ताज़ा खबर
 

200 फिल्मों में काम करने वाली मशहूर एक्ट्रेस की कटी-फटी लाश से हिल गया था देश, आज तक कातिल का नहीं मिला सुराग

अभिनेत्री के शरीर खास तौर पर गर्दन पर जो घांव के निशान मिले उसने इस मौत को मर्डर का रुप दिया लेकिन उनके कातिल का पकड़ में ना आ पाना इस मर्डर को मिस्ट्री बना दिया।

चित्र का इस्तेमाल प्रतीक के तौर पर किया गया है

इस अभिनेत्री ने तकरीबन 200 फिल्मों में काम किया और लोगों के बीच अपनी खास पहचान बनाई। लेकिन करीब छह दशक तक सिनेमाई पर्दे पर राज करने वाली अभिनेत्री निदा ब्लान्का की साल 2001 में हुई मौत आज तक एक मिस्ट्री बनकर रह गई। 17 साल पहले निदा ब्लान्का की लाश शानजुआन शहर में एक बिल्डिंग की कार पार्किंग में मिली थी। अपनी ही कार की पिछली सीट पर निदा ब्लान्का मृत अवस्था में मिली थीं। इस अभिनेत्री के शरीर के कई हिस्सों पर जख्म के निशान थे पर ब्लांका को यह जख्म किसने दिये यह आज तक पता नहीं चल सका। ब्लांका की मौत पर कई थ्योरी सामने आए पर असली कातिल 17 साल बाद भी सामने नहीं आ सका।

6 जनवरी 1936 को जन्मीं निदा ने 14 साल की उम्र में अपनी पहली फिल्म की थी। निदा की मां फिलीपिन्स से थी और उनके पिता अमेरिकन थे। फिल्मी दुनिया की जानी-मानी हस्ती डेलिया राजोन ने ही निदा को इस चकाचौंध भरी दुनिया में लाया। LVN Pictures के मालिक डोना सिसांग डी लिओन ने निदा को फिल्मों में काम करने का मौका दिया। यहां बता दें कि दूसरे विश्वयुद्ध के बाद LVN Pictures की गिनती फिलीपिन्स के सबसे बड़े फिल्म प्रोडक्शन हाउस के तौर पर होती थी। डोना सिसांग ने ही निदा की खूबसूरती को देखते हुए उन्हें ब्लांका (स्पैनिश भाषा में गोरा रंग) सरनेम दिया था। फिल्मों के अलावा निदा ने टीवी सीरीज में भी काम किया जहां से उन्हें खास पहचान मिली।

निदा की पहली शादी विक्टोरिनो टोरेस से हुई थी। इस शादी के बाद उनकी एक बेटी कैथरिन भी हुई। लेकिन जब कैथरिन दो साल की थी तब निदा का अपने पति से तलाक हो गया। इसके बाद निदा ने साल 1979 में मशहूर अमेरिकी सिंगर और एक्टर रॉड लॉरेन स्ट्रंक से शादी रचाई। इस शादी के बाद किसी ने सोचा नहीं था कि इस सफल अभिनेत्री की जिंदगी एक दिन ऐसे मोड़ पर आकर खत्म होगी। 7 नवंबर 2001 को जब निदा की मौत की खबर आई तो सभी लोग सन्न रह गए। लेकिन जल्दी ही उनकी मौत एक रहस्य भी बन गई।

अभिनेत्री के शरीर खास तौर पर गर्दन पर जो घांव के निशान मिले उसने इस मौत को मर्डर का रुप दिया लेकिन उनके कातिल का पकड़ में ना आ पाना इस मर्डर को मिस्ट्री बना दिया। निदा की मौत के बाद इस केस की जांच के लिए फिलीपिन्स नेशनल पुलिस ने एक स्पेशल टास्क फोर्स Marsha का गठन भी किया था। ऐसा लगा कि एक दिन Marsha निदा के असली कातिल को सामने जरुर लाएगा पर अफसोस की ऐसा हो नहीं सका।

निदा की मौत के कुछ महीनों बाद एक मैग्जीन ‘YES’ने इस मर्डर मिस्ट्री को लेकर अपनी चार थ्योरी दी।

– मैग्जीन की पहली थ्योरी निदा के पति रॉड पर केंद्रित थी। मैग्जीन ने बताया कि रॉड, निदा से काफी नाराज रहता था क्योंकि निदा अपनी सारी दौलत अपनी बेटी कैथरिन उर्फ केई के नाम करना चाहती थी। इस थ्योरी के मुताबिक रॉड जब निदा को इस बात के लिए मनाने पर राजी नहीं हो पाया कि निदा अपनी सारी दौलत उसके नाम कर दें तो उसने एक प्रोफेशनल किलर हायर किया और फिर निदा की हत्या करवाई। मैग्जीन के मुताबिक रॉड का अफेयर किसी अन्य महिला के साथ भी था। हालांकि कई लोग इस थ्योरी को गलत भी मानते हैं।

-इस मैग्जीन ने अपनी दूसरी थ्योरी में कहा कि निदा की मौत के ठीक 13 दिन बाद टास्क फोर्स Marsha ने एक प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित किया और इसमें एक शख्स फिलीप मिडेल को पुलिस ने सामने लाया। पुलिस ने बताया कि फिलीप ने ही इस हत्याकांड को अंजाम दिया है। पुलिस ने बताया कि फिलीप मिडेल एक प्रोफेशनल किलर है और उसे किसी माइक मार्टिनेज नाम के शख्स ने कत्ल करने के लिए हायर किया था। मिडेल ने बताया था कि उसे नहीं मालूम था कि उसे एक मशहूर अभिनेत्री का कत्ल करना है। लेकिन इस बयान के ठीक चार दिन बाद मिडेल अपने ही दिये बयान से पलट गया। उसने न्यायालय में कहा कि उसपर इस हत्याकांड का इल्जाम अपने सिर लेने के लिए दबाव बनाया गया था।

-तीसरी थ्योरी के मुताबिक निदा के संबंध एक बड़े राजनेता से थे और इस बड़े राजनेता ने निदा को काफी पैसे दिए थे। निदा इस पैसे को वापस करना चाहती थी लेकिन जब यह राजनेता पावर में नहीं थे तब कुछ लोगों ने निदा को उनके पैसे नहीं लौटाने को कहा। इस थ्योरी के मुताबिक निदा पैसे नहीं देना चाहती थी इसलिए उनकी हत्या करा दी गई।

-चौथी थ्योरी के मुताबिक कुछ लोगों का संगठन कैसिनो चलाता थे। इस कैसिनो में निदा के पैसे भी लगे थे। इस कैसिनो के बिजनेस में आई तकरार की वजह से निदा की हत्या हो गई।

हालांकि निदा के मौत के छह साल बाद रॉड ने 68 साल की उम्र में आत्महत्या कर ली। इसके बाद जुलाई 2002 में जांचकर्ताओं ने रॉड को ही निदा की मौत का मास्टरमाइंड कहा था लेकिन अपने ऊपर आरोप साबित होने से पहले ही रॉड यूएस चला गया। इधर दूसरे संदिग्ध फिलिप मिडेल की मौत साल 2010 में निमोनिया से हो गई।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App