ताज़ा खबर
 

पत्नी को दफ्न कर 3 साल तक कब्र पर नाचता रहा, ‘डांसिग ऑन द ग्रेव’ के नाम से मशहूर है यह हत्याकांड

कई महीनों तक वो शकीरा की बेटियों और उनके परिजनों से कहता रहा कि शकीरा गर्भवती है और इस वक्त इंग्लैंड में है।

पत्नी को जिंदा दफ्न करने के बाद यह शख्स अक्सर घर में महंगी पार्टियां करता था। प्रतीकात्मक तस्वीर।

थ्रीलर, सस्पेंस, और एक खूनी साजिश। जिस कहानी की आज हम चर्चा कर रहे हैं उसमें कातिल ने अपनी पत्नी की हत्या करने और उसकी हत्या के सबूत छिपाने के लिए एक ऐसी साजिश रची जिसे सुनकर आप दंग रह जाएंगे। शकीरा अकबर खलीली नाम की एक महिला साल 1991 के मई के महीने में अचानक गायब हो गई। यह घटना बेंगलुरु की है। धनी और खूबसूरत शकीरा की पहली शादी रिटायर्ड आईएफएस ऑफिसर और ऑस्ट्रेलिया के हाई कमिश्नर रह चुके अकबर मिर्जा खलीली से हुई थी। इस शादी से उन्हें 4 बेटियां थीं। लेकिन एक दिन शकीरा की मुलाकात श्रद्धानंद नाम के एक शख्स से हुई। उस वक्त शकीरा अपने पति के साथ दिल्ली में रहती थी।

श्रद्धानंद खुद को स्वयं-भू गॉड बताता था। श्रद्धानंद की बातों का शकीरा की जिंदगी में इतना असर हुआ कि उन्होंने अपने पति को तलाक दे दिया और साल 1987 में श्रद्धानंद से विवाह रचा ली। दोनों शकीरा के बेंगलुरू स्थित मकान में रहते थे। यह मकान करोड़ों रुपए का था और श्रद्धानंद की नजर इस प्रॉपर्टी पर थी। इधर शकीरा ने अपनी करोड़ों रुपए की जायदाद अपनी चारों बेटियों के नाम कर दिया था। शकीरा शान-ओ-शौकत की जिंदगी बिताती थी और काफी पैसे भी खर्च करती थी। लेकिन श्रद्धानंद को यह बातें बिल्कुल नागवार थीं और अक्सर पैसों को लेकर दोनों के बीच झगड़ा शुरू होने लगा। इसके बाद श्रद्धानंद ने अपनी पत्नी को रास्ते से हटाने का प्लान बनाया।

एक दिन श्रद्धानंद ने अपनी पत्नी को धोखे से नींद की गोलियां दे दी। कहा जाता है कि जब शकीरा बेहोश हो गई तब श्रद्धानंद ने उसे एक ताबूत में रखकर उसे उसी के घर में दफना दिया। कई महीनों तक वो शकीरा की बेटियों और उनके परिजनों से कहता रहा कि शकीरा गर्भवती है और इस वक्त इंग्लैंड में है। इस दौरान उसने शकीरा की कुछ प्रॉपर्टी को बेच भी दिया। इस दौरान श्रद्धानंद अपने घर में महंगी-महंगी पार्टियां भी करता था और घर के जिस कोने में उसने अपनी पत्नी को दफनाया था वहां वो इन पार्टियों में नाचता भी था।

लेकिन साल 1992 के अगस्त महीने में शकीरा की एक बेटी शाबा ने अपनी मां के गुमशुदगी की रिपोर्ट थाने में दर्ज करवाई। लेकिन पूछताछ के दौरान पुलिस श्रद्धानंद से उसकी पत्नी के बारे में ज्यादा कुछ पता नहीं लगा सकी। लेकिन आखिरकार यह राज श्रद्धानंद के नौकरों ने पुलिस के सामने खोल कर रख दिया। इस नौकर ने पुलिस को बताया था कि श्रद्धानंद ने अपनी पत्नी शकीरा को घर के ही एक कोने में जमीन के अंदर जिंदा दफ्न कर दिया था। शकीरा को दफ्न करने में चार अन्य नौकरों ने भी उसका साथ दिया था। स्वामी श्रद्धानंद पर मर्डर का केस चलाया गया और वो जा पहुंचा जेल की सलाखों के पीछे। (और…CRIME NEWS)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X