ताज़ा खबर
 

लालू प्रसाद यादव: अवैध तरीके से करोड़ों रुपए निकाल लिए, 42 महीने 28 दिन जेल में रहे, जानिए क्या है चारा घोटाले में दुमका कोषागार से जुड़ा मामला

आपको बता दें कि बिहार के पूर्व सीएम व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव 23 दिसंबर 2017 से चारा घोटाला मामले में जेल में बंद हैं।

bihar, bihar election 2020लालू प्रसाद यादव का इलाज रिम्स में चल रहा है। फाइल फोटो

बिहार के चर्चित चारा घोटाला मामले में लालू प्रसाद यादव जेल की सजा काट रहे हैं। लालू प्रसाद यादव बीमार हैं लिहाजा उनका इलाज RIIMS में चल रहा है। चारा घोटाला से जुड़े 3 मामलों में लालू प्रसाद यादव को पहले ही जमानत मिल चुकी है।

लेकिन दुमका कोषागार से जुड़े इस मामले में लालू प्रसाद यादव अब भी जेल की सजा काट रहे हैं। दुमका ट्रेजरी मामले में लालू प्रसाद यादव को 7 साल की सजा हुई थी। अब तक लालू यादव ने 42 महीने 28 दिन की सजा जेल में काट ली है। जेल में आधी सजा काटने के बाद अब लालू प्रसाद यादव जमानत पाने की कोशिश में लगे हैं।

क्या है दुमका कोषागार घोटाला?

दुमका कोषागार से लगभग 13.13 करोड़ की अवैध निकाली के मामले में 48 आरोपियों के खिलाफ FIR दर्ज की गई थी जिसमें लालू प्रसाद यादव और जगन्नाथ मिश्र मुख्या आरोपी थे। ये मामला 1995 से 1996 के बीच का है। रांची सीबीआई की विशेष अदालत ने चारा घोटाले से जुड़े दुमका कोषागार से अवैध निकासी के मामले में 2 अलग-अलग धाराओं में लालू को 7-7 साल की सजा सुनाई गई है।

जबकि 60 लाख जुर्माना भी लगाया। हालांकि इस मामले में लालू प्रसाद यादव की जमानत पर सुनवाई को लेकर 9 नवंबर की तारीख तय थी, लेकिन लालू प्रसाद यादव के अधिवक्ता ने 6 नवंबर को ही इनसे जुड़े मामले में सुनवाई के कारण जमानत पर सुनवाई करने का आग्रह किया था, जिसे अदालत ने स्वीकार कर लिया था।

आपको बता दें कि बिहार के पूर्व सीएम व राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव 23 दिसंबर 2017 से चारा घोटाला मामले में जेल में बंद हैं। दुमका, देवघर और चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी मामले में सीबीआई की विशेष अदालत इन्हें सजा सुना चुकी है। देवघर और चाईबासा मामले में इन्हें जमानत मिल चुकी है।

बिहार में हो रहा चुनाव:

बता दें कि बिहार विधान सभा चुनाव में तीसरे और अंतिम चरण के लिए कुल 78 विधानसभा क्षेत्रों में सात नवम्बर को मतदान होना है और उनके लिए बुधवार शाम छह बजे प्रचार समाप्त हो गया। ये 78 विधानसभा क्षेत्र राज्य के जिन जिलों में पड़ते हैं उनमें पश्चिम चम्पारण, पूर्वी चम्पारण, सीतामढ़ी, मधुबनी, सुपौल, अररिया, किशनगंज, पूर्णिया, कटिहार, मधेपुरा, सहरसा, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, वैशाली तथा समस्तीपुर शामिल हैं। बिहार चुनाव के नतीजे 10 नवंबर को घोषित किये जाएंगे। यह पहला मौका है जब बिहार में चुनाव के दौरान लालू प्रसाद यादव मौजूद नहीं हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिहार चुनाव: राजपुर से 12वीं पास निर्दलीय उम्मीदवार पर 9 केस हैं दर्ज, रंगदारी, हत्या समेत कई गंभीर अपराधों में नामजद हैं आजाद पासवान
2 Bihar Election 2020: BJP-RJD को कड़ी टक्कर दे रहे प्रत्याशी को मारी गोली, अब तक पुष्पम, पप्पू और उपेंद्र कुशवाहा के पार्टी प्रत्याशियों पर हुए हमले
3 अनय कुमार: हत्या की कोशिश के 4 केस और चोरी के भी लगे आरोप, कांटी से राष्ट्रीय जन जन पार्टी के उम्मीदवार की छवि है दबंग वाली
यह पढ़ा क्या?
X