मटन सूप कर गया खेल, वरना पत्नी की प्लानिंग थी परफेक्ट, मां के हाथों ही खुला बेटे की मौत का राज! पढ़िए खौफनाक वारदात

तेलंगाना में एक पत्नी ने पति को रास्ते से हटाने के लिए परफेक्ट प्लान बनाया। प्रेमी के साथ मिलकर वो उसे अंजाम भी दे चुकी थी, लेकिन मां की ममता के सामने वो पकड़ी गई। एक मटन सूप ने उसके सारे प्लान पर पानी फेर दिया।

mutton soup, hyderabad murder, crime news
एक मटन सूप ने खोल दिया मर्डर का राज (फोटो- @pixabay)

एक बीवी जब अपने पति से छुटकारा पाकर, प्रेमी के साथ रहने की सोची, तो उसके सामने उसका पति तो था ही, साथ ही उसके ससुराल वाले भी थे। इन सबके बीच पत्नी ने ऐसी चाल चली कि किसी को भनक तक नहीं लग पाया कि जिसे वो अपना बेटा मान रहे हैं, वो तो कोई और है।

यह खौफनाक वारदात है तेलंगाना की। एक नर्स के शातिर दिमाग ने ऐसा प्लान बनाया, जिसमें पुलिस, मां, भाई और डॉक्टर भी उलझ कर रह गए। मुम्बई मिरर के अनुसार नर्स स्वाति ने पति सुधाकर को रास्ते से हटाने और प्रेमी के साथ रहने के लिए एक प्लान बनाया। इसके लिए उसने साउथ की एक फिल्म येवाडू को जरिया बनाया।

प्लान के अनुसार स्वाति ने एक दिन पति के सोने के बाद, उसे बेहोशी का इंजेक्शन लगा दिया। जब पति बेहोश हो गया तो प्रेमी राजेश के साथ मिलकर उसने पति का काम तमाम कर दिया। जब सुधाकर की मौत हो गई तो पत्नी ने उसके चेहरे को कुचल दिया और प्रेमी के साथ जंगल में ले जाकर उसके शव को जला दी। यानि जिस पति के साथ उसने साथ फेरे लिए थे, उसी को अब वो मार चुकी थी।

पति को रास्ते से हटाने के बाद अब नर्स ने अपने प्लान का दूसरा भाग शुरू कर दिया। प्रेमी राजेश का चेहरा उसने एसिड से जला दिया। नर्स थी, साथ ही वो पूरी रिसर्च कर चुकी थी। उसने राजेश का चेहरा उतना ही जलाया, जितने में उसका काम हो जाए। जले हुए चेहरे के साथ प्रेमी को लेकर वो अस्पताल पहुंची। डॉक्टर और पुलिस दोनों को बताई कि कुछ लोगों ने उसके पति की पिटाई की और एसिड फेंक कर भाग गए। मतलब जिस पति को वो मार चुकी थी, उसी के नाम पर अपने प्रेमी को अस्पताल में भर्ती करा दी।

बेटे पर एसिड हमले की बात सुनकर घरवाले भागते हुए अस्पताल पहुंचे। डॉक्टर ने कहा कि चेहरा चल गया है, प्लास्टिक सर्जरी करनी पड़ेगी। स्वाति और उसके ससुरालवाले तैयार हो गए। प्लास्टिक सर्जरी की भी शुरूआत हो गई। अब राजेश चलने फिरने लगा था। यहां तक तो सब ठीक था, लेकिन फिर आया वो दिन जब ये राज सबके सामने आ गया।

स्वाति पूरी कोशिश कर रही थी, कि घरवाले उससे दूर रहें, लेकिन मां की ममता होती ही ऐसी है। मां ने अपने बेटे के लिए एक दिन मटन का सूप बनाई, मटन का सूप उनके बेटे को काफी पसंद था। जब मां सूप लेकर पहुंची तो बेटे ने पीने से इनकार कर दिया। मां को आश्चर्य हुआ। जिस बेटे को मटन सूप सबसे अच्छा लगता था, उसने उसे छुआ तक नहीं।

मां ने ये घटना अपने छोटे बेटे को बताई। घरवालों को शक तो पहले से था, लेकिन स्वाति के कारण वो लोग ये शंका जाहिर नहीं कर पा रहे थे। सुधाकर जिस हावभाव का था, वो इस शख्स से कहीं मेल ही नहीं हो रहा था। अपनी शंका लिए स्वाति का देवर पुलिस के पास जा पहुंचा। उसने पुलिस को सारी कहानी कह सुनाई।

इसके बाद हुई पुलिस की एंट्री। पुलिस ने पहले स्वाति से पूछताछ की। स्वाति हर बार अपना बयान बदलती दिखी। जिसके बाद पुलिस ने अस्पताल में इलाज करा रहे शख्स का फिंगर फ्रिंट लेने का फैसला किया। पहले तो राजेश मना करते रहा, लेकिन पुलिस के डर से उसने टेस्ट दे दिया। रिपोर्ट में जो निकलकर सामने आया, उसने घरवालों के होश उड़ा दिया। जिसे बेटा समझ कर वो उसकी सेवा कर रहे थे, वो तो उसका हत्यारा निकला।

पुलिस की जांच में जब फिंगरप्रिंट मैच नहीं किया तो उसने स्वाति और राजेश से कड़ाई से पूछताछ की। तब जाकर स्वाति ने सारा घटनाक्रम पुलिस को बताया कि कैसे प्रेमी के साथ रहने के लिए उसने अपने पति को मार दिया। ये एक परफेक्ट प्लांड मर्डर था। अगर राजेश मांसाहारी होता तो शायद कभी पीड़ित परिवार की पकड़ में नहीं आता, उसने अगर वो सूप पी लिया होता तब भी शायद बच जाता, लेकिन अब दोनों उसी मटन सूप की वजह से पकड़े जा चुके हैं और जेल में हैं।

पढें जुर्म समाचार (Crimehindi News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट