ताज़ा खबर
 

टॉय गन से 20 साल से करता रहा लूट? 100 से ज़्यादा कारें चुराने वाला शातिर अपराधी गिरफ़्तार

कुणाल ने कार से निकलकर लोहे के एक भारी भरकम छड़ को घुमाया। जिससे तीन पुलिसकर्मियों घायल हो गए। इसके बाद उसने पिस्तौल निकाली, लेकिन रोहताश ने उसे दबोच लिया।

Author May 16, 2019 8:22 AM
अपराधी कुणाल और उसका सहयोगी शाहिद। (pc-Indian express file photo)

Man stole 100 cars with toy pistol: शाहदरा जिले के 9 पुलिस कर्मियों ने बुधवार की रात एक मारुति सुजुकी कार में सवार दो अपराधियों को घेर लिया। अपराधियों को जैसे ही पुलिस ने पकड़ने की कोशिश की तो वे गाड़ी को रिवर्स कर भागने लगे। इस दौरान उन्होंने एक पुलिस वैन को ठोकर भी मारी। उप-निरीक्षक रोहताश ने स्थिति को गंभीर बताते हुए कहा ” गाड़ी चलाने वाले शख्स का नाम कुणाल है। उसके आपराधिक डोजियर से पता चला है कि उसने पिछले दिनों पुलिसकर्मियों पर गोलीबारी की थी।”

कुणाल ने कार से निकलकर लोहे के एक भारी भरकम छड़ को घुमाया। जिससे तीन पुलिसकर्मियों घायल हो गए। इसके बाद उसने पिस्तौल निकाली, लेकिन रोहताश ने उसे दबोच लिया। रोहताश ने कहा, “शुक्र है कि उसने एक खिलोने वाली पिस्तौल का इस्तेमाल किया।” शाहदरा जिले के एंटी-ऑटो चोरी दस्ते ने अंततः 100 से अधिक कारों को चोरी करने के लिए कुणाल और उसके सहयोगी शाहिद को गिरफ्तार किया। डीसीपी (शाहदरा) मेघना यादव ने कहा कि कुणाल जिले में कुख्यात था, क्योंकि उसने रात में कार चुराई थी। कुणाल के खिलाफ 21 मामले दर्ज हैं। पुलिस ने कहा कि उसने अपनी प्लास्टिक सर्जरी करवाकर अपना नाम और पता बदल दिया है। पुलिस ने कहा कि वह कई उपनामों से जाता है, वर्तमान में उसका नाम ‘भूतनाथ’ है।

अधिकारियों के अनुसार, उसे कार चोरी करने में पांच मिनट का समय लगता है। वह एक काला मुखौटा और दस्ताने पहनता है और विंडशील्ड पर सीरियल नंबरों को देखकर कार चुराने का सुराग प्राप्त करता है। पुलिस ने कहा कि वह स्टीयरिंग व्हील के लॉकिंग सिस्टम को अक्षम करने के लिए मजबूत मैग्नेट का उपयोग करता है, खुले दरवाजों के लिए भारी लोहे की छड़ और वाहन की सुरक्षा प्रणाली को बायपास करने के लिए एक पूर्व-कोडित इलेक्ट्रॉनिक नियंत्रण मॉड्यूल का इस्तेमाल करता था। पुलिस ने कहा कि उसने कारों को चोरी करने के लिए यूट्यूब पर निर्देशात्मक वीडियो भी बनाए है। डीसीपी यादव का कहना है “हाल ही में उन्होंने जो कारें चुराई हैं, वे 2019 मॉडल थीं। हमें अभी तक यह पता नहीं चल पाया है कि उसने चोरी के वाहन किसको बेचे हैं।” पुलिस ने चार ब्रेज़ा कारों को बरामद किया और उम्मीद है कि अगर पुलिस रिसीवर का पता लगा लेती है तो अन्य वाहनों का पता भी लग जाएगा।

आरोपी का पता लगाने की कोशिश करते हुए, पुलिस ने उसके परिवार के साथ संपर्क किया और पाया कि अपराध करने के बाद उन्होंने उसे घर से निकल दिया था। कुणाल को कुछ साल पहले गिरफ्तार किया गया था और सी आर पार्क पुलिस स्टेशन में हिरासत में लिया गया था। कुणाल ने कथित तौर पर एक पत्र लिखा था, जिसमें कहा गया था कि वह ऑटो चुराने के लिए शर्मिंदा था और उसने लॉक अप में आत्महत्या करने की कोशिश की। हिरासत से निकलने के बाद वह फिर से चोरी करने लगा। बुधवार को, जब उसे गिरफ्तार किया गया और आनंद विहार पुलिस थाने में लाया गया, तो अधिकारी उसके तौर-तरीकों को लेकर उत्सुक थे। टीम ने उसे प्रदर्शन के रूप में एक बंद कार खोलने के लिए कहा। एक अधिकारी ने कहा, “उसने इसे चार मिनट में खोल दिया।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App