Mother admits trying to sell 13 Year Old Daughter’s Virginity for 17 Lacks Rupees to a Rich Businessman in Russia - 17 लाख रुपए में नाबालिग बेटी की वर्जिनिटी बेचना चाहती थी महिला, स्टिंग ऑपरेशन के बाद गिरफ्तार - - Jansatta
ताज़ा खबर
 

17 लाख रुपए में नाबालिग बेटी की वर्जिनिटी बेचना चाहती थी महिला, स्टिंग ऑपरेशन के बाद गिरफ्तार

आरोपी महिला और उसकी सहेली नाबालिग को लेकर फ्लाइट के जरिए चेल्याबिंस्क से मॉस्को भी पहुंच गई थीं। वहां उन्होंने बेटी की वर्जिनिटी का सौदा एक अमीर कारोबारी से किया था।

प्रतीकात्मक तस्वीर

रूस में एक महिला अपनी बेटी की वर्जिनिटी बेचना चाहती थी। अमीर कारोबारी से उसने इस बाबत डील भी पक्की कर ली थी। वह बेटी को लेकर फ्लाइट से मॉस्को भी चली गई थी, मगर डील होती उससे पहले ही स्थानीय पुलिस ने महिला के साथ उसकी सहेली को भी गिरफ्तार किया। मुख्यारोपी को रंगे हाथों पकड़ने के लिए पुलिस ने जासूसों के साथ मिलकर स्टिंग ऑपरेशन को अंजाम दिया था। पूछताछ में महिला ने बेटी की वर्जिनिटी से जुड़ी डील करने की बात कबूली है। फिलहाल बेटी को मेडिकल जांच के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया है। पुलिस के मुताबिक, आरोपी महिला की पहचान इरीना ग्लैडकिख के रूप में हुई है। वह 35 साल की है और पेशे से एस्टेट एजेंट हैं। आरोपी महिला और उसकी सहेली नाबालिग को लेकर फ्लाइट के जरिए चेल्याबिंस्क से मॉस्को भी पहुंच गई थीं। वहां उन्होंने बेटी की वर्जिनिटी का सौदा एक अमीर कारोबारी से किया था। यह डील तकरीबन 17 लाख रुपए में होनी थी। बेटी की इज्जत के बदले महिला को रुपए मिलते, इससे पहले ही पुलिस ने उसे और उसकी सहेली को धर दबोचा।

लड़की बेचने के लिए SHO को ही मिला दिया फोन, फिर जो हुआ वह पूरी तरह फिल्मी था

रूस के गृह मंत्रालय ने इस बाबत एक वीडियो भी जारी किया, जो मुख्यारोपी से पूछताछ के दौरान का है। महिला ने इसमें कबूला था कि वह और उसकी बेटी 7 बजकर 35 मिनट पर फ्लाइट से मॉस्को के लिए रवाना हुई थीं। मुख्यारोपी ने कहा था, “हम मॉस्को में उस अमीर कारोबारी से मिलने वाले थे। बेटी की वर्जिनिटी के बदले हम उससे आर्थिक मदद के रूप में रुपए चाहते थे।”

आरोपी मां ने 13 साल की बेटी की इज्जत के सौदे के लिए एक अमीर कारोबारी से डील पक्की की थी, जिससे उसे 17 लाख रुपए लेने थे। (फोटोः Pixabay)

मौलवी ने 12 साल की लड़की का किया रेप, दूसरी लड़की से छेड़छाड़; केस दर्ज

उधर, मुख्यारोपी की सहेली (25) ने माना कि वे लोग बेटी की डील करने वहां पहुचे थे। पुलिस को इस बारे में जानकारी मिली थी, जिसके बाद कुछ पुलिसकर्मी भेस बदलकर डील करने पहुंचे। महिला और उसकी सहेली इस दौरान धोखा खा गईं और पुलिसकर्मियों को असली कारोबारी समझ बैठीं। बेटी की वर्जिनिटी के बदले रुपए लिए जाने के बाद पुलिस ने उन दोनों को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने इसके बाद नाबालिग बच्ची को मॉस्को के एक अस्पताल में भर्ती कराया, जहां उसके कुछ मेडिकल टेस्ट्स होने बाकी हैं। लॉ एन्फोर्समेंट सूत्रों ने महिला पर आरोप लगाया कि मुख्यारोपी और उसकी सहेली लोगों से अपनी इज्जत का सौदा कर जीवनयापन करती हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App