ताज़ा खबर
 

‘किसी भी कीमत पर जेल जाना चाहता था’, कमिश्नर ऑफिस के सामने चाकू घोंप कर दिया सरेंडर

प्रवीण दास किसी भिखारी या फिर किसी राहगीर का इंतजार कर रहा था। लेकिन जब काफी देर तक उसे वहां कोई नजर नहीं आया तो उसने कमिशनर ऑफिस के बाहर तैनात एक सुरक्षा गार्ड पर चाकू से हमला कर दिया।

यह शख्स कई दिनों से जेल जाने की कोशिश कर रहा था। प्रतीकात्मक तस्वीर।

इस शख्स की ख्वाहिश थी कि वो किसी भी कीमत पर जेल चला जाए। खुद को जेल की चारदिवारियों में कैद करने की खातिर उस शख्स ने कमिशनर ऑफिस के बाहर खून-खराब मचा दिया। यह मामला केरल के कोझीकोड का है। 33 साल के इस युवक की पहचान प्रवीण दास के तौर पर की गई है। वलायम के रहने वाले इस प्रवीण दास ने जेल जाने की खातिर बिना वजह एक युवक पर चाकू से हमला कर उसे बुरी तरह से घायल कर दिया। उसने इस वारदात को कमिशनर ऑफिस के बाहर अंजाम दिया ताकि वो आसानी से पकड़ा जा सके। इतना ही नहीं चाकू मारने के बाद यह शख्स खुद हाथों में खून से लथपथ चाकू लेकर कमिशनर के ऑफिस में दाखिल हो गया और उसने वहां सुरक्षाकर्मियों के सामने बड़ी ही तसल्ली के साथ सरेंडर कर दिया।

जानकारी के मुताबिक कोझीकोड के मनानचीरा के नजदीक स्थित फुटपाथ पर प्रवीण दास किसी भिखारी या फिर किसी राहगीर का इंतजार कर रहा था। लेकिन जब काफी देर तक उसे वहां कोई नजर नहीं आया तो उसने कमिशनर ऑफिस के बाहर तैनात एक सुरक्षा गार्ड पर चाकू से हमला कर दिया। हमला करने के बाद वो कमिशनर के ऑफिस के अंदर घुस गया। उसके पीछे-पीछे जख्मी हालत में सुरक्षा गार्ड भी कमिशनर के ऑफिस तक गया लेकिन थोड़ी ही देर बाद वो बेहोश होकर गिर पड़ा। हमले में बुरी तरह घायल गार्ड को इलाज के लिए तुरंत सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया।

‘डेक्कन क्रॉनिकल’ से बातचीत करते हुए कसाबा के सब इंस्पेक्टर केवी स्मितेश ने कहा कि प्रवीण दास बेरोजगार था और वो किसी भी कीमत पर जेल जाना चाहता था। पुलिस को आरोपी के पास मिले कुछ कागजातों से यह पता चला है कि वो तमिलनाडु का रहने वाला हो सकता है। आरोपी शख्स ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वो पिछले कई दिनों से जेल जाने की कोशिश कर रहा था और इसीलिए उसने इस घटना को अंजाम दिया। (और…CRIME NEWS)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App