ताज़ा खबर
 

हाथ में था पत्नी का कटा सिर, थाने जाकर पति बोला- इसने मुझे धोखा दिया, मैंने उसे मार दिया

चिकमंगलूर के अज्जामपुरा थाने के पुलिसकर्मी के लिए वह दिन बेहद बुरा था। पुलिस स्टेशन के भीतर एक शख्स एक हाथ में झोला और दूसरे हाथ में चापड़ लेकर आया था। थाने में आकर उसने दावा किया कि उसने अपनी पत्नी की हत्या कर दी है।

Author Updated: September 11, 2018 9:19 AM
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

कर्नाटक के चिकमंगलूर के अज्जामपुरा थाने के पुलिसकर्मी के लिए वह दिन बेहद बुरा था। पुलिस स्टेशन के भीतर एक शख्स एक हाथ में झोला और दूसरे हाथ में चापड़ लेकर आया था। थाने में आकर उसने दावा किया कि उसने अपनी पत्नी की हत्या कर दी है। इस घटना का वीडियो एक पुलिसकर्मी ने शूट किया था।

दावा करने वाले शख्स की पहचान 35 साल के सतीश के तौर पर की गई। सतीश ने अपने झोले से एक काले रंग की पॉलीथीन निकाली। उस पॉलीथीन में उसकी पत्नी का कटा हुआ सिर था। सतीश ने झोले से अपनी पत्नी रूपा का कटा हुआ सिर निकाला और पुलिस वालों को दिखाया। पुलिस वाले सिर को देखते ही सकते में आ गए। उन्होंने उसे वापस झोले में सिर रखने के लिए कहा। इसके बाद पुलिस वालों से बातचीत में सतीश ने बताया कि ये मेरी पत्नी रूपा है। मैंने उसे वो सारा प्यार दिया, जो मैं कर सकता था। लेकिन उसने मुझे धोखा दिया। मैंने पत्नी को उसके प्रेमी सुनील के साथ बगीचे के पास देखा था। मैंने उसे मार डाला। लेकिन वह भाग गया। मैं उसे मार नहीं सका।

सतीश ने पुलिस को बताया कि रूपा का कथित प्रेमी सुनील, दिहाड़ी मजदूर है और उसके खिलाफ कई आपराधिक मामले भी चल रहे हैं। इसके बाद भी रूपा उसे पसंद करती थी। मैं टैक्सी ड्राइवर का काम करता हूं। मैंने उससे कहा कि मैं हम दोनों के लिए काम करूंगा। लेकिन वह उसके पास जाना चाहती थी। उसने मुझसे कहा कि वह शौच के लिए जा रही है लेकिन वह उससे मिलने के लिए बगीचे में चली गई।

इसके बाद सतीश ने बताया कि उसकी पत्नी ने तीन लाख रुपये का कर्ज लेकर अपने प्रेमी सुनील को दे दिए थे। हम कितनी ही बार अपने झगड़ों को सुलझाने के लिए आपके पास आया करते थे। इसके बाद पुलिस ने आरोपी सतीश के सारे बयान नोट कर लिए। उसके बयान के आधार पर ही एफआईआर दर्ज कर ली गई।

द न्यूज मिनट में प्रकाशित खबर के अनुसार मामले के जांच अधिकारी क्षेत्राधिकारी रामचंद्र नायक ने बताया कि सतीश और रूपा की शादी नौ साल पहले हुई थी। सतीश को अपनी पत्नी के चरित्र पर शक था। इसीलिए उसने चापड़ के साथ अपनी पत्नी का पीछा किया। जब उसने शिवानी रेलवे स्टेशन के पास अपनी पत्नी को नी​लगिरि के बगीचे में सुनील के साथ देखा तो उसने उसका गला चापड़ से काट दिया। इसी बीच मौका पाकर सुनील वहां से भाग खड़ा हुआ।

पुलिस के मुताबिक, सतीश ने तय कर लिया था कि वह अपनी पत्नी रूपा और सुनील दोनों की हत्या कर देगा। लेकिन जब सतीश ने रूपा पर हमला किया, उसी वक्त सुनील वहां से भागने में सफल रहा। सतीश की निशानदेही पर पुलिस ने उसकी पत्नी का शव बरामद कर लिया। पुलिस ने सतीश को गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया। जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 पकड़ा गया सीरियल किलर: याद नहीं कितनों को मारा, अब तक 30 कत्‍ल कबूले
2 खाने में आई ड्रॉप्‍स मिलाकर खिलाती रही, पत्‍नी ने बड़ी आसानी से ले ली पति की जान
जस्‍ट नाउ
X