ताज़ा खबर
 

इंदौर: मनाही के बावजूद निकाला मुहर्रम जुलूस, पूर्व पार्षद उस्मान पटेल पर लगा रासुका; SDM को नोटिस

पुलिस ने बताया है कि पूर्व पार्षद उस्मान समेत 13 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है। दोषी प्रशासनिक अधिकारियों पर कार्रवाई की जा रही है।

indore, muharram julus, madhya pradeshकोरोना के खतरे को देखते हुए मुहर्रम की जुलूस निकालने पर प्रशासन ने रोक लगाई थी। फाइल फोटो

कोरोना वायरस संक्रमण का खतरा अभी टला नहीं है। इस बीच मध्य प्रदेश के इंदौर में मनाही के बावजूद मुहर्रम जुलूस निकाले जाने का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है। वायरल वीडियो के बारे में बताया जा रहा है कि खजराना इलाके में यह जुलूस बिना अनुमति के रविवार को निकाली गई थी। जिसका वीडियो अब सोशल मीडिया पर वायरल हुआ है।

वीडियो वायरल होने के बाद अब प्रशासन ने इसपर कार्रवाई की है। खजराना क्षेत्र के पूर्व पार्षद उस्मान पटेल पर आऱोप लगा है कि उन्होंने लोगों की भीड़ जमा कर ताजिया जुलूस निकाला है। इसके बाद उस्मान पटेल सहित 16 लोगों के खिलाफ केस दर्ज किया गया है। यहां के पुलिस उप महानिरीक्षक (डीआईजी) हरिनारायणचारी मिश्र ने मीडिया को जानकारी दी थी कि ताजिया जुलूसों के मामले में भारतीय दण्ड विधान की धारा 188 (किसी सरकारी अफसर का आदेश नहीं मानना), धारा 269 (ऐसा लापरवाही भरा काम करना जिससे किसी जानलेवा बीमारी का संक्रमण फैलने का खतरा हो) और अन्य संबद्ध धाराओं में चार अलग-अलग एफआईआर दर्ज की गई है। इधर कलेक्टर ने डीआईजी से रासुका की कार्रवाई करने के लिए कहा है।

यहां के जिला दंडाधिकारी मनीष सिंह ने मीडिया से बातचीत में कहा कि ‘कुछ दिनों पहले शांति समिति की जो बैठक हुई थी उसमें सभी धर्मों के धर्मगुरु भी आए थे और इसमें खुजराना से भी जनप्रतिनिधि और धर्मगुरु आए थे। इसमें यह तय हुआ था कि ताजिया जुलूस नहीं निकाला जाएगा। ताजिला छोटे होंगे और घर पर रखे जाएंगे सार्वजनिक जगहों पर नहीं और बाद में प्रशासनिक अधिकारियों को भी ताकिद की गई थी कि कोई लापरवाही ना बरतें। इसके बावजूद लापरवाही बरती गई और भीड़ जमा कर जुलूस निकाला गया।’ उन्होंने कहा कि इस संबंध में टीआई को फिलहाल लाइन हाजिर किया गया है और एसडीएम को कारण बताओ नोटिस जारी किया जा रहा है।

इधर इस मामले पर यहां के एसपी विजय खत्री ने कहा कि ‘हमने पहले उनको नोटिस दिया था, बावजूद इसके इन लोगों ने ताजिया जुलूस निकाला, जिससे अव्यवस्था फैली…इसमें हमने मामला दर्ज किया है और रासुका की कार्यवाही की है। पूर्व पार्षद उस्मान समेत 13 लोगों को अब तक गिरफ्तार किया जा चुका है। दोषी प्रशासनिक अधिकारियों पर कार्रवाई की जा रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 CM का फर्जी हस्ताक्षर कर राहत फंड से निकालते रहे पैसे, गोरखपुर से पकड़े जाने के बाद मची खलबली
2 केरल: CPI (M) कार्यकर्ताओं की हत्या पर बोली पार्टी- कांग्रेस का हाथ, शीर्ष नेताओं को थी खबर; 3 हिरासत में
3 सुशांत सिंह राजपूत को फार्म हाउस पर एक स्टार ने दी थी धमकी रिया सिर्फ मुखौटा, मशहूर निर्देशक का दावा
IPL 2020 LIVE
X