ताज़ा खबर
 

सिरफिरे ने पत्नी को लोहे की रॉड से पीटकर मार डाला, बच्चों को किया लहूलुहान, फिर ट्रक के आगे कूद दे दी जान

दीपक अक्सर रात के वक्त पुखरायां रेलवे स्टेशन पर जान देने की बात कह कर भाग जाता था। परिजन और पड़ोसी उसे पकड़ कर लाते थे।

कोतवाली भोगनीपुर, फोटो सोर्स- स्थानीय

उत्तर प्रदेश के कानपुर में सनसनीखेज मर्डर और फिर सुसाइड की वारदात सामने आई है। यहां मर्चेंट नेवी से जॉब छोड़ने वाले एक शख्स ने लोहे की रॉड से पत्नी और बच्चों को पीट डाला। इस हमले में पत्नी की मौत हो गई। इसके बाद बच्चों को भी गंभीर हालत में छोड़कर पति ने हाइवे पर ट्रक के आगे कूदकर सुसाइड कर लिया। घटना की जानकारी मिलते ही बुजुर्ग मां-बाप के घर कोहराम मच गया।

अपराधी की मानसिक स्थिति ठीक नहीं थीः प्राप्त जानकारी के मुताबिक दोनों बच्चों को गंभीर अवस्था में कानपुर के हैलट हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया है। वहीं पति-पत्नी के शव पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिए गए हैं। मामला जनपद कानपुर देहात के भोगनीपुर थाना क्षेत्र स्थित गांधीनगर का है। यहां रहने वाले दीपक यादव (35) मर्चेंट नेवी में थे। मानसिक स्थिति ठीक नहीं होने के कारण दीपक यादव ने 2011 मे नौकरी छोड़ दी थी।

Hindi News Today, 10 November 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की तमाम अहम खबरों के लिए क्लिक करें

अयोध्या फैसले के चलते नहीं गया दवा लेनेः उनके परिवार में पिता रामबिहारी बीएसएफ से रिटायर्ड हैं। दीपक अपनी मां सुमन, पत्नी रश्मि (32), दो बेटों मयंक (06) और हनी (04) के साथ रहते थे। दीपक को मानसिक परेशानी थी, जिसका उपचार चल रहा था। दीपक को बीते शनिवार (9 नवंबर) को दवा लेने के लिए जाना था, लेकिन परिजनों का कहना है कि अयोध्या मामले पर फैसला आना था जिसकी वजह से परिवार दीपक को लेकर डॉक्टर के पास नहीं गया था।

सोते हुए पत्नी-बच्चों पर किया हमलाः प्राप्त जानकारी के मुताबिक दीपक अक्सर रात के वक्त पुखरायां रेलवे स्टेशन पर जान देने की बात कह कर भाग जाता था। परिजन और पड़ोसी उसे पकड़ कर लाते थे। शनिवार की रात रामबिहारी और सुमन नीचे कमरे में सो रहे थे। दीपक परिवार के साथ ऊपर वाले कमरे सो रहा था। इसी दौरान दीपक ने पास में सो रहे पत्नी और बच्चों पर लोहे की रॉड से हमला कर दिया। रश्मि की मौके पर ही मौत हो गई। हत्या करने के बाद जब दीपक देर रात कमरे से नीचे आया तो उसकी मां सुमन की नींद खुल गई। सुमन ने दीपक से पूछा कि कहां जा रहे हो। इस पर उसने कोई जवाब नहीं दिया और गेट खोलकर भाग गया।

दर्द से तड़प रहे थे दोनों मासूमः सुमन ने पति रामबिहारी को जगाया और बताया कि दीपक फिर से जान देने के भाग गया है। रामबिहारी भी दीपक को पकड़ने के लिए पीछे गए। इसी दौरान दीपक हाइवे पर गया और ट्रक के आगे कूद कर जान दे दी। इधर जब सुमन बहू के कमरे में गई तो उन्होंने देखा कि बेड पर रश्मि का शव पड़ा हुआ था, जबकि दोनों मासूम दर्द से तड़प रहे थे। परिजनों ने पुलिस को घटना की सूचना दी। दोनों बच्चो को कानपुर के देहात जिला अस्पताल लेकर पहुंचाया गया। बच्चों की हालत देख डॉक्टरों ने दोनों को कानपुर के हैलट अस्पताल के लिए रेफर कर दिया। दोनों बच्चो को आईसीयू में रखा गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Maharashtra: देवेंद्र फडणवीस के करीबी की कार चोरी, धुलाई के बहाने SUV लेकर रफूचक्कर हो गया बदमाश
2 बदमाशों ने डॉक्टर कपल और उनके बेटी-दामाद को चाकू से गोदकर मार डाला, X-Ray क्लीनिक में घुसकर अंजाम दी वारदात
3 अयोध्या केस: 24 घंटे में 37 लोग गिरफ्तार, Facebook-WhatsApp पर किया भड़काऊ पोस्ट तो UP पुलिस ने लिया सख्त एक्शन
ये पढ़ा क्या?
X