ताज़ा खबर
 

पंक्चर बनाने की दुकान से करियर शुरू कर बन गया डीजल माफिया, मोहम्मद अली शेख की कहानी…

मोहम्मद अली शेख ने राजनीति में भी किस्मत आजमाई थी। साल 2009 के लोकसभा चुनाव में वो बीएसपी के टिकट पर साउथ मुंबई से कांग्रेस प्रत्याशी मिलिंद देवड़ा के खिलाफ ताल ठोकी थी।

crime, crime newsमोहम्मद अली अबू बकर शेख। फाइल फोटो। फोटो सोर्स- PTI

यह शख्स कभी साइकिल के पहिये का पंक्चर बनाता था। किसी को नहीं पता था कि एक पंक्चर बनाने वाला साधारण इंसान कभी मुंबई का सबसे बड़ा गैंगस्टर बन जाएगा। मूल रूप से उत्तर प्रदेश के इलाहाबाद के रहने वाले मोहम्मद अली शेख 80 के दशक के दौरान मुंबई आए थे। अपने करियर की शुरुआत उन्होंने साइकिल के टायर पंक्चर बनाने की दुकान खोलकर की थी। कहा जाता है कि जल्दी ही वो डीजल तस्करी से जुड़ गये और फिर इसके बाद वो अवैध व्यापार का बड़ा मास्टर माइंड बन गया।

मोहम्मद अली शेख पर डीजल और लाल बालू स्मगलिंग के कई केस चले। कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में बताया जाता है कि मोहम्मद अली शेख समुद्री जहाजों से कम दामों में डीजल खरीदता था और इसे पेट्रोल पंप और छोटे उद्योग चलाने वाले उद्योगपतियों को बड़े मुनाफे में बेचा करता था।

इस अवैध धंधे से मोहम्मद शेख ने मोटी कमाई की थी। उसने कई कंपनियां दुबई और सिंगापुर में खोली थी। मोहम्मद शेख का नाम 26/11 आतंकी हमले सभी जुड़े थे। जांच एजेंसियों के हवाले से कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में कहा गया था कि डेविड हेडली और मोहम्मद शेख के बीच बातचीत से संबंधित कुछ ऑडियो मिले थे। हालांकि मोहम्मद शेख के खिलाफ जांच एजेंसियों को पुख्ता सबूत नहीं मिल पाया था।

शेख को साल 2010 में अपने प्रतिद्दंदी सैय्यद हुसैन मदार की हत्या की साजिश रचने के आरोप में गिरफ्तार किया गया था। हालांकि, इस मामले में ठोस सबूत के अभाव में वो साल 2015 में छूट गया। मोहम्मद अली शेख ने राजनीति में भी किस्मत आजमाई थी। साल 2009 के लोकसभा चुनाव में वो बीएसपी के टिकट पर साउथ मुंबई से कांग्रेस प्रत्याशी मिलिंद देवड़ा के खिलाफ ताल ठोकी थी।

मोहम्मद अली शेख को भी कोरोना ने निगल लिया। इसी साल 03 मई को जसलोक अस्पताल में उसकी मौत हो गई। मुंबई के नागपाड़ा के रहने वाले शेख की तीन पत्नियां थीं और उसके 7 बच्चे हैं।

 

Next Stories
1 मिस्ट्री: ‘द हॉन्टेड हाउस’ की अभिनेत्री का घर में मिला था शव, बहन ने ब्वॉयफ्रेंड पर लगाए थे गंभीर इल्जाम
2 दाऊद से बड़ा डॉन कहलाता था, ठेले पर सब्जी बेचने वाला अमर नाईक कैसे बना मुंबई का ‘रावण’; पढ़ें
3 ‘टॉप करेंगी’ कहकर मजाक उड़ाते थे दोस्त, नंदिनी के आर के IAS बनने का सफर…
यह पढ़ा क्या?
X