ताज़ा खबर
 

लॉकडाउन में नरेंद्र मोदी के ‘आयुष्मान भारत’ योजना के नाम पर फर्जीवाड़ा, नौकरी के नाम पर सरकारी वेबसाइट की नकल कर ऐंठे पैसे

Coronavirus (COVID-19) Lockdown, Ayushman Bharat Yojana: इन लोगों ने विज्ञापन डाला की केंद्र सरकार की इस योजना के तहत वार्ड बॉय, नर्स, लैब असिस्टेंट, फार्मासिस्ट और आयुष मित्र जैसे पदों पर 5000 नियुक्तियां होंगी।

CRIME, CRIME NEWSपीएम मोदी के इस महत्वकांक्षी योजना को हथियार बनाकर कुछ लोग फर्जीवाड़े का धंधा चला रहे थे।

Coronavirus (COVID-19) Lockdown, Ayushman Bharat Yojana: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के महत्वकांक्षी ‘Ayushman Bharat Yojana’ के नाम पर फर्जीवाड़ा किये जाने का खुलासा हुआ है। सोमवार (01-06-2020) को पुलिस ने बताया कि आयुष्मान योजना के तहत लोगों को दिल्ली में रोजगार दिलाने की बात कह कर उन्हें झांसे में लिया जाता था और फिर उनसे पैसे ऐंठे जाते थे। पुलिस ने इस मामले में 4 लोगों को पकड़ा है। इनकी पहचान 37 साल के उमेश, 33 साल के रजत, 26 साल के गौरव और 33 साल की सीमा रानी शर्मा के तौर पर हुई है।

पूछताछ में इन लोगों ने पुलिस को बताया कि यह इन्होंने Ayushman Bharat Yojana के नाम पर लोगों को चूना लगाने का प्लान बनाया था। इसके लिए इन्होंने सरकारी वेबसाइट की तरह दिखने वाली एक फर्जी वेबसाइट तैयार की थी। इसके बाद इन लोगों ने विज्ञापन डाला की केंद्र सरकार की इस योजना के तहत वार्ड बॉय, नर्स, लैब असिस्टेंट, फार्मासिस्ट और आयुष मित्र जैसे पदों पर 5000 नियुक्तियां होंगी।

पुलिस ने खुलासा किया है कि इस वेबसाइट ने विज्ञापन दे रखा था कि उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, दिल्ली और बिहार में करीब 5,116 नियुक्तियां होनी हैं। इन्हीं पदों पर नियुक्ति के लिए इच्छुक लोगों से रजिस्ट्रेशन के नाम पर पैसे लिए जाते थे।

इन सभी पर आरोप है कि इनलोगों ने करीब 4200 लोगों से नौकरी दिलाने के नाम पर रजिस्ट्रेशन के लिए 300-500 रुपए लिए। इनके पास से एक लैपटॉप, चार मोबाइल फोन और कई एटीएम कार्ड बरामद किये गये हैं।

पुलिस ने बताया कि 26 मई को दिल्ली पुलिस की साइबर सेल के पास नेशनल हेल्थ अथॉरिटी (National Health Authority) ने Ayushman Bharat – Pradhan Mantri Jan Arogya Yojana के नाम पर फर्जीवाड़े की शिकायत दर्ज कराई। पुलिस ने बताया कि NHA को जानकारी मिली थी कि एक वेबसाइट ayushman-yojna.org गलत तरीके से PMJAY scheme स्कीम चला रहा है और लोगों के बीच यह भ्रम फैला रहा है कि वो PM-JAY/NHA से पंजीकृत है।

जिसकी बाद साइबर सेल की टीम ने इन सभी लोगों को धर दबोचा। ayushman-yojna.org  नाम का यह वेबसाइट सरकारी वेबसाइट की तरह ही बनाया गया था जिसे देखकर लोग इनके झांसे में आ रहे थे। फिलहाल इस वेबसाइट को बंद कर दिया गया है।  बहरहाल अब पुलिस ने इन चारों को गिरफ्तार करने के बाद यह पता लगाने में जुटी हुई है कि इन्होंने अब तक कितने लोगों को इस योजना के नाम पर बेवकूफ बनाया। साथ ही साथ पुलिस इनके अन्य साथियों की भी जानकारियां जुटा रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘मैं सांस नहीं ले पा रहा हूं’, मरने से पहले पुलिस वाले के घुटने तले दबे George Floyd की आखिरी चीख, VIDEO वायरल
2 यूपी: मुबंई से लौटे पिता ने 3 बेटियों को घाघरा नदी में फेंका, ब्लेड से खुद पर वार कर बना दी किडनैपिंग की कहानी
3 लॉकडाउन में आंतक और नशे का कॉकटेल! जैश-ए-मुहम्मद के ‘Narco Terror Module’ का खुलासा, 6 धराए
ये पढ़ा क्या?
X