ताज़ा खबर
 

Maharashtra: मुंबई में शिवसेना नेता को मारी गोली, साईं मंदिर में दर्शन के दौरान हमला; आरोपी को लोगों ने बुरी तरह पीटा

हमले के बाद आरोपी अभय सिंह भागने की कोशिश की लेकिन लोगों ने उसे पकड़ लिया और पुलिस को सौंप दिया। जोन -7 के डिप्टी पुलिस कमिश्नर अखिलेश सिंह ने कहा, "हमले के पीछे उसकी मंशा का पता नहीं चल पाया है।"

तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (file photo)

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई के विखरोली में एक मंदिर के अंदर गुरुवार की सुबह शिवसेना के एक नेता को गोली मार दी गई। हमला करने वाले 22 वर्षीय युवक को मौके पर ही पकड़ लिया गया और उसे पुलिस को सौंप दिया गया। विखरोली क्षेत्र में शिवसेना के उप विभाग प्रमुख चंद्रशेखर जाधव (55) घटना में गंभीर रूप से घायल हो गए। हालांकि डॉक्टरों के मुताबिक उनकी हालत अब स्थिर है। शिवसेना नेता जाधव अपने बेटे और एक साथी के साथ टैगोर नगर क्षेत्र में स्थित साई बाबा मंदिर में सुबह 7.10 बजे गए थे। यह उनका रोज का रूटीन था।

भाग रहे आरोपी को लोगों ने पकड़ा : पुलिस के मुताबिक आरोपी अभय सिंह मंदिर में घुसा और जाधव पर फायर कर दिया। गोली उनके उनके बाईं बांह में लगी। हमले के बाद आरोपी अभय सिंह भागने की कोशिश की लेकिन लोगों ने उसे पकड़ लिया और बुरी तरह पिटाई के बाद पुलिस को सौंप दिया। हमलावर यूपी के प्रयागराज के नैनी इलाके का है। जोन -7 के डिप्टी पुलिस कमिश्नर अखिलेश सिंह ने कहा, “हमले के पीछे उसकी मंशा का पता नहीं चल पाया है।”

Hindi News Today, 20 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

स्थानीय लोगों ने आरोपी को जमकर पीटा, अस्पताल में भर्ती : एक अधिकारी ने बताया कि स्थानीय लोगों ने अभय को जमकर पीटने के बाद घायल कर दिया। वह भी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। शिवसेना नेता स्थानीय मंदिर में सुबह के वक्त रोजाना जाया करते थे। आशंका है कि हमलावर को इस बात की जानकारी थी। वह पहले से योजना बनाकर आया था। हालांकि घटना की वजह का पता नहीं चल पाया है। पुलिस उसके ठीक होने का इंतजार कर रही है।

पिछले महीने ही महाराष्ट्र में शिवसेना की सरकार बनी है : गौरतलब है कि  पिछले महीने ही महाराष्ट्र में शिवसेना ने कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर सरकार  बनाई है। पहले शिवसेना और बीजेपी साथ-साथ मिलकर चुनाव लड़ी थीं, लेकिन सीएम पद को लेकर गठबंधन में मतभेद उभर आने के बाद सरकार नहीं बन सकी। बाद में शिवसेना ने कांग्रेस और एनसीपी के साथ मिलकर उद्धव ठाकरे के नेतृत्व में सरकर बनाई।

Next Stories
1 लखनऊ में हिंसक हुआ CAA के खिलाफ प्रदर्शन, थानों में लगाई आग, फूंक दी दर्जनों गाड़ियां; पुलिस पर पत्थरबाजी
2 Bijnor Court Shootout: कोर्ट रूम शूटआउट में 18 पुलिसकर्मी सस्पेंड, बदमाशों ने ताबड़तोड़ फायरिंग कर जज के सामने किया था मर्डर
3 Nagpur Mayor Attack: मेयर संदीप जोशी पर जानलेवा हमला, बाइक सवारों ने की ताबड़तोड़ फायरिंग; बाल-बाल बचे
ये पढ़ा क्या?
X