ताज़ा खबर
 

10 दिन से लापता नाबालिग के परिजनों से दरोगा ने मांगे 20 हजार रुपए, बोला- पैसे नहीं थे तो दर्ज क्यों कराई FIR

कानपुर में एक नाबालिग के अगवा होने पर कार्रवाई के लिए दरोगा द्वारा 20 हजार रुपए की मांग करने का खुलासा हुआ है। बता दें कि दरोगा ने परिजनों से यह भी कहा है कि अगर पैसे नहीं है तो क्यों एफआईआर दर्ज कराई थी।

Author कानपुर | Updated: November 27, 2019 9:32 AM
प्रतीकात्मक फोटो (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

उत्तर प्रदेश पुलिस द्वारा एक अगवा नाबालिग के पिता से उसकी बेटी को खोजने के लिए 20 हजार रुपए की मांग करने की बात सामने आई है। बता दें कि 10 दिन पहले एक 16 साल की लड़की का अपहरण हो गया था। इसके बाद नाबालिग के परिजन लगातार 10 दिनों से थाने के चक्कर लगा रहे है। वहीं इस घटना की जांच कर रहे दरोगा सतीश चंद्र यादव ने पीड़िता को खोजने के लिए उसके परिजनों के सामने 20 हजार रुपए की डिमांड रखी है। जब परिजनों ने 20 हजार रुपए देने में असमर्थता जताई तो दरोगा ने कहा कि पैसे नहीं है तो क्यों एफआईआर दर्ज कराई थी। इस मामले में जब पड़िता ने उच्चाधिकारियों से न्याय की गुहार लगाई तो दरोगा के खिलाफ जांच के आदेश दिए है।

मुहल्ले वालों ने नाबालिग को किया अगवाः नौबस्ता थाना क्षेत्र के रहने वाले शख्स अपनी पत्नी और बेटी के साथ रहते है। परिजनों का आरोप है कि मुहल्ले में रहने वाले कुछ लोगों ने बेटी का अपहरण किया है। इसके तहत 17 नवबंर को नौबस्ता थाने में बेटी के अपहरण का मुकदमा भी दर्ज कराया था। लेकिन अभी तक पुलिस द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

Hindi News Today, 27 November 2019 LIVE Updates: बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

परिजनों ने लगाया पुलिस पर आरोपः नाबालिग के पिता ने बताया कि 16 नवंबर की रात से बेटी लापता है। उन्होंने इसके अगले ही दिन मुकदमा दर्ज कराया और इसके बाद से लगातार थाने के चक्कर लगा रहे। लेकिन उनकी कोई सुनवाई नहीं हो रही है। आरोप है कि पुलिस ने बेटी को ढूढ़ने का प्रयास नहीं किया है। इस बीच पुलिस का कहना है कि आने जाने में बच्ची को ढूढने में 15 से 20 हजार रुपए खर्च होंगे। यह कहकर परिजनों से पैसे की मांग की गई है।

पिता ने जताया बेटी के अनहोनी की आशंकाः पुलिस द्वारा पैसे मांगने पर पीड़िता के पिता ने दरोगा से कहा कि मेरे पास इतना पैसा नहीं है। उसके पिता ने कहा कि गरीब आदमी है हम लोग इतना पैसा दे नहीं पाएगें। केवल हजार दो हजार रुपए ही दे सकता हूं। वहीं पीड़िता के पिता ने यह भी बताया कि उन्हें लग रहा है जो लोग उनकी बेटी को ले गए है वो दबंग लोग है, इसलिए पुलिस कोई कार्यवाई नहीं कर रही है। उन्होंने बेटी के साथ कुछ अनहोनी होने की भी आशंका जताई है।

दरोगा के खिलाफ उच्च अधिकारियों की गई शिकायतः पीड़िता की मां ने बताया कि दरोगा सतीश चंद्र ने उनकी बेटी को खोजने के लिए पैसे की मांग की है। दरोगा ने कहा कि गाड़ी से जाना पड़ेगा और होटल में रुकना पड़ेगा इसमें खर्चा लगेगा। यदि आप लोगों के पास पैसे नहीं तो यह सब करने की जरूरत क्या थी। वहीं 10 दिन बीत जाने के बाद भी जब कोई कार्यवाई नहीं हुई तो उच्च अधिकारियों को पूरा घटनाक्रम बताया गया।

सीओ ने दरोगा के खिलाफ जांच का दिया आदेशः मामले में सीओ आलोक सिंह ने बताया कि थाना नौबस्ता क्षेत्र में एक शिकायत मिली है कि दरोगा द्धारा अपहर्ता के पिता से पैसे मागें गए है। इसकी जांच की जा रही है जांच में जो तथ्य सामने आते है उसी अधार पर कार्रवाई भी की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 जॉब नहीं छोड़ने पर पति ने पत्नी को मारी गोली, अखबार में क्राइम रिपोर्टिंग करती थी महिला
2 UP: रात में बार बार पानी मांगने से परेशान था बेटा, गुस्से में घोट दिया मां का गला
3 ‘खालिद मुन्नाभाई गैंग से हैं, 10-10 लाख भेजो, वरना बना देंगे अपाहिज’ कोचिंग संचालक ने मैसेज भेज कारोबारियों से मांगी रंगदारी
ये पढ़ा क्‍या!
X