भुवनेश्वर के बापूजी नगर इलाके में चलाए जा रहे एक स्पा सेंटर में छापेमारी की थी। छापेमारी के दौरान मसाज की आड़ में किए जा रहे देह व्यापार से जब पर्दा उठा तो पुलिस दंग रह गई। पुलिस ने विदेशी लड़कियों को जिस्म फरोशी के धंधे में लिप्त पाया। पुलिस के मुताबिक आरोपी लड़कियों ने वीजा नियमों का उल्लंघन करते हुए यहां घिनौना काम किया। पुलिस ने बताया कि कुछ लड़कियां टूरिुस्ट वीजा तो कुछ बिजनेस वीजा लेकर भारत आई थीं।

पुलिस के मुताबिक आरोपी लड़कियों को भारत छोड़ने का नोटिस इसलिए दिया गया ताकि राज्य में ऐसे ही गलत कामों में लगे लोगों को चेतावनी जा सके कि उनका गुनाह बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। सूत्रों के मुताबिक थाईलैंड की लड़कियों को बुधवार (30 मई) को भारत छोड़ो नोटिस दिया गया था, जिसके मुताबिक उन्हें 48 घंटों के भीतर देश छोड़ना था। पुलिस के मुताबिक थाईलैंड की आठों लड़कियों को निकालने के बाद पुलिस ने सेक्स रैकेट चलाने वाले मैनेजर और 6 ग्राहकों भी मौके से दबोच लिया था। इसके बाद पुलिस ने थाईलैंड के दूतावास को घटना के बारे में जानकारी दी थी।

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक पिछले वर्ष नवंबर में थाईलैंड की तीन महिलाओं को भुवनेश्वर के एक और स्पा सेंटर से जिस्मफरोशी का धंधा चलाने के आरोप में दबोचा गया था। पुलिस ने बताया कि एक जांच चलाई गई थी जिसमें लड़कियों के पासपोर्ट और वीजा को सत्यापित किया गया। जांच में पुलिस ने पाया कि लड़कियों के पास जो वीजा थे, उनके आधार पर वे यहां काम नहीं कर सकती थीं। वीजा का दुरुपयोग करते हुए लड़कियों को देह व्यापार में संलिप्तता पाई गई, जिसके बाद उन्हें देश छोड़ने के लिए कहा गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App