ताज़ा खबर
 

लेस्बियन लड़कियों के ‘इलाज’ के लिए रेप करवाते हैं घरवाले! रूह कंपाने वाली है इन समलैंगिक पीड़ितों की कहानी

इस युवती ने कहा है कि मैं इस घटना के बारे में बोल रही हूं तब ही आज जिंदा हूं। अगर मैं खामोश हो जाती तो मेरे साथ और भी बुरा होता। इस युवती ने बतलाया कि कैमरून में लेस्बियन लड़कियां प्रताड़ित की जाती हैं। यहां लेस्बियन अपनी पहचान छिपा कर रहने और सिर्फ इशारों में बात करने को लेकर मजबूर हैं।

Author October 3, 2018 11:24 AM
तस्वीर का इस्तेमाल सिर्फ प्रस्तुतिकरण के लिए किया गया है। (फोटोः Freepik)

कैमरून में लेस्बियन लड़कियों के इलाज के नाम पर उनके साथ दुष्कर्म किये जाने की खौफनाक कहानी सुनकर सभी हैरान हैं। कैमरूम की राजधानी यौन्डी में एक लेस्बियन युवती ने अपने साथ हुए खौफनाक दास्तान के बारे में खुलासा किया है। न्यूज एजेंसी रॉयटर्स से बातचीत करते हुए इस युवती ने बताया है कि चार साल पहले उसे दिवारों से बांध कर उसके साथ दुष्कर्म किया गया। इस युवती ने बतलाया कि वो एक लेस्बियन है। इस बात से उसके घर वाले काफी परेशान थे। घरवाले इसे एक दिमागी बीमारी समझते थे और अक्सर यह कहते थे कि इस बीमारी का इलाज बेहद जरूरी है। इसके बाद घरवालों ने इलाज के नाम पर जबरदस्ती उसके साथ रेप करवाया। कैमरून में आयोजित Sexual Health Awareness and LGBT+ Workshops में इस युवती ने अपने साथ हुई भयानक घटना के बारे में खुलकर बात की। इस कार्यक्रम में सैकड़ों लड़कियां मौजूद थीं।

33 साल की इस युवती ने बताया कि अक्सर उसकी अपनी लेस्बियन पार्टनर से फोन पर बातचीत होती थी। एक दिन घरवालों ने उसके फोन में पड़े सारे मैसेज देख लिए। उसके लेस्बियन होने की बात पता चलते ही घरवालों ने उसकी बुरी तरह से पिटाई कर दी। युवती ने बताया कि इस घटना के बाद उसकी चाची और उसके भाई उसे गांव लेकर गए। यहां उसे इलाज के लिए पहले एक डॉक्टर के पास ले जाया गया। इलाज के नाम पर डॉक्टर ने उसे मुर्गे के खून से बना पेय पदार्थ पीने के लिए कहा। इतना ही नहीं रीति-रिवाज के नाम पर इस लड़की के प्राइवेट पार्ट में गर्म मिर्च डाले गए।

33 साल की इस युवती ने बतलाया कि उसके घर वालों ने एक पादरी से उसकी शादी तय कर दी। लड़की के मुताबिक इस पादरी की पहले से दो पत्नियां थीं। लड़की ने बताया कि उसके घरवालों ने मोटी रकम लेकर उसे पादरी के हाथों बेच दिया था। लड़की ने न्यूज एजेंसी को बतलाया कि कैमरून में दुष्कर्म एक अपराध है। लेकिन पति के खिलाफ इस तरह के अपराध को लेकर मामला दर्ज कराना आसान नहीं। लड़की के मुताबिक कैमरून में पादरी को भगवान का दर्जा हासिल है। भगवान कभी रेप नहीं कर सकते और अगर आप उनपर रेप का आरोप लगाते हैं तो आप शैतान कहे जाएंगे।

33 साल की इस युवती ने प्रताड़ित होने के बाद आखिरकार कैमरून छोड़ने का फैसला कर लिया। लड़की ने बताया कि साल 2016 में टैक्सी ड्राइवर और उसके एक साथी ने भी उसके साथ गैंगरेप किया। युवती ने बताया कि गैंगरेप के दौरान इन लोगों ने उससे कहा कि तुम एक लेस्बियन हो और तुम्हारे साथ ऐसा ही सलूक होना चाहिए। युवती ने यह भी खुलासा किया कि उसकी लेस्बियन दोस्त के साथ भी बलात्कार हुआ है। इस घटना के बाद वो मानसिक अवसाद की शिकार हो गई है।

इस युवती ने कहा है कि मैं इस घटना के बारे में बोल रही हूं तब ही आज जिंदा हूं। अगर मैं खामोश हो जाती तो मेरे साथ और भी बुरा होता। इस युवती ने बतलाया कि कैमरून में लेस्बियन लड़कियां प्रताड़ित की जाती हैं। यहां लेस्बियन अपनी पहचान छिपा कर रहने और सिर्फ इशारों में बात करने को लेकर मजबूर हैं। इस युवती ने कार्यक्रम में मौजूद सभी लड़कियों के बीच कहा कि वो लेस्बियन के लिए तब तक संघर्ष करती रहेंगी जब तक कि उन्हें कैमरूम में एक सुरक्षित माहौल नहीं मिल जाता।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X