ताज़ा खबर
 

सिर काट नाले में फेंका, इस मशहूर एक्ट्रेस को पति ने दी थी दर्दनाक मौत

जांच में जुटी पुलिस ने शशिरेखा के आधार कार्ड व अन्य पहचान पत्रों से उनकी पहचान कर ली। इसके बाद पुलिस जल्दी ही रमेश शंकर को तलाश करते हुए शोलिंगानलूर स्थित एक अपार्टमेंट में पहुंची। उस वक्त रमेश इस अपार्टमेंट में किसी लखिया नाम की महिला के साथ था

पुलिस की जांच टीम जल्दी ही अभिनेत्री के पति तक पहुंच गई। प्रतीकात्मक तस्वीर।

5 जनवरी 2016 को पुलिस को चेन्नई के नजदीक पोरुर में एक महिला की सिर कटी लाश मिली। लाश की पहचान थोड़ी मुश्किल थी क्योंकि महिला का धड़ गायब था और पुलिस के पास ना तो कोई फिंगर प्रिंट था और ना ही कोई पहचान पत्र। इसके बाद पुलिस की नजर थाने में दर्ज कराई गई एक शिकायत पर पड़ी जिसमें मशहूर तमिल अभिनेत्री शशिरेखा ने अपने पति रमेश शंकर पर अपने बच्चे को अगवा करने और उनसे लाखों रुपए ठगने का आरोप लगाया था। शशिरेखा ने साल 2015 में ही यह शिकायत दर्ज कराई थी लेकिन उसके बाद से वो लापता हो गई थीं।

जांच में जुटी पुलिस ने शशिरेखा के आधार कार्ड व अन्य पहचान पत्रों से उनकी पहचान कर ली। इसके बाद पुलिस जल्दी ही रमेश शंकर को तलाश करते हुए शोलिंगानलूर स्थित एक अपार्टमेंट में पहुंची। उस वक्त रमेश इस अपार्टमेंट में किसी लखिया नाम की महिला के साथ था। उस वक्त रमेश ने पुलिस को बताया था कि लखिया उसकी बहन है। इसके बाद आगे की जांच में इस बात का खुलासा हुआ कि लखिया और रमेश शंकर ने ही मिलकर शशिरेखा की हत्या की थी। इन दोनों ने शशिरेखा का सिर धड़ से अलग कर दिया और उसे कोलापक्कम के नजदीक एक झील में फेंक दिया था।

जल्दी ही पुलिस ने हत्या की वजह से भी पर्दा हटा दिया। पुलिस ने उस वक्त बताया था कि 34 साल की शशिरेखा का पति रमेश शंकर पेशे से एक बिजनेसमैन था। लेकिन वो अक्सर कलाकारों को फिल्मों में काम दिलाने के नाम पर उनसे लाखों रुपए की ठगी किया करता था। पुलिस ने बताया था कि रमेश अक्सर अपने ग्राहकों को फिल्में ऑफर करता और फिर उनकी आपत्तिजनक तस्वीरें निकाल कर उन्हें ब्लैकमेल किया करता था। आशिक मिजाज और पैसे का लालची रमेश, शशिरेखा की हत्या करने के बाद लखिया के साथ ही रहता था और लखिया उसकी बहन नहीं बल्कि उसकी दोस्त थी।

शशिरेखा चेन्नई के पदिपक्कम में अपने पिता, दो बहनों और अपने आठ साल के बच्चे के साथ रहती थी। एक फिल्म के सेट पर शशिरेखा की मुलाकात रमेश से हुई। रमेश की पत्नी ने आर्थिक समस्याओं की वजह से साल 2011 में आत्महत्या कर ली थी। अगस्त 2015 में शशिरेखा और रमेश शंकर ने शादी रचा ली तथा दोनों माडीपक्कम में रहने लगे। लेकिन कुछ ही महीनों बाद रमेश, शशिरेखा से अलग वालासारावक्कम में रहने लगा। यहां उसकी मुलाकात लखिया से हुई थी। लखिया शहर में फिल्म इंडस्ट्री में काम की तलाश में आई थी और वो रमेश के साथ ही रहने लगी थी।

नवंबर 2015 में शशिरेखा ने थाने में शिकायत दर्ज करवाई कि उनके पति रमेश शंकर ने सातवीं बार शादी कर ली है। उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि उनके पति ने उनके बेटे को किडनैप कर लिया है। हालांकि उस वक्त काउंसलिंग के बाद रमेश और शशिरेखा मदानंदापुरम में आ गए और दोनों एक बार फिर साथ रहने लगे। लेकिन इस दौरान शंकर का लखिया से संबंध बना रहा। यह बात शशिरेखा को बिल्कुल पसंद नहीं थी। जब शशिरेखा प्रेग्नेनेंट हुईं तब रमेश ने उनपर आरोप लगाया कि उनकी कोख में पल रहा बच्चा उसका नहीं है। दोनों के बीच इस बात को लेकर विवाद काफी बढ़ गया। इस दौरान रमेश ने शशिरेखा की इतनी पिटाई कर दी कि उनकी मौत हो गई। इसके बाद लखिया और रमेश शंकर ने मिलकर इस हत्या को रेप और मर्डर की शक्ल देने की योजना बनाई। इन दोनों ने शशिरेखा के शरीर से सारे कपड़े उतारे उनका सिर धड़ से अलग किया और उनके धड़ को एक चादर में लपेट कर कूड़े में फेंक दिया। अभिनेत्री के सिर को इन लोगों ने नदी में फेंक दिया था। बता दें कि मरने के बाद जिस दिन शशिरेखा का कातिल पकड़ गया उसी दिन उनकी फिल्म ‘Naalai muthal kudika maaten’ सिनेमा घरों में रिलीज हुई थी। (और…CRIME NEWS)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App