scorecardresearch

13 जोड़ों ने किया अंतर्जातीय विवाह तो पंचायत ने सुनाया हैरान करने वाला फैसला, केस दर्ज

पंचायत ने घुमंतू जनजाति नंदीवाले समुदाय के 13 जोड़ों को बीते नौ जनवरी को सामाजिक बहिष्कार का आदेश सुनाया था।

indian marriage, maharashtra, sangli, satara, karad
प्रतीकात्मक तस्वीर। (Photo Credit – Freepik)

देश और दुनिया के लोग नए-नए अविष्कार करने में लगे हैं, लेकिन देश के महाराष्ट्र के सांगली से एक ऐसी खबर आई जो प्रगतिशील समाज को शर्मसार करने वाली है। दरअसल, एक व्यक्ति ने अंतर्जातीय विवाह करने वाले 13 जोड़ों को पंचायत के द्वारा सुनाए गए सामाजिक बहिष्कार के फैसले के विरोध में एक शिकायत दर्ज कराई गई है। पुलिस ने केस दर्ज कर मामले में जांच शुरू कर दी है।

पंचायत ने सुनाया था ये फैसला: जानकारी के मुताबिक, शिकायतकर्ता ने पुलिस को बताया है कि महाराष्ट्र के सांगली जिले में एक पंचायत ने घुमंतू जनजाति ‘नंदीवाले समुदाय’ के कुछ जोड़ों को बीते नौ जनवरी को सामाजिक बहिष्कार का आदेश सुनाया था। इस आदेश में पंचायत ने कहा था कि अंतर्जातीय विवाह करने वाले 13 जोड़ों को समाज से बाहर किया जाता है और कोई भी इन लोगों से किसी प्रकार का संबंध नहीं रखेगा।

छह लोगों के खिलाफ केस दर्ज: शिकायतकर्ता ने बताया कि इन 13 जोड़ों की शादी बीते साल जिले के अलग-अलग जगहों पर हुई थी। वहीं मामले में पलुस थाने के इंस्पेक्टर विकास जाधव ने बताया कि, इस मामले में छह पंचायत सदस्यों के खिलाफ कथित तौर पर समाज से बहिष्कार के मामले में शिकायत आई थी। ऐसे में इन छह लोगों पर आईपीसी और महाराष्ट्र सामाजिक बहिष्कार रोकथाम अधिनियम 2016 के तहत केस दर्ज कर लिया गया है।

समाज से बहिष्कृत व्यक्ति ने की शिकायत: इस मामले में शिकायत दर्ज कराने वाले प्रकाश भोंसले ने खुद 2007 में अंतर्जातीय विवाह किया था, जिसके बाद उन्हें भी सामाजिक बहिष्कार का सामना करना पड़ा था। प्रकाश ने बताया कि, उनके समाज में कई ऐसे जोड़े हैं जिन्होंने अंतर्जातीय विवाह किया था; जिसके चलते उन सभी को सामाजिक बहिष्कार का आदेश दिया गया था।

प्रकाश भोंसलें ने बताया कि वह काफी समय से इस आदेश के खिलाफ संघर्ष कर रहे थे, जिसके कारण बीते साल दिसंबर में समुदाय के द्वारा एक बैठक सतारा के कराड में बुलाई गई थी। इस बैठक में पंचायत ने सभी आदेशों को रद्द करने का आदेश दिया था। साथ ही कहा था कि जो भी लोग समाज से बाहर कर दिए गए थे, उन्हें वापस समाज का हिस्सा बनने दिया जाएगा।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट