ताज़ा खबर
 

जयपुर: 3 साल की मासूम से रेप, दर्द से रोई तो मां हाथ में पैसे देकर बोली- घर चलेंगे, आइस्‍क्रीम खाएंगे

बच्ची की चीख सुनकर उसकी मां मौके पर पहुंच गई। बच्ची की मां को देखकर आरोपी पवन मौके से फरार हो गया। घटना के बाद बच्ची को गले और पेट में जोरों का दर्द होने लगा। लहुलूहान बच्ची को उसके माता-पिता ने जेके लोन अस्पताल में उसे तुरंत भर्ती कराया।

प्रतीकात्मक चित्र

मध्य प्रदेश के मंदसौर में नाबालिग बच्ची के साथ दरिंदगी के बाद पूरा देश शर्मसार है। मासूमों को अपनी हवस का शिकार बनाने वाले राक्षसों के खिलाफ लोग कड़ी से कड़ी सजा की मांग कर रहे हैं। इस बीच जयपुर में भी एक बिटिया दरिंदगी की शिकार हो गई है।

यह घटना बीते सोमवार (2 जुलाई) की है। यहां एक दरिंदे ने तीन साल की मासूम को अपनी हवस का शिकार बनाया। जयपुर के कानोता इलाके में अपने माता-पिता की लाडली बच्ची हर दिन की तरह उस दिन भी रात के वक्त खाना खाने के बाद अपने भाइयों के साथ खेल रही थी। तब ही पड़ोस में ही रहने वाले 24 साल के एक वहशी पवन की नीयत मासूम बच्ची पर बिगड़ गई। नशे में धुत पवन ने मासूम बच्ची को वहां दबोच लिया।

पवन को देखकर मासूम बच्ची की छोटी बहन और उसके भाई वहां से डरकर भाग गए। नशे में चूर पवन ने मासूम बच्ची को अपनी हवस का शिकार बनाया। बच्ची की चीख सुनकर उसकी मां मौके पर पहुंच गई। बच्ची की मां को देखकर आरोपी पवन मौके से फरार हो गया। घटना के बाद बच्ची को गले और पेट में जोरों का दर्द होने लगा। लहुलूहान बच्ची को उसके माता-पिता ने जेके लोन अस्पताल में उसे तुरंत भर्ती कराया।

अस्पताल में दर्द से कराहती बच्ची पूरी रात रोती रही। मासूम बच्ची की मां किसी तरह उसे बहला कर चुप कराने की कोशिश में लगी रही। दर्द से बिलखती बच्ची को अस्पताल के बेड पर हाथ में पैसे देकर मां ने कहा कि चुप हो जा, घर जाएंगे तो आइसक्रीम खा लेना। बिलखती मां ने बतलाया कि उनकी बच्ची के स्कूल का यह पहला दिन था, लेकिन स्कूल के पहले ही दिन वो अस्पताल के बिस्तर पर जा पहुंची। अस्पताल में तड़पती बच्ची को देखकर हर किसी की आंखें नम हो गई थीं।

इधर इस मामले में पुलिस का कहना है कि आरोपी पवन मजदूरी का काम करता है। पीड़ित बच्ची पवन को प्यार से अंकल कहा करती थी। पुलिस का कहना है कि आरोपी पवन की गिरफ्तारी के लिए कोशिशें की जा रही हैं। पुलिस का यह भी कहना है कि आरोपी को जल्द से जल्द पकड़ कर उसपर कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App