ताज़ा खबर
 

Mumbai में खौफनाक मर्डरः नाक और जबड़ा तोड़ कर दी हत्या, हाथ-पैर बांध बोरी में भर दी लाश

मृतक की नाक और जबड़ा टूटा हुआ था और उसके हाथ पांव रस्सी से बंधे हुए थे। परिजन ने बताया कि संतोष के परिवार में तीन बच्चे हैं और तीन साल पहले उसकी पत्नी का देहांत हो गया था।

Author मुंबई | Updated: January 22, 2020 4:46 PM
crime, crime newsएक आरोपी की गिरफ्तारी हो चुकी है। प्रतीकात्मक फोटो (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

मुंबई से गुजरात जाने का कहकर निकले एक शख्स का घर से महज 25 मीटर दूर शव मिला। नवी मुंबई के तुर्भे मुंबई इंडस्ट्रियल कॉर्पोरेशन क्षेत्र (MIDC) में बुधवार (22 जनवरी) को मिला। मृतक की पहचान संतोष कसबे के रूप में की गई है। इस बर्बर हत्याकांड के पीछे का मकसद साफ नहीं हो पाया है। प्राप्त जानकारी के अनुसार बोरे में बंद शव क्षत-विक्षत हालत में था। घटना की जानकारी मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची और लाश को कब्जे में लेकर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया है। पुलिस मामले की जांच कर मौत का कारण पता लगाने में जुटी है।

परिजनों ने की शव की शिनाख्तः नवी मुंबई जोन वन के डिप्टी पुलिस कमिश्नर पंकज डहाने ने कहा, ‘मृतक दक्षिणी मुंबई में भाऊचा धक्का पर सहायक के रूप में काम करता था। उसके परिजनों ने शव की पहचान कर ली है और हमने हत्या का मुकदमा दर्ज किया है।’ पुलिस आस पास के इलाकों से भी जानकारी इकट्ठा करने की कोशिश कर रही है।

Hindi News Live Hindi Samachar 22 January 2020: देश-दुनिया की तमाम बड़ी खबरे पढ़ने के लिए यहां क्लिक करे

टूटे हुए थे नाक और जबड़ाः मृतक के चाचा भूपेंद्र कसबे ने कहा कि संतोष कथित तौर पर सोमवार (20 जनवरी) की शाम को गुजरात जाने की बात कहकर घर से निकला था। मृतक की नाक और जबड़ा टूटा हुआ था और उसके हाथ पांव रस्सी से बंधे हुए थे। परिजन ने बताया कि संतोष के परिवार में तीन बच्चे हैं और तीन साल पहले उसकी पत्नी का देहांत हो गया था।

हत्या का मकसद साफ नहींः इस सनसनीखेज वारदात की जानकारी मिलते ही इलाके में हड़कंप मच गया। पुलिस को अभी तक मृतक की किसी से दुश्मनी होने की जानकारी नहीं मिली है। जांच में जुटी पुलिस हत्या का मकसद पता करने की कोशिश कर रही है। परिजनों से भी पूछताछ जारी है।

Next Stories
1 स्कूटी की नंबर प्लेट से चला रहे थे टैक्सी, MCD टोल टैक्स से बचने के लिए बदमाशों ने किया कारनामा
2 हड्डियों के डॉक्टर से बनवाया आंखों से दिव्यांग होने का सर्टिफिकेट, दूसरे कागजों में घुसाया पेपर और CMO से भी करा लिए हस्ताक्षर
3 बड़ा खुलासाः इस सॉफ्टवेयर से फटाफट बुक कर लेते थे Rail Ticket, टेरर फंडिंग में लगाते थे कमाई, पाक से दुबई तक जुड़े तार
ये पढ़ा क्या?
X