ताज़ा खबर
 

दिल्लीः रोडरेज का विरोध किया तो युवक को दुकान में घुसकर पीटा, 15 लाख रुपए भी लूट लिए

पुलिस के मुताबिक, अमित ने उनकी कार को हुए नुकसान के लिए हर्जाने के रूप में 4,000 रुपये की मांग की, जबकि सिख युवक केवल 1,500 रुपये देने को तैयार था।

Author नई दिल्ली | Published on: August 23, 2019 8:47 AM
दिल्ली में सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई रोडरेज की घटना फोटो सोर्स- ANI

दिल्ली के पंजाबी बाग इलाके में रोडरेज के बाद लूटपाट का एक मामला सामने आया है। जानकारी के मुताबिक रोडरेज के बाद आरोपियों ने न केवल दुकान मालिक के साथ मारपीट की, बल्कि उनकी दुकान से 15 लाख रुपए भी लूट लिए। इस घटना का सीसीटीवी फुटेज भी सामने आया है। यह घटना बुधवार (21 अगस्त) की रात की बताई जा रही है।

कार को मारी टक्करःजानकारी के मुताबिक कृष्णा मार्ट के मालिक अमित बत्रा ने अपनी दुकान के सामने अपनी स्विफ्ट कार खड़ी की थी। जब वह अपनी कार को बाहर निकाल रहे थे तो एक दूसरी कार जिसमें एक सिख युवक सवार था ने उनकी कार को पीछे से टक्कर मार दी। इसके बाद अमित और सिख युवक के बीच बहस होने लगी।

दोस्तों संग मिलकर की पिटाईः पुलिस के मुताबिक, अमित ने उनकी कार को हुए नुकसान के लिए हर्जाने के रूप में 4,000 रुपये की मांग की, जबकि सिख युवक केवल 1,500 रुपये देने को तैयार था। इसी बीच सिख युवक ने अपने दोस्तों को फोन मिलाया और मौके पर पहुंचने के लिए कहा। इसके बाद सिक्ख युवक और उसके दोस्तों ने अमित को दुकान की ओर धक्का दिया और लाठी और तलवार से उनके साथ मारपीट की।

अस्पताल में भर्ती पीड़ितः अमित ने बताया कि आरोपियों ने उनकी दुकान से 15 लाख रुपए भी लूट लिए, हालांकि पुलिस ने इस बात से इनकार किया। इस मामले में पुलिस ने कुछ युवकों को हिरासत में लिया है, उनसे पूछताछ की जा रही है। घटना के बाद पीड़ित अमित बत्रा को एक निजी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 उत्तर प्रदेशः इंस्पेक्टर रेप आरोपी से ले रहा था घूस, एंटी करप्शन टीम ने रंगे हाथ किया गिरफ्तार
2 राजस्थानः पुलिस को देख चोर ने निगली सोने की चेन, जमकर खिलाए केले और पपीता, फिर हुई बरामद
3 उत्तर प्रदेश: गुंडे से शादी करने को राजी नहीं हुई लड़की, घर में घुस कैरोसिन छिड़ककर जिंदा जला डाला