scorecardresearch

कहानी कुख्यात माफिया व MD-1 गैंग के सरगना लल्लू यादव की जो बना बॉलीवुड एक्टर

कई सालों तक माफिया का जीवन जीने वाले लल्लू यादव ने राजनीति में धमक तो दिखाई ही बल्कि बॉलीवुड फिल्मों में भी काम किया।

Lucknow, infamous gangster, Lallu Yadav, Bollywood actor
लल्लू यादव उर्फ पहलवान 2007 से MD-1 गैंग का सरगना है। (Photo Credit – Social Media)

उत्तर प्रदेश में कई माफिया हुए जिन्होंने अपराध की दुनिया में नाम बनाया। इन्हीं माफियाओं के बीच लखनऊ में एक कुख्यात गैंगस्टर रहा जिसने अपराध की दुनिया में खौफ कायम करने के साथ बॉलीवुड फिल्मों में भी काम किया। इस कुख्यात माफिया का नाम लल्लू यादव उर्फ पहलवान है।

लखनऊ के राजाजीपुरम के एक किसान परिवार में जन्मा लल्लू यादव किशोरावस्था में ही अपराध की दुनिया में आ गया था। साल 1983 में जब वह 16 साल का था तो उसे पुलिस ने पहली बार चाकू के साथ गिरफ्तार किया था। इसके बाद वह भू-माफिया की संगत में आया और जबरन कब्जे दिलवाने लगा। इसके बाद वह दुर्दांत अपराधियों में शुमार सूरजपाल यादव का शूटर बन गया।

साल भर के अंदर ही उसका नाम सूरजपाल के विरोधी गुट के अर्जुन की हत्या में लल्लू का नाम सामने आया और फिर धीरे-धीरे वह खौफ का दूसरा नाम बन गया। इसी दौरान लल्लू ने सरकारी ठेकों पर भी हाथ डालने की जुगत में लग गया। जिसके चलते साल 1989 में उसकी भिड़ंत माफिया और राजनेता अरुणशंकर शुक्ला उर्फ अन्ना से हो गई। जल संस्थान के एक ठेके को लेकर दोनों गुटों में बाजारखाला के बिल्लौजपुरा में भीषण गोलीबारी हुई थी।

जुर्म की दुनिया में नाम कमाने के साथ-साथ लल्लू यादव को पैसा भी चाहिए था। ऐसे में उसने माफिया रमेश कालिया की सरपरस्ती में जमीन की खरीद-फरोख्त और रेलवे के ठेकों में हाथ डाला, लेकिन इस भीड़ में कई और पुराने खिलाड़ी थे। इनमें से एक नाम स्व. एमएलसी अजीत सिंह का भी था। अजीत सिंह के साथ भी लल्लू यादव की कई बार ठनी लेकिन पुलिस एनकाउंटर में रमेश कालिया के ढेर होने के बाद वह शांत पड़ गया।

पुलिस रिकॉर्ड के मुताबिक लल्लू यादव 2007 से MD-1 गैंग का सरगना है। कुख्यात माफिया लल्लू पर 6 बार गैंगस्टर एक्ट तो वहीं 5 बार गुंडा एक्ट भी लग चुका है। इसके अलावा उस पर 54 केस दर्ज है, जिनमें से 4 हत्या से जुड़े मामले और 7 मामले हत्या की कोशिश से जुड़े हैं।

लल्लू यादव उर्फ पहलवान ने बॉलीवुड के अलावा राजनीति में किस्मत आजमाई। इस दौरान वह 2010 में जिला पंचायत सदस्य चुना गया तो वहीं लल्लू की पत्नी नीतू काकोरी ब्लॉक से निर्विरोध ब्लॉक प्रमुख चुनी गई थी। खुद लल्लू भी काकोरी से ब्लॉक प्रमुख रहा और बाद में पत्नी भी साल 2021 के पंचायत चुनावों में बीडीसी का चुनाव जीती थी और इसी दौरान लल्लू यादव को उसके 17 साथियों के साथ काकोरी से गिरफ्तार भी किया गया था।

आपराधिक इतिहास में 50 से ज्यादा केस वाले लल्लू यादव ने अपना नाम बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में भी दर्ज कराया। लल्लू ने साल 2015 में बिहार व झारखंड में रिलीज हुई फिल्म ‘छबीली’ से अभिनय की दुनिया में कदम रखा था। इसके बाद उसने ‘लखनऊ का बिट्टू’ फिल्म में काम किया था।

पढें जुर्म (Crimehindi News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट