नेशनल चैंपियन निशा दहिया ने जारी किया VIDEO, कहा- मैं बिल्कुल ठीक

रेसलर निशा दहिया की मौत नहीं हुई है, सोनीपत में किसी और प्लेयर की गोली मार कर हत्या कर दी गई है। उनका नाम भी निशा दहिया ही है।

सुरक्षित हैं रेसलर निशा दहिया (फोटो- nisha_dahiya_07)

अंतराष्ट्रीय लेवल की रेसलर निशा दहिया सुरक्षित हैं। हरियाणा के सोनीपत में किसी और निशा दहिया की गोली मारकर हत्या की गई है। गोली मारने का कारण अभी भी अज्ञात है। पीटीआई ने पुलिस के हवाले से ये जानकारी दी है।

हालांकि ये निशा दहिया दूसरी रेसलर हैं। पहलवान निशा दहिया ने अपने इंस्टाग्राम पर पुष्टि की हैं कि वह जीवित और सुरक्षित हैं और सीनियर नेशनल चैंपियनशिप खेलने के लिए गोंडा में हैं। हरियाणा पुलिस की तरफ से भी इस मामले को लेकर कहा गया है कि मरने वाली निशा दहिया कोई और खिलाड़ी हैं।

अपनी मौत की खबर सुनकर खुद पहलवान निशा दहिया ने एक वीडियो जारी कर कहा कि वो सुरक्षित हैं। इससे पहले रिपोर्ट्स में कहा गया था कि पिछले हफ्ते विश्व चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतकर देश का नाम रोशन करने वाली पहलवान और उनके भाई सूरज की सोनीपत में सुशील कुमार कुश्ती अकादमी में गोली मारकर हत्या कर दी गई।

हालांकि, बाद में पता चला कि अकादमी के पास जिस निशा दहिया नाम की पहलवान की गोली मारकर हत्या की गई थी वो कोई और खिलाड़ी हैं। इस घटना से आक्रोशित ग्रामीणों ने अकादमी में आग भी लगा दी।

एसपी सोनीपत राहुल शर्मा ने एक बयान जारी कर कहा, “यह निशा दहिया (गोली मारकर) और पदक विजेता पहलवान निशा दहिया दो अलग-अलग लोग हैं। पदक विजेता पहलवान पानीपत की हैं और अभी एक कार्यक्रम के लिए यूपी गई हुईं हैं।

इससे पहले शुक्रवार को पीएम नरेंद्र मोदी ने निशा और अन्य महिला पहलवानों को सर्बिया के बेलग्रेड में अंडर-23 कुश्ती विश्व चैंपियनशिप में उनके असाधारण प्रदर्शन के लिए बधाई दी थी। निशा ने 65 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक हासिल किया था।

निशा दहिया राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय चैंपियनशिप में बहुत सफल पहलवान रही हैं। उन्होंने 2014 और 2015 में कैडेट नेशनल चैंपियनशिप में गोल्ड मेडल जीता था। निशा का पहला अंतरराष्ट्रीय पदक 2014 में आया था जब उन्होंने एशियाई चैंपियनशिप में 49 किग्रा वर्ग में कांस्य पदक जीता था। इसके बाद उन्होंने 2015 में 60 किग्रा वर्ग में रजत पदक जीता और 2015 में राष्ट्रीय चैंपियनशिप में कांस्य भी जीता।

पढें जुर्म समाचार (Crimehindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
रावण ने अपने आखिरी पलों में लक्ष्मण को दिया था यह ज्ञान, आपकी सक्सेस के लिए भी जरूरी हैं ये बातेंravan, ram, laxman, ramayan, valuable things, srilanka, धर्म ग्रंथ रामायण, राम, रावण, लंकापति रावण, वध श्रीराम, शिवजी की पूजा, लक्ष्मण
अपडेट